Voice Of The People

From Mann Ki Baat to Jan Ki Baat on demonetization: JanJanKiBaat28

A Delhi resident conversed with the CEO and Founder of Jan Ki Baat, Pradip Bhandari, to give us an elaborate understanding of the black money issue that demonetization intends to erase. Demonetization has been criticized, he says, for primary this: its poor implementation which begun from the shortage of supply of the new currency, leaving the citizens of India feeling the cash-crunch. While curbing the growth of black money in India is a noble goal, the manner in which this curbing has taken form has proven itself an obstacle to daily routines. Though, the classes that can access technology can make do, it’s the poorer, sans the smartphone, who face the real challenge.

Demonetization came as a surprise to many when PM Modi declared his, and his government’s intention to clean the nation, on 8th November 2016. Getting rid of black money formed major chunk of Modi and BJP’s 2014 manifesto. Withdrawal of the legal tender of ?1000 and ?500 met with staunch resistance by some groups and was questioned by many. Though demonization was lauded for its noble goal, it was simultaneously critiqued for the loopholes it contained.

#JanJanKiBaat hopes to understand the direction in which demonetization, as is perceived by the public, is heading towards.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

भारत में 47% कोरोना मामले 40 वर्ष से कम आयु वर्ग के

नितेश दूबे, जन की बात कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन शाम को...

Latest

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

महाराष्ट्र में ट्रेन भेजने पर घमासान जारी

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और रेल मंत्री पीयूष गोयल के बीच यह ट्विटर वॉर 24 मई को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के बाद शुरू हुई।

यूपी में गठित होगा श्रमिक कल्याण आयोग, प्रदेश में ही मिलेगा रोजगार

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बाद देश में लाखों प्रवासी श्रमिक विभिन्न राज्यों से अपने गृह राज्य वापस लौट रहे है।

प्रवासी मजदूरों के हर मुश्किलों में साथ खड़ा है जन की बात

  आज पूरा देश इस महामारी से बचाव के लिए देश में लॉक डाउन जैसी समस्या से जूझ रहा है। इस समय अगर सबसे ज्यादा...