Voice Of The People

क्या हुआ था भाटिया परिवार के साथ? जानिए जमीनी हकीकत, बुराड़ी की जनता से

"They were a very kind and polite family. Every morning, they used to write a thought of the day outside their shop”. Watch Jan Ki Baat Chaupal from Burari crime scene where 11 family members were found dead in mysterious circumstances.Pradip Bhandari Akriti BhatiaPrins Bahadur Singh Rahul Kumar Anushree M Rastogi Md Tahseen Raza#JanKiBaat #JanChaupal #PradipBhandari #MurderMystery #Burari #BurariMurderMystery #OnGround

Posted by Jan ki Baat on Sunday, July 1, 2018

 

 

1 जुलाई को दिल्ली ने ऑंख खोली एक दिल दहला देने वाली घटना के शोर से, दरअसल बुराड़ी के संत नगर में परचून की दुकान चलाने वाले एक आम राजस्थानी परिवार के 11 लोग अपने ही घर के जाल से फांसी के फंदो पर झूलते हुए मिले। इस दिल दहला देने वाली घटना का पता तब चला जब एक पड़ोसी ने इस राजस्थानी परिवार के घर के अंदर जाकर देखा क्योकि आम दिनों पर दुकान करीब साढ़े 5 बजे तक खुल जाती है लेकिन घटना वाले दिन 7ः30 बजे तक बंद ही थी। जिसके बाद भाटिया परिवार के पड़ोसी को शक हुआ और उन्होने घर का दरवाजा खटखटाया लेकिन दरवाजा खुला हुआ था, जैसे ही अंदर जाकर देखा तो ऑंखे खुली रह गई और चीख के अलावा मुॅंह से कुछ और नही निकला। पुलिस की शुरूआती जॉंच-पड़ताल के दौरान इस सामूहिक फांसी को मर्डर के तौर पर देखा गया था लेकिन जब पुलिस घर को अच्छे से खंगाला और घर के हर कोने की तलाशी ली तो पुलिस के हत्थे एक रजिस्टर लगा जिसके अंदर इस सामूहिक फांसी को करने के पूरे तौर तरीके लिखे हुए थे। इसी के साथ ये भी साफ हो गया था कि इतनी बड़ी घटना के पीछे भाटिया परिवार का अंधविश्वास ही दोषी है। मृत परिवार में 11 लोग थे जिसमें से परिवार की मुखिया नारायण देवी-75 वर्ष, ललित भाटिया-42, भूपी भाटिया- 46, प्रतिभा भाटिया-60, प्रियंका-30, श्वेता-42, नीतू-24, मीनू-22, ध्रुव-12, टीना-38, सविता भाटिया-42

जन की बात टीम ने जब बुराड़ी पहुॅंचकर भाटिया परिवार के आसपास रहने वाले लोगो से जब बातचीत कि तो पता चला कि भाटिया परिवार के सबसे बड़े बेटे ललित भाटिया करीब पॉंच सालों से मौन थे लेकिन हर रोज़ अपनी दुकान के आगे ‘आज का सुविचार‘ लिखा करते थे। अपनी दुकान पर किसी तरह का तम्बाकू पदार्थ ना रखने वाले ललित भाटिया को ही दरअसल इस सब के पीछे का मास्टरमाइंड माना गया है। बता दें कि भाटिया परिवार के पड़ोसियों से जब जन की बात टीम ने बात कि तो पता चला कि भाटिया परिवार अपनी विधवा बहन प्रतिभा कि बेटी प्रियंका की अभी कुछ दिन पहले सगाई करके चुका था और शादी की तैयारियों में व्यस्त था। बुराड़ी की इस दिल दहला देने वाली घटना और भाटिया परिवार को करीब से जानने और आसपास रहने वाले लोगो से जानिए कि क्या लगता है उन्हे, क्यों हुई ये घटना, किसने किया ये सब?

 

Must Read

किडनी और कैंसर से पीड़ित मरीजों की मदद के लिए आगे आया जन की बात

जन की बात की टीम के द्वारा लगातार हर संभव प्रयास कर रही है। जिससे इस महामारी के समय हर जरूरत मंद लोगो की...

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

Latest

देशभर में कोरोना के एक दिन में रिकॉर्ड नए मामले सामने आए

नितेश दूबे,जन की बात देशभर में कोरोना का कहर इस वक्त रुकने का नाम नहीं ले रहा है।तो वहीं पिछले चौबीस घंटों में कोरोना के...

छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी का 74 साल की उम्र निधन

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन हो गया। 74 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली। अजीत जोगी को कार्डियक अरेस्ट...

किडनी और कैंसर से पीड़ित मरीजों की मदद के लिए आगे आया जन की बात

जन की बात की टीम के द्वारा लगातार हर संभव प्रयास कर रही है। जिससे इस महामारी के समय हर जरूरत मंद लोगो की...

50% of the Indians are trying to keep themselves fit admit lockdown: Jan Ki Baat Fitness Survey

  As per the latest Jan Ki Baat survey by psephologist Pradeep Bhandari, 56 per cent of Indians are exercising regularly amid the COVID-19 lockdown. Amid the...