Voice Of The People

भारत सरकार ने 59 चाइनीस ऐप्स को किया बैन, जानिए कौन से ऐप को भारत सरकार ने बैन किया

भारत चीन के बीच तनाव की स्थिति चल रही है। इसी बीच भारत सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। आपको बता दें कि भारत सरकार ने 59 चाइनीस ऐप को बैन करने का फैसला किया है। इस कड़ी में चर्चित टिक टॉक एप भी शामिल है। भारत सरकार के इस कदम से एक बात स्पष्ट हो गया है कि भारत अब चाइना को हर भाषा में जवाब देने को तैयार है।आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही भारत सरकार ने 52 चीनी ऐप पर नजर रखने की बात की थी उससे ही साफ हो गया था कि भारत सरकार जल्द ही चीनी एप्स को लेकर बड़ा कदम लेने वाली है। आज भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप को बंद करने का फैसला लिया है। आपको बता दें कि इनमें से कई ऐप है जिसको आप रोजाना इस्तेमाल भी करते हैं  चाहे शेयरइट हुआ या टिक टॉक ये सब इसमें शामिल है।

आपको बता दें कि देश में टिक टॉक ऐप को बैन करने की मांग लंबे वक्त से हो रही है। लेकिन 15 जून के बाद जब भारत और चीन के सैनिकों में झड़प हुई और भारत के 20 जवान शहीद हुए उसके बाद यह मांग और अधिक बढ़ गई। देश का हर वर्ग यह मांग कर रहा था कि भारत सरकार जल्द ही चाइनीस ऐप को बंद करे। भारत सरकार ने भारतीय चीनी सेना के बीच झड़प के 14 दिन बाद 59 चीनी ऐप को बैन करने का फैसला लिया है।

इन ऐप्स को किया बैन

आपको बता दें कि भारत सरकार ने जो फैसला चाइनीस ऐप को बंद करने का लिया है इसमें से कई ऐसे ऐप भी हो सकते हैं जिसको आप रोजाना इस्तेमाल करते हैं या फिर आपको मजबूरन इस्तेमाल करना पड़ता है। जैसे टिक टॉक हुआ जिस पर फनी वीडियो लोग अपलोड करते हैं और 1 तरीके से एक व्यवसाय के रूप में उभर रहा था। इसके साथ ही भारत सरकार ने शेयर इट को भी बैन करने का फैसला लिया है। आपको बता दें कि शेयर इट डाटा और फाइल ट्रांसफर करने के लिए उपयोग में लाया जाता है जिसका इस्तेमाल करोड़ों की संख्या में लोग भारत में करते हैं। इसके साथ ही कई ऐसे फनी वीडियो ऐप को भारत सरकार ने बैन कर दिया है। आपको बता दें कैमस्कैनर को भी भारत सरकार ने बैन कर दिया है जिससे लोग पीडीएफ कन्वर्ट करते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से संवाद किया है न कि लुटियंस लॉबी से

  जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने 30 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए राष्ट्र के नाम संबोधन का...

देश की जनता ने राहुल गांधी को जवाब दे दिया है।: जय पांडा

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने जन की बात कन्वर्सेशन सीरीज में आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय...

कोरोना वायरस चीन का बायोलॉजिकल हथियार है: पूर्व मेजर जनरल जीडी बख्शी

भारत और चीन तनाव के बीच जन की बात के फाउंडर प्रदीप भंडारी ने भारतीय सेना के रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी से विशेष...

जन की बात ऑनलाइन सर्वे- 66% लोगों ने माना चाइना को मिलिट्री के साथ आर्थिक रूप से भी सबक सिखाया जाए

  आपको बता दें कि 15 और 16 जून को भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें भारत के 20...

Latest

राष्ट्रीय सुरक्षा पर देश को सुभाष चन्द्र बोस और सावरकर से सीखना चाहिए न की गांधी जी से: उदय माहुरकर

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर पत्रकार-स्कॉलर उदय माहुरकर से विशेष बातचीत की। इस दौरान...

चीन से फिर आ सकता है एक और वायरस, जानिए सब कुछ जी 4 वायरस के बारे में

अमन वर्मा (जन की बात) कोरोना वायरस के बारे में सभी जानते हैं, चमगादड़ इस  महामारी का कारण है. चमगादड़ों के संपर्क में आने के ...

जानिए कैसे बिहार के पिलीगंज की एक शादी बनी कोरोना का शिकार, दूल्हे की हुई मौत

अमन वर्मा (जन की बात) पटना के ग्रामीण इलाके में एक शादी समारोह संपन्न हुआ, जहां दूल्हे को तेज बुखार था और इसी बीच उसकी...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से संवाद किया है न कि लुटियंस लॉबी से

  जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने 30 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए राष्ट्र के नाम संबोधन का...