Voice Of The People

जानिए कोरोना के लिए कौन सी दवा भारतीय बाज़ार में आ रही है? 

भार्गव ठाकर, जन की बात 

दुनिया भर में हर दिन चार नई दवाओं की खोज की जा रही है और कहा जाता है कि ये दवाएं कोरोनोवायरस के उपचार में प्रभावी हैं। इस बीच भारत में एक प्रतिष्ठित दवा कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल्स ने कोरोना से पीड़ित रोगियों के इलाज के लिए भारतीय बाजार में एंटीवायरल दवा फेविपिरविर लॉन्च की है। ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स के अध्यक्ष और मुख्य प्रबंध निदेशक ग्लेन सल्दान्हा ने कहा कि अनुमोदन ऐसे समय में आता है जब भारत में कोरोनोवायरस के मामले बढ़ रहे हैं। हमें उम्मीद है कि फैबिफ्लू इस दवा के प्रसार को रोकने में एक बड़ी सफलता होगी। इससे पहले ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (DGCI) ने ग्लेनमार्क फ़ार्मास्युटिकल्स को एक स्थानीय कंपनी 200 मिलीग्राम टैबलेट बनाने और बेचने की अनुमति दी थी।

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों का हवाला देते हुए अपनी रिपोर्ट में कहा कि देश में कोविड -19 के मध्यम रोगियों को उनकी गैर-महत्वपूर्ण स्थिति में आपातकालीन उपयोग की अनुमति दी गई है।

ग्लेनमार्क फार्मा का प्लांट गुजरात के अंकलेश्वर में स्थित है। ग्लेनमार्क फार्मा को कोरोना की दवा के लिए मंजूरी मिल गई है। अंकलेश्वर संयंत्र में दवा की कच्ची सामग्री बनाई जाएगी। कोरोना दवा अगले सप्ताह से बाजार में उपलब्ध होगी। प्लांट में फेवीपिरवीर का उत्पादन शुरू किया।

कंपनी ने फैबिफ्लू ब्रांड नाम से बाजार में दवा पेश की है।

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कहा कि यह दवा 34 टैबलेट की स्ट्रिप के लिए 3,500 रुपये के अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) पर 200 मिलीग्राम टैबलेट के रूप में उपलब्ध होगी। ग्लेमार्क फार्मास्युटिकल्स के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक ग्लेन सल्दान्हा ने कहा, “यह मंजूरी ऐसे समय मिली है, जब भारत में कोरोना वायरस के मामले पहले की तुलना में अधिक तेजी से बढ़ रहे हैं। इससे हमारी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली काफी दबाव में है। उन्होंने उम्मीद जताई कि फैबिफ्लू जैसे प्रभावी इलाज की उपलब्धता से इस दबाव को काफी हद तक कम करने में मदद मिलेगी।”

मामूली और मध्यम रूप से पीड़ित मरीजों को दी जाएगी दवा

फैबिफ्लू कोविड-19 के उपचार के लिए भारत में पहली मौखिक फेविपिरविर अनुमोदित दवा है। इसकी सिफारिश पहले दिन में 1,800 मिलीग्राम दो बार और उसके बाद रोजाना 14 दिनों तक 800 मिलीग्राम दो बार की गई है। टैबलेट का उत्पादन कंपनी द्वारा हिमाचल प्रदेश के बद्दी में किया जा रहा है। ग्लेनमार्क ने कहा कि यह दवा अस्पतालों और खुदरा चैनल दोनों माध्यम से उपलब्ध होगी। ग्लेनमार्क ने कहा कि कंपनी ने अपने इन-हाउस रिसर्च एंड डेवलपमेंट टीम के माध्यम से फैबिफ्लू के लिए सक्रिय फार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट (एपीआइ) और फॉ‌र्म्युलेशन को सफलतापूर्वक विकसित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से संवाद किया है न कि लुटियंस लॉबी से

  जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने 30 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए राष्ट्र के नाम संबोधन का...

देश की जनता ने राहुल गांधी को जवाब दे दिया है।: जय पांडा

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने जन की बात कन्वर्सेशन सीरीज में आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय...

कोरोना वायरस चीन का बायोलॉजिकल हथियार है: पूर्व मेजर जनरल जीडी बख्शी

भारत और चीन तनाव के बीच जन की बात के फाउंडर प्रदीप भंडारी ने भारतीय सेना के रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी से विशेष...

जन की बात ऑनलाइन सर्वे- 66% लोगों ने माना चाइना को मिलिट्री के साथ आर्थिक रूप से भी सबक सिखाया जाए

  आपको बता दें कि 15 और 16 जून को भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें भारत के 20...

Latest

सरदार पटेल के पत्र लिखने के बावजूद पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने यूनाइटेड नेशन की सिक्योरिटी काउंसिल की सीट के लिए मना कर दिया...

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राज्यसभा सांसद और पूर्व पत्रकार एमजे अकबर का साक्षात्कार लिया। जिसमें उनके हाल ही...

राष्ट्रीय सुरक्षा पर देश को सुभाष चन्द्र बोस और सावरकर से सीखना चाहिए न की गांधी जी से: उदय माहुरकर

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर पत्रकार-स्कॉलर उदय माहुरकर से विशेष बातचीत की। इस दौरान...

चीन से फिर आ सकता है एक और वायरस, जानिए सब कुछ जी 4 वायरस के बारे में

अमन वर्मा (जन की बात) कोरोना वायरस के बारे में सभी जानते हैं, चमगादड़ इस  महामारी का कारण है. चमगादड़ों के संपर्क में आने के ...

जानिए कैसे बिहार के पिलीगंज की एक शादी बनी कोरोना का शिकार, दूल्हे की हुई मौत

अमन वर्मा (जन की बात) पटना के ग्रामीण इलाके में एक शादी समारोह संपन्न हुआ, जहां दूल्हे को तेज बुखार था और इसी बीच उसकी...