Voice Of The People

क्या कोरोना वायरस चाइना का जैविक हथियार है? पढ़िए जन की बात के संस्थापक और गोवा क्रॉनिकल के एडिटर इन चीफ के बीच विशेष बातचीत के अंश

- Advertisement -

भारत में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ता जा रहा है। जन की बात के संस्थापक प्रदीप भंडारी और गोवा क्रॉनिकल के एडिटर इन चीफ सैविओ ने इस मुद्दे पर विस्तृत बातचीत की। प्रदीप भंडारी ने सबसे पहले गोवा क्रॉनिकल के एडिटर इन चीफ से पूछा कि चाइना कोरोना के मामलों में 96 नंबर पर है। यहां तक की टॉप टेन और टॉप 20 पर भी नहीं है। ऐसा कैसे हो सकता है कि जहां से कोरोना वायरस की उत्पत्ति हुई, उस देश में कोरोना वायरस खत्म कैसे हो गया? साथ ही साथ प्रदीप भंडारी ने पूछा कि आपने गोवा क्रॉनिकल में एक आर्टिकल लिखा है जिसमें आपने पूछा है कि कोरोना वायरस एक वायरस है या फिर एक जैविक हथियार है? इस पूरे मामले पर आपकी क्या राय है?

इस सवाल पर टिप्पणी करते हुए गोवा क्रॉनिकल के एडिटर इन चीफ ने कहा कि कोरोना वायरस के बारे में जो आप का सवाल है यह पूरी दुनिया चाइना से जानना चाह रही है। हम लोगों ने इसके बारे में विस्तृत रूप से पड़ताल करने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि 2007 में कुछ पेपर लीक हुए थे और इस पेपर को तैयार करने वाले साउथ चाइना यूनिवर्सिटी के दो प्रोफेसर थे। हालांकि बाद में 24 घंटे के अंदर यह पेपर फिर से हर जगह से हटा दिए गए थे ,लेकिन हमने काफी कोशिश करके इन पेपर को दोबारा हासिल किया। हो सकता हो कि ये वायरस एक्सीडेंट के रूप में आ गया हो या फिर जानबूझ कर फैलाया गया हो। लेकिन एक बात तय है कि वायरस और वुहान लैब की बीच कुछ है।उन्होंने कहा कि इस रिसर्च पेपर में ये भी दावा था कि वुहान लैब में कुछ खतरनाक एक्सपेरिमेंट किए जा रहे थे और उसके बाद में वही पर इस वायरस के बारे में भी एक्सपेरिमेंट किया गया। कैसे यह वायरस जानवरों से इंसान में फैला इसके बारे में भी एक्सपेरिमेंट किया गया था। गोवा क्रॉनिकल के एडिटर इन चीफ ने कहा कि मैं यह नहीं कहता हूं कि उन्होंने इस को जानबूझकर फैलाया होगा लेकिन इस सवाल का स्पष्ट जवाब पूरी दुनिया चाहती है।

प्रदीप भंडारी ने सवाल पूछा कि क्या वुहान मेट्रो लाइन से वायरस पूरी दुनिया में फैला? इसके बारे में जवाब देते हुए गोवा क्रॉनिकल के एडिटर ने कहा कि चाइना के प्रोफेसर के अनुसार चार चीजों पर ध्यान देना होगा। पहला वुहान लैब, दूसरा सीफूड मार्केट, तीसरा पीएलए हॉस्पिटल और चौथा वुहान मेट्रो लाइन। उन्होंने कहा कि इस सीफूड मार्केट के पास ही वुहान मेट्रो लाइन है ,मार्केट के बगल में है और वही मेट्रो लाइन एयरपोर्ट भी जाती है। यहां से लोग विदेशों में जाते हैं। जिनको वायरस हुआ, वह वहां से एयरपोर्ट गए और पूरी दुनिया में वायरस फैला।

प्रदीप भंडारी ने पूछा कि डब्ल्यूएचओ के चीफ डॉक्टर टेड्रोस की भूमिका इसमें क्या है और क्यों नहीं पूरी दुनिया एकजुट होकर इस पर जांच की मांग करती है? इस पर गोवा क्रॉनिकल के एडिटर इन चीफ ने कहा कि WHO ने 30 जनवरी 2020 को कोरोना वायरस को अंतरराष्ट्रीय पब्लिक हेल्थ कंसर्न के रूप में घोषित किया और 6 हफ्ते बाद 9 मार्च को इसे पैंडेमिक घोषित किया और 25 मार्च 2020 तक लगभग सभी (वाइरस से प्रभावित देश) लॉक डाउन में चले गए। साथ ही साथ गोवा क्रॉनिकल के एडिटर इन चीफ ने कहा कि उन्होंने इस पर डब्ल्यूएचओ से सवाल भी पूछा। इस पर उनका जवाब आया कि उनके लिए पैंडमिक शब्द अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य के संबंध में नहीं है। दुनिया को अपने आप 30 जनवरी को ही समझ जाना था। इसके आगे प्रदीप भंडारी ने भी कहा कि डब्ल्यूएचओ की भूमिका भी संदिग्ध है। चीफ डॉक्टर टेड्रोज को तुरंत निकाल देना चाहिए और उनके ऊपर भी इंक्वायरी बैठाना चाहिए।

प्रदीप भंडारी ने सवाल पूछा कि इस महामारी में भारत की भूमिका क्या होनी चाहिए? कोरोना वायरस से प्रभावित दुनिया के टॉप 10 देशों को आगे आना चाहिए और कठिन सवाल पूछने चाहिए और चाइना पर जांच की मांग करनी चाहिए? इस पर जवाब देते हुए गोवा क्रॉनिकल के एडीटर इन चीफ ने कहा की सबसे पहली बात ये जान लेना चाहिए कि चाइना भारत का नंबर वन दुश्मन है और दुश्मन के साथ प्यार से डील नहीं करते हैं, बल्कि उसके साथ दुश्मन जैसा ही व्यवहार करते हैं। दूसरी बात उन्होंने कहा की पूरी दुनिया को चाइना पर जांच करने की छूट मिलनी चाहिए। चाइना पर कोरोना वायरस के संबंध में जो भी जांच हुई है वह सिर्फ सीफूड मार्केट में हुई है। क्यों नहीं वुहान मेट्रो लाइन पर जांच की छूट मिलती है? क्यों नहीं वुहान लैब में जांच की छूट मिलती है? क्यों नहीं पीएलए हॉस्पिटल में जांच होती है? ऐसा कैसे हो सकता है कि जिस देश से वायरस शुरू हुआ वहां पर महज 90 हजार केस है और पूरी दुनिया इससे तबाह होते जा रही है।

जन की बात के संस्थापक प्रदीप भंडारी और गोवा क्रॉनिकल के एडिटर इन चीफ सैवियो ने कोरोना वायरस के संबंध में अन्य पहलुओं पर भी बात की। पूरा वीडियो देखने के लिए नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

जम्मू कश्मीर की आधिकारिक वेबसाइट पर जम्मू कश्मीर को भारत शासित कश्मीर बताया गया

पूरी दुनिया जानती है कि जम्मू कश्मीर भारत का एक अभिन्न हिस्सा है और भारत ने धारा 370 हटा कर इसको स्पष्ट भी कर...

एके शर्मा को बीजेपी उत्तर प्रदेश संगठन में लाने के क्या हैं मायने?

उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में कुछ ही महीने का वक्त बचा है इसी के तहत सभी पार्टियां अपने संगठन को मजबूत करने...

सरकारी लाभ प्रदान करने के लिए “टू चाइल्ड पॉलिसी” लागू कर सकती असम सरकार

देश में जनसंख्या को लेकर बहस काफी पहले से चल रही है और जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कई कैंपेन चल रहे। लोगों का मानना...

असम पुलिस ने बड़े ड्रग रैकेट का भंडाफोड़ किया, मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने दी पुलिस को बधाई

असम में नई सरकार बनने के बाद पुलिस भी काफी सक्रिय हो गई है। आपको बता दें हर दिन पुलिस किसी बड़े गिरोह का...

Latest

जम्मू कश्मीर की आधिकारिक वेबसाइट पर जम्मू कश्मीर को भारत शासित कश्मीर बताया गया

पूरी दुनिया जानती है कि जम्मू कश्मीर भारत का एक अभिन्न हिस्सा है और भारत ने धारा 370 हटा कर इसको स्पष्ट भी कर...

एके शर्मा को बीजेपी उत्तर प्रदेश संगठन में लाने के क्या हैं मायने?

उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में कुछ ही महीने का वक्त बचा है इसी के तहत सभी पार्टियां अपने संगठन को मजबूत करने...

सरकारी लाभ प्रदान करने के लिए “टू चाइल्ड पॉलिसी” लागू कर सकती असम सरकार

देश में जनसंख्या को लेकर बहस काफी पहले से चल रही है और जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कई कैंपेन चल रहे। लोगों का मानना...

असम पुलिस ने बड़े ड्रग रैकेट का भंडाफोड़ किया, मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने दी पुलिस को बधाई

असम में नई सरकार बनने के बाद पुलिस भी काफी सक्रिय हो गई है। आपको बता दें हर दिन पुलिस किसी बड़े गिरोह का...