Voice Of The People

कैसे सिर्फ 4 राज्यों में 65% से अधिक कोरोना संक्रमण

नितेश दूबे,जन की बात

पिछले 20 दिनों से भारत में कोरोना वायरस के मामले लगातार बड़ी संख्या में बढ़ रहे हैं। तकरीबन हर दिन पिछले दिन से अधिक कोरोना वायरस के मामले अधिक सामने आ रहे हैं। कल यानी पिछले 24 घंटों में अब तक की सबसे बड़ी वृद्धि कोरोना के मामलों में देखी गई। पिछले 24 घंटों में 8380 कोरोना वायरस के नए मामले सामने आए तो वहीं पर कोरोना से रिकवर होने वालों की संख्या में भी अच्छी बढ़ोतरी देखी गई। करीब 4614 लोग कोरोना से पूरी तरह ठीक होकर अपने घर लौटे।

अब तक 182143 कोरोना के कुल मामले देश भर में सामने आ चुके हैं जबकि 86984 से अधिक लोग कोरोना से ठीक होकर पूरी तरह से घर लौट चुके हैं। जबकि 5164 लोगों की मौत कोरोना के कारण हुई है। यानी वर्तमान में भारत में करीब 96 हजार कोरना के एक्टिव मामले हैं।

क्यों बढ़ रहे मामले?

सवाल आखिर यह उठता है कि भारत में कोरोना के मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी क्यों हो रही है? इसका सबसे बड़ा कारण एक और है कि भारत में टेस्ट की संख्या भी प्रतिदिन बढ़ रही है जो कि सकारात्मक संकेत भी है। साथ ही साथ लॉकडाउन में दी गई ढील भी इसका एक बड़ा कारण है।क्योंकि लोग लॉक डाउन में दी गई छूट को अनलॉक समझ कर अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं।

आपको बता दें कि भारत में 31 मई सुबह 9:00 बजे तक 37 लाख 37 हजार से अधिक कोरोना टेस्ट किए जा चुके हैं। रूस ने अभी तक सबसे अधिक कोरोना टेस्ट किया है। रशिया में 10 मिलियन से अधिक कोरोना टेस्ट किए जा चुके हैं और 15 मई से ही रशिया में एंटीबॉडी रैपिड टेस्टिंग शुरू हो गई। जिससे बड़ी संख्या में लोगों के टेस्ट किए जा रहे हैं। भारत में पिछले 24 घटों में 1,25,000 से अधिक कोरोना टेस्ट हुए हैं। पिछले 12 दिनों से हर दिन भारत में 1,10,000 से अधिक कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं। अगर हम एक लाख पर कोरोना पॉजिटिव के आंकड़े निकालें तो यह भारत में दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले कम है जहां पर कोरोना के मामले 1 लाख 50 हजार से अधिक है।

महाराष्ट्र, दिल्ली चिंता का विषय

आपको बता दें कि भारत में कोरोना के मामले तो लगातार बढ़ रहे हैं। लेकिन भारत में 66 फ़ीसदी से अधिक कोरोना के मामले देश के सिर्फ 4 राज्यों से  और ये राज्य है गुजरात ,दिल्ली, तमिलनाडु और महाराष्ट्र। यही नहीं और हर दिन जो कोरोना के मामले सामने आते हैं उन मामलों में 65 फ़ीसदी मामले इन्हीं चार राज्यों से होते हैं। जबकि महाराष्ट्र से अकेले 35 फ़ीसदी से अधिक मामले होते हैं। हालांकि गुजरात ने पिछले 5 दिनों से कोरोना के मामलों पर अंकुश जरूर लगाया है। गुजरात में पिछले 4 दिनों से कोरोना के नए मामले भी कम हुए हैं। जबकि ठीक होने वाले की संख्या नए मामलों के आने वालों से डेढ़ गुना अधिक है।

कोरोना दिल्ली में तेजी से बढ़ रहा है और महाराष्ट्र में तो शुरु से कोरना के मामले देश में सबसे अधिक आ रहे हैं। अगर हम पिछले 4 दिनों की बात करें तो कोरोना के प्रति दिन नए मामलों में से करीब 50 फ़ीसदी मामले सिर्फ दिल्ली और महाराष्ट्र के हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

गैंगस्टर विकास दुबे के साथ सही हुआ, लेकिन जांच जरूरी ताकि उसे पीआईएल लॉबी शहीद न बनाए: प्रदीप भंडारी

  विकास दुबे के एंकाउंटर पर जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने अपना एनालिसिस दिया। इसमें उन्होंने कहा कि विकास दुबे...

रक्षा नीति पर राहुल गांधी सवाल तो उठाते हैं लेकिन रक्षा बैठकों में शामिल नहीं होते: अनुपम खेर

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने आज जन की बात कन्वर्सेशन में मशहूर अभिनेता अनुपम खेर से बातचीत की। इस...

राष्ट्रीय सुरक्षा पर देश को सुभाष चन्द्र बोस और सावरकर से सीखना चाहिए न की गांधी जी से: उदय माहुरकर

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर पत्रकार-स्कॉलर उदय माहुरकर से विशेष बातचीत की। इस दौरान...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से संवाद किया है न कि लुटियंस लॉबी से

  जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने 30 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए राष्ट्र के नाम संबोधन का...

Latest

इम्यून सिस्टम को लेकर आयें चौंकाने वाले नतीजे, प्लाज़्मा थेरेपी को लग सकता है झटका

कोरोना वायरस से बचने के लिए लगातार इम्यून सिस्टम पर ध्यान देने की बात कही जा रही है। साथ ही भारत में कई राज्यों...

जिओ ने मेड इन इंडिया 5G विकसित किया

5G की दौड़ में रिलायंस जिओ देश में अन्य टेलीकॉम कंपनियों जैसे एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल आदि से आगे निकलती...

गाज़ीपुर के इस स्कूल में नियमों को ताक पर रख कर स्कूल प्रबंधन करवा रहा एग्जाम, पढ़े पूरी रिपोर्ट।

  ये तस्वीरें उत्तरप्रदेश के गाज़ीपुर जिले के M.A.H. इंटर कॉलेज की है। जहां राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा, कोरोना काल में दिए गए सभी...

आखिर सचिन पायलट ने आखिरी समय में क्यों रद्द की प्रेस कॉन्फ्रेंस?

  राजस्थान में सचिन पायलट की आज प्रेस कॉन्फ्रेंस होने वाली थी, लेकिन एकाएक सचिन पायलट ने सुबह यह प्रेस कॉन्फ्रेंस कैंसिल कर दी। आपको...