Voice Of The People

हिंदुस्तान को पाकिस्तान के 4 टुकड़े कर देना चाहिए। : रिट. जनरल जी.डी बख्शी

- Advertisement -

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने कारगिल विजय दिवस के मौके पर मेजर जनरल जी.डी बक्शी से विशेष बातचीत की। इस दौरान जी.डी बख्शी ने युद्ध से जुड़ी कुछ यादों को भी साझा किया। पढ़िए विशेष बातचीत के कुछ अंश:-

सबसे पहले कारगिल विजय दिवस कि जी.डी बक्शी ने देशवासियों को बधाई दी और कहा कि यह वो दिन है जब हमारे देश के 529 सैनिक शहीद हुए थे और 1000 से अधिक सैनिक घायल हुए थे और हमने युद्ध में फतह पाई थी। इस दिन हम ने पाकिस्तान के आखिरी सिपाही को भारतीय सीमा के बाहर खदेड़ दिया था।

प्रदीप भंडारी ने पूछा कि कारगिल की कुछ यादें बताइए, क्योंकि खुद सेना से जुड़े रहें हैं। इस पर जी.डी बक्शी ने जवाब देते हुए बताया कि मैं खुद कारगिल में 1990-91 में था और वहां पर खूब झड़पें हुई थी। लेकिन उस वक्त खबर दब गई थी। लेकिन हमने वहां पर रीटेलिएट किया, हमारे 6 जवान शहीद हुए और 21 घायल हुए। लेकिन हमने ऐसा जवाब दिया कि उनके 45 जवान भी मारे गए थे और 150 जवान घायल हुए थे। हमारी पलटन को एक वीर चक्र भी मिला था। जब कारगिल युद्ध हुआ तो मैं प्लानिंग टीम का हिस्सा था। डायरेक्टरेट टीम को मैं युद्ध की प्लानिंग भी बता रहा था। कारगिल में पहले हमें पता चला कि कुछ टेररिस्ट है, लेकिन बाद में पता चला कि वह पाकिस्तानी हैं और पूरी तैयारी के साथ युद्ध के लिए आए हैं। वे मशीनगन और अन्य हथियारों से लैस थे फिर हमने पूरी तैयारी की हमने रॉकेट लॉन्चर भी पहुंचाए और फिर 120 तोपें भी दागी। फिर हमने उनकी ईट से ईट बजा दी और धज्जियां उड़ा दीं।

प्रदीप भंडारी ने पूछा कि अगर हम बात करें कारगिल और वर्तमान समय की, क्या सेना को अब फ्रीडम अधिक मिला?

इस सवाल का जवाब देते हुए जी.डी बख्शी ने कहा कि देखिए सेना हमेशा तैयार रहती है, हमारी तैयारी पूरी है। हमने कारगिल और 1971 जैसा युद्ध नहीं किया लेकिन तैयारी पूरी है।  बातों से लड़ाई नहीं लड़ी जाती। हमको पूरी तैयारी के साथ रहना होता है। बालाकोट एयर स्ट्राइक और उरी सर्जिकल स्ट्राइक के समय हमने दुनिया को अपनी ताकत दिखाई।

प्रदीप भंडारी ने पूछा कि क्या चीन से युद्ध हो सकता है?

इस सवाल पर जी.डी बख्शी ने कहा कि युद्ध तो करना ही पड़ेगा क्योंकि चीन लगातार हमें आंखें दिखाता है और परेशान करता रहता है। हम उसके अनुसार थोड़ी चलेंगे! हमको खुद ही पहल करनी पड़ेगी।

पूरा इंटरव्यू देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें:-

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

কোচবিহারের ঘটনায় প্রশাসনের বক্তব্য, প্রায় দেড়শ সংখ্যক দুষ্কৃতী ভোটকেন্দ্রে সহিংসতায় পৌঁছেছে।

কোচবিহারের ঘটনা নিয়ে প্রশাসনের বক্তব্যও প্রকাশ্যে এসেছে। প্রশাসন বলেছে যে সকাল সাড়ে ৯ টার দিকে সুরক্ষা বাহিনীর কাছে খবর আসে যে ১২৬ নম্বর বুথের...

गृहमंत्री अमित शाह ने पूछा- आनंद बर्मन की हत्या पर दीदी चुप क्यों?,जन की बात ने चलाई आनंद के न्याय के लिए मुहीम

आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ममता बनर्जी के आरोपों पर जवाब दिया और उनसे कई सवाल पूछे। साथ ही...

कूच बिहार की घटना पर प्रशासन का बयान, करीब 150 की संख्या में उपद्रवी पोलिंग बूथ पर पहुंच कर हिंसा करते हैं

कूचबिहार की घटना पर प्रशासन का भी बयान सामने आ गया है। प्रशासन ने कहा है कि सुबह करीब 9:35 पर सुरक्षाबलों को खबर...

आनंद बर्मन के पिता ने कहा,”मेरे बेटे को इसलिए मारा क्योंकि वह बीजेपी का सपोर्टर था”

आज पश्चिम बंगाल चुनाव के कूचबिहार में हिंसा देखने को मिली, जिसके बाद 1 युवक की मृत्यु हो गई। आपको बता दें कि पश्चिम...

Latest

কোচবিহারের ঘটনায় প্রশাসনের বক্তব্য, প্রায় দেড়শ সংখ্যক দুষ্কৃতী ভোটকেন্দ্রে সহিংসতায় পৌঁছেছে।

কোচবিহারের ঘটনা নিয়ে প্রশাসনের বক্তব্যও প্রকাশ্যে এসেছে। প্রশাসন বলেছে যে সকাল সাড়ে ৯ টার দিকে সুরক্ষা বাহিনীর কাছে খবর আসে যে ১২৬ নম্বর বুথের...

गृहमंत्री अमित शाह ने पूछा- आनंद बर्मन की हत्या पर दीदी चुप क्यों?,जन की बात ने चलाई आनंद के न्याय के लिए मुहीम

आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ममता बनर्जी के आरोपों पर जवाब दिया और उनसे कई सवाल पूछे। साथ ही...

कूच बिहार की घटना पर प्रशासन का बयान, करीब 150 की संख्या में उपद्रवी पोलिंग बूथ पर पहुंच कर हिंसा करते हैं

कूचबिहार की घटना पर प्रशासन का भी बयान सामने आ गया है। प्रशासन ने कहा है कि सुबह करीब 9:35 पर सुरक्षाबलों को खबर...

आनंद बर्मन के पिता ने कहा,”मेरे बेटे को इसलिए मारा क्योंकि वह बीजेपी का सपोर्टर था”

आज पश्चिम बंगाल चुनाव के कूचबिहार में हिंसा देखने को मिली, जिसके बाद 1 युवक की मृत्यु हो गई। आपको बता दें कि पश्चिम...