Voice Of The People

राजस्थान में सिर्फ फ्लोर टेस्ट ही राजनीतिक घमासान को खत्म कर पाएगा।: प्रदीप भंडारी

- Advertisement -

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राजस्थान घमासान पर अपना एनालिसिस दिया। उन्होंने कहा कि यह हो सकता है कि राजस्थान सरकार 2023 तक न चले। वर्तमान में अगर अशोक गहलोत अपनी कुर्सी बचा भी लेते हैं तो भी वह कुर्सी कितने दिन तक बची रहेगी इसका कुछ अंदाजा नहीं है। तो वहीं पर अगर सचिन पायलट अशोक गहलोत की सरकार को गिराने में कामयाब रहते हैं और उनको कुछ सफलता हाथ लगत है या फिर वह किसी के सपोर्ट से मुख्यमंत्री बनते हैं , तो वह भी 2023 तक सरकार नहीं चला पाएंगे मतलब एक बात स्पष्ट है कि 2023 से पहले राजस्थान में चुनाव हो सकता है।

सचिन के साथ कितने विधायक?

प्रदीप भंडारी ने कहा कि गवर्नर को बहुमत प्रशिक्षण के लिए बुलाना चाहिए। लेकिन हां अभी सचिन पायलट के साथ कितने विधायक हैं वह भी अभी स्पष्ट नहीं है। सचिन पायलट ने दावा किया था कि 30 से अधिक विधायकों का साथ है लेकिन वर्तमान में वह लड़ाई को लीगल लड़ना चाहते हैं, क्योंकि अभी पॉलिटिकली वह मजबूत नहीं दिख रहे हैं। वहीं पर अभी तक सड़कों पर सचिन पायलट के लिए गुर्जर समाज आगे नहीं आया है। तो इस पर भी सचिन पायलट को विचार करना होगा कि क्या गुज्जर समाज पूरी तरह उनके साथ है या नहीं है? इसके साथ ही प्रदीप भंडारी ने कहा कि अगर सचिन पायलट तीसरा मोर्चा बनाते हैं तो वह किस के सपोर्ट से बनेगा क्योंकि वर्तमान में सचिन पायलट सिर्फ 25 के विधायकों के नेता है।

देखना यह भी होगा कि सचिन पायलट के मोर्चे को बीजेपी सपोर्ट करती है या नहीं? वर्तमान में अगर देखें तो राजस्थान में द्विपक्षीय लड़ाई होती आई है और सचिन पायलट के मोर्चा बनाने से त्रिकोणीय लड़ाई होगी।  उनको बीजेपी का सपोर्ट चाहिए होगा क्योंकि सचिन पायलट कभी अकेले सीएम नहीं बन सकते हैं। वहीं पर बीजेपी भी इस पूरे घटनाक्रम में वेट एंड वॉच के मूड में है। बीजेपी में भी दो धड़े हैं एक वसुंधरा राजे का दूसरा है न्यू बीजेपी जिसमें गजेंद्र सिंह शेखावत ,राज्यवर्धन राठौड़ है। ये लोग का रिएक्शन क्या रहता है यह भी मायने रखेगा।

प्रदीप भंडारी ने कहा कि सचिन पायलट अगर पद से हटाए जाने के तुरंत बाद अपनी नई पार्टी बना लेते। तो उन्हें पब्लिक सपोर्ट मिलता। लेकिन अब उतना नहीं रह गया है। वहीं पर अगर अशोक गहलोत अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब हो जाते हैं जो कि दिख भी रहा है तो सचिन पायलट के लिए यह हार होगी। अगर अशोक गहलोत अपनी कुर्सी नहीं बचा पाते हैं तो कांग्रेस के लिए बहुत बड़ा झटका होगा। लेकिन बीजेपी को एक बात और ध्यान रखनी पड़ेगी कि जनता क्या सोचती है? क्योंकि 2018 का जनादेश बीजेपी की वसुंधरा राजे सरकार के खिलाफ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

विपक्ष के भारी हंगामे के बीच राज्यसभा में पास हुआ कृषि विधेयक

आज विपक्ष के भारी हंगामे के बीच राज्यसभा में कृषि विधेयक पारित हो गया। आपको बता दें कि सुबह से ही विपक्षी सांसद राज्यसभा...

श्रीलंका की एक पार्टी से जुड़े ड्रग कनेक्शन के तार, एनसीबी जल्द करेगी खुलासा

सुशांत सिंह राजपूत मामले में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। इसी बीच रिपब्लिक टीवी पर एक और बड़ा खुलासा हुआ है। आपको...

पीएम मोदी का जन्मदिन आज, दुनिया के कई राष्ट्रध्यक्षों ने बधाई दी, भाजपा मनाएगी सेवा सप्ताह

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है। यह प्रधानमंत्री का 70 वां जन्मदिन है। उनके जन्मदिन पर उनको देश और दुनिया से बधाइयां मिल...

8 जून को कौन 5 लोग थे पार्टी में, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

सुशांत सिंह राजपूत और दिशा सालयान मर्डर केस में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। इसी बीच एक और खुलासा हुआ है। आपको...

Latest

दिशा मामले में बड़ा खुलासा:- 8,9 जून के सीसीटीवी फुटेज डिलीट किए गए

सुशांत सिंह राजपूत मामले में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं और अब धीरे-धीरे सुशांत सिंह राजपूत की मौत के तार दिशा की...

सुशांत की पूर्व बिजनेस मैनेजर श्रुति मोदी और जया शाह को NCB ने भेजा समन, आज होगी पूछताछ।

अमन वर्मा     बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत में ड्रग्स एंगल की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने सुशांत की पूर्व बिजनेस...

तो क्या किंग्स इलेवन पंजाब ने सुपर ओवर से पहले हीं जीत लिया था दिल्ली कैपिटल से मैच?

अमन वर्मा     दिल्ली कैपिटल और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच रविवार को खेला गया IPL मैच 2020 का पहला सुपर ओवर मैच बना जिसमे दिल्ली...

विपक्ष के भारी हंगामे के बीच राज्यसभा में पास हुआ कृषि विधेयक

आज विपक्ष के भारी हंगामे के बीच राज्यसभा में कृषि विधेयक पारित हो गया। आपको बता दें कि सुबह से ही विपक्षी सांसद राज्यसभा...