Voice Of The People

अर्णब गोस्वामी ने ओपन लेटर के माध्यम से किया ऐलान, नेशनलिस्ट कलेक्टिव का गठन कर राष्ट्र विरोधी ताकतों को देंगे चुनौती

- Advertisement -

भारत में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मौके पर देश की राजधानी दिल्ली में शांतिपूर्ण किसान ट्रैक्टर रैली के नाम पर जो हुआ, जिसमे 300 से अधिक लोग घायल हुए और प्रदर्शनकारियों ने लाल किले पर तिरंगे को फेक अपना झंडा लगाया। इस घटना के बाद विश्व के सभी बड़े अखबार और न्यूज़ चैनल्स में गणतंत्र दिवस समारोह की खबर के बजाय दंगो की तस्वीर छपी। इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी ने एक बड़ी घोषणा की और एक खत के माध्यम से नेशनलिस्ट कलेक्टिव (Nationalist Collective) को सबके साथ सांझा किया है।

उन्होंने कहा कि इसके बारे में और अधिक विवरण अगले 24 घंटों में बताया जाएगा, आपको बता दें कि यह समूह पूरी तरह से गैर-राजनीतिक समूह होगा। अर्नब ने यह भी कहा कि भारत को महाशक्ति बनाने का जिम्मा भारत के लोगों के हाथों में होनी चाहिए। “राष्ट्रवादी सामूहिकता सभी सही सोच (Right-Thinking) वाले भारतीयों और व्यवसायों, मीडिया, कार्यकर्ताओं का एक समूह होगा।”

अपने इस खत में उन्होंने आगे कहा है कि, “मैं नेशनलिस्ट कलेक्टिव के लॉन्च की घोषणा कर रहा हूं। अगले कुछ दिनों, हफ्तों और महीनों में, हम भारत के राष्ट्रवादी नागरिकों और संगठनों तक पहुंच बनाकर भारतीयों के एक प्रतिबद्ध समूह का निर्माण करेंगे, जो राष्ट्र को महान बनाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। भारत को सबसे पहले रखने के एकमात्र और स्पष्ट उद्देश्य के साथ, राष्ट्रवादी सामूहिक राष्ट्र की रक्षा में एक साधन होगा। भारत की विविधता के हर पहलू का जश्न मनाते हुए, राष्ट्रवादी सामूहिकता सभी भारतीयों को राष्ट्रवादी उत्साह, राष्ट्रवादी भावना, राष्ट्रवादी गौरव और राष्ट्रवादी इरादे की गोंद से जोड़ने की आवश्यकता पर जोर देगी।”

1 COMMENT

  1. Gaddar and chor, just shut ur bloody mouth and go and sit in lap of ur master modi and tadipar. Time you spend in jail forever

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

जन की बात “कू” पोल- क्या बंगाल में आठ चरण में चुनाव कराना सही निर्णय है?

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

बंगाल में आठ चरण में चुनाव क्यों?: प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

क्या बंगाल चुनाव में महिलाएं बनेंगी “किंग मेकर”? : प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल के चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है और पूरी उम्मीद है कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव की घोषणा...

जन की बात के “कू” पोल में जानिए प्रधानमंत्री मोदी और ममता बनर्जी में कौन है अधिक लोकप्रिय?

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है लेकिन चुनावी सरगर्मियां बढ़ चुकी हैं और यह भी अनुमान लगाया जा...

Latest

जन की बात “कू” पोल- क्या बंगाल में आठ चरण में चुनाव कराना सही निर्णय है?

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

बंगाल में आठ चरण में चुनाव क्यों?: प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

क्या बंगाल चुनाव में महिलाएं बनेंगी “किंग मेकर”? : प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल के चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है और पूरी उम्मीद है कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव की घोषणा...

जन की बात के “कू” पोल में जानिए प्रधानमंत्री मोदी और ममता बनर्जी में कौन है अधिक लोकप्रिय?

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है लेकिन चुनावी सरगर्मियां बढ़ चुकी हैं और यह भी अनुमान लगाया जा...