Voice Of The People

पिछले साढ़े 4 वर्षों में कानून व्यवस्था योगी सरकार की सफलता या विफलता? एशियानेट – जन की बात का सर्वे

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश में जब भी चुनाव होते हैं कानून व्यवस्था एक बड़ा मुद्दा बनता है। उत्तर प्रदेश के आने वाले विधानसभा चुनाव में भी कानून व्यवस्था मुद्दा बनेगा। हालांकि जमीनी सच्चाई क्या है इसका पता लगाया एशियानेट और जन की बात की टीम ने। हमारी टीम ने जनता से जाना कि किसके शासन के दौरान उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहतर रही है। आपको बता दें कि एशियानेट और जन की बात की टीम ने उत्तर प्रदेश में सर्वे किया जहां पर हमने जनता से कई प्रश्नों के उत्तर जाने और पता किया कि उत्तर प्रदेश में आने वाले विधानसभा चुनाव में किस पार्टी की सत्ता वापस आएगी? जनता मायावती, अखिलेश और योगी सरकार में किसे बेहतर मानती है? किस के राज में जनता अपने आप को सुरक्षित मानती है?

जब उत्तर प्रदेश मेे एशियानेट-जन की बात की टीम ने जनता से सीधा सवाल पूछा कि आप उत्तर प्रदेश में किस सरकार को बेहतर मानते हैं जिसने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर ध्यान दिया है और क्राइम को कंट्रोल किया है? इस पर जनता ने सीधा जवाब दिया कि योगी आदित्यनाथ शासन में कानून व्यवस्था पहले के मुकाबले बेहतर रही है। 60% लोगों ने कहा कि योगी आदित्यनाथ शासन में क्राइम कंट्रोल हुआ है और कानून व्यवस्था पहले से अच्छी रही है। जबकि 27 फ़ीसदी लोगों ने माना कि अखिलेश यादव के वक्त कानून व्यवस्था अच्छी थी। वहीं पर 13 फ़ीसदी लोगों ने माना कि मायावती के समय कानून व्यवस्था अच्छी थी। कुल मिलाकर अगर देखें तो उत्तर प्रदेश के 60% लोगों का मानना है कि कानून व्यवस्था वर्तमान योगी सरकार में सबसे अच्छी है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest

SHARE