Voice Of The People

ईद के दिन जीव हत्या पर पेटा इंडिया क्यों पीआईएल नहीं डालता : शेफाली वैद्य

- Advertisement -

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने जन की बात कन्वर्सेशन के 17 एपिसोड में जानी-मानी सामाजिक कार्यकर्ता शेफाली वैद्य को बुलाया, जिसमें प्रदीप भंडारी ने पेटा इंडिया की कार्यपद्धति और हिन्दू फोबिक कॉमेडी को लेकर सवाल पूछे।

प्रदीप भंडारी जी ने पहला सवाल पूछा कि पेटा इंडिया को आप कैसे देखती है, आपको कब लगा कि पेटा इंडिया के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए और इसके पाखंड को देश के सामने रखना चाहिए

सामाजिक कार्यकर्ता शेफाली वैद्य ने कहा कि वह पेटा इंडिया को काफी समय से जानती है। पेटा इंडिया जानवरों के लिए काफी कुछ कर सकती है। यह एक एनजीओ है। जिसका फंड 8 करोड से अधिक है। लेकिन यह इस फंड का उपयोग अपने कर्मचारियों को सैलरी देने में, या फिर होर्डिंग लगाने पर ही खर्च कर देता है। जहां तक बात कार्यपद्धती की है, मैं कुछ वर्षों से देख रही हूं, कि पेटा इंडिया केवल हिंदू त्योहारों को टारगेट करता है। फिर कोर्ट में पीआईएल डालता है जैसा कि उसने कर्नाटका के मैसूर में दशहरे पर हाथी के उपयोग करने पर बैन लगाने के लिए डाली। वहीं तमिनाडु में जलीकट्टू को लेकर पीआईएल डाली गई। रक्षाबंधन के आने पर गाय के होडिंग लगाते है, कि गाय को बचाओ। जबकि हकीकत में गाय और रक्षाबंधन का आपस में कोई संबंध नहीं है। जबकि ईद पर करोड़ों बकरों को काट दिया जाता है उसके खिलाफ पेटा इंडिया ने आज तक कोई पीआईएल नहीं डाली। और आज तक मैंने नहीं देखा कि पेटा इंडिया जमीन पर उतर कर किसी जानवर को बचाता है या फिर उसमें कुत्तों,बिल्लियों आदि को बचाने के लिए कोई शेल्टर होम भी बनाया हो। यदि जानवरों के नाम पर कुछ करते है तो यह लोग मीडिया को बुलाकर होटलों में फंक्शंस करते है।

प्रदीप भंडारी ने शैफाली वैद्य से सवाल पूछा कि पेटा इंडिया के दो ट्वीट्स से पाखंड झलकता है रक्षाबंधन पर तो वह गाय को बचाने का होर्डिंग लगाते है, वही ईद के मौके पर यह कोई अपील तक नहीं करते?

शैफाली वैद्य ने कहा कि पेटाइंडिया से पूछना चाहती हूं, कि गाय को खतरा किससे है, कौन खाता है गाय को, और किस से उसकी रक्षा करनी है। मैं जब पेटा इंडिया की वेबसाइट पर गई तो मुझे पेटा यूएसए का लिंक मिला, जिसमें एनिमल्स इन इस्लाम के बारे में लिखा हुआ था और मुझे यह देखकर काफी धक्का लगा कि उसमें लिखा हुआ था जानवरों की बलि देने से पहले कुछ दिन पहले उन्हें अपने घर पर लेकर आओ, फिर उनके साथ एक रिश्ता बनाओ उसके बाद उस जानवर की बलि दे दो। यानि पाखंड की भी सीमा होती है।

प्रदीप भंडारी ने अगला सवाल पूछा कि आज जो हिंदूफोबिक कॉमेडी हो रही है, फिर उसके बाद यह कॉमेडियन कहते है कि यह हमारा फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन है, हम केवल मजाक कर रहे थे। इस पर आपका क्या कहना है?

आज बात करें तो कोई भी जो फेमस होना चाहता है वह तीन चीज कर सकता है या तो मोदी जी को टारगेट करें, या फिर हिंदू धर्म के देवी-देवताओं के खिलाफ कुछ कहे, या फिर हिंदू धार्मिक चिन्हों के खिलाफ कुछ कहें क्योंकि इन सभी कॉमेडियंस को पता है की इनके जोक्स पर कोई हंसने वाला नहीं है तो इनके पास फेमस होने का बस यही तरीका है। मैं उन लोगों से सवाल करना चाहती हूं जो पैसे देकर इन लोगों की कॉमेडी देखने जाते है और यह सब बर्दाश्त कर लेते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

কোচবিহারের ঘটনায় প্রশাসনের বক্তব্য, প্রায় দেড়শ সংখ্যক দুষ্কৃতী ভোটকেন্দ্রে সহিংসতায় পৌঁছেছে।

কোচবিহারের ঘটনা নিয়ে প্রশাসনের বক্তব্যও প্রকাশ্যে এসেছে। প্রশাসন বলেছে যে সকাল সাড়ে ৯ টার দিকে সুরক্ষা বাহিনীর কাছে খবর আসে যে ১২৬ নম্বর বুথের...

गृहमंत्री अमित शाह ने पूछा- आनंद बर्मन की हत्या पर दीदी चुप क्यों?,जन की बात ने चलाई आनंद के न्याय के लिए मुहीम

आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ममता बनर्जी के आरोपों पर जवाब दिया और उनसे कई सवाल पूछे। साथ ही...

कूच बिहार की घटना पर प्रशासन का बयान, करीब 150 की संख्या में उपद्रवी पोलिंग बूथ पर पहुंच कर हिंसा करते हैं

कूचबिहार की घटना पर प्रशासन का भी बयान सामने आ गया है। प्रशासन ने कहा है कि सुबह करीब 9:35 पर सुरक्षाबलों को खबर...

आनंद बर्मन के पिता ने कहा,”मेरे बेटे को इसलिए मारा क्योंकि वह बीजेपी का सपोर्टर था”

आज पश्चिम बंगाल चुनाव के कूचबिहार में हिंसा देखने को मिली, जिसके बाद 1 युवक की मृत्यु हो गई। आपको बता दें कि पश्चिम...

Latest

কোচবিহারের ঘটনায় প্রশাসনের বক্তব্য, প্রায় দেড়শ সংখ্যক দুষ্কৃতী ভোটকেন্দ্রে সহিংসতায় পৌঁছেছে।

কোচবিহারের ঘটনা নিয়ে প্রশাসনের বক্তব্যও প্রকাশ্যে এসেছে। প্রশাসন বলেছে যে সকাল সাড়ে ৯ টার দিকে সুরক্ষা বাহিনীর কাছে খবর আসে যে ১২৬ নম্বর বুথের...

गृहमंत्री अमित शाह ने पूछा- आनंद बर्मन की हत्या पर दीदी चुप क्यों?,जन की बात ने चलाई आनंद के न्याय के लिए मुहीम

आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ममता बनर्जी के आरोपों पर जवाब दिया और उनसे कई सवाल पूछे। साथ ही...

कूच बिहार की घटना पर प्रशासन का बयान, करीब 150 की संख्या में उपद्रवी पोलिंग बूथ पर पहुंच कर हिंसा करते हैं

कूचबिहार की घटना पर प्रशासन का भी बयान सामने आ गया है। प्रशासन ने कहा है कि सुबह करीब 9:35 पर सुरक्षाबलों को खबर...

आनंद बर्मन के पिता ने कहा,”मेरे बेटे को इसलिए मारा क्योंकि वह बीजेपी का सपोर्टर था”

आज पश्चिम बंगाल चुनाव के कूचबिहार में हिंसा देखने को मिली, जिसके बाद 1 युवक की मृत्यु हो गई। आपको बता दें कि पश्चिम...