Voice Of The People

एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पर लगे आरोपों के बीच, उनकी पत्नी ने उद्धव सरकार से मांगा समर्थन।

- Advertisement -

अनु प्रिया, जन की बात

रकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े क्रूज पार्टी ड्रग्स मामले और NCP के नेता नवाब मलिक के लगाए गए बेबुनियादी आरोपों को लेकर विवादों के केंद्र में हैं।. जहां नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच विभागीय स्तर पर शुरू हो गई है, वहीं मुंबई पुलिस ने बुधवार को एनसीबी अधिकारी और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक पर लगे आरोपों की जांच SIT करेगी। समीर और मलिक के खिलाफ दर्ज शिकायतों की जांच करेंगे मुंबई पुलिस के चार अधिकारी. इस संबंध में एक आदेश संयुक्त पुलिस आयुक्त, कानून व्यवस्था विश्वास नागरे पाटिल ने जारी किया है। कल, एनसीबी की विजिलेंस टीम और एसीपी स्तर के मुंबई पुलिस अधिकारी ने समीर वानखेड़े के खिलाफ ‘जबरन वसूली’ के आरोपों और अन्य मुद्दों की स्वतंत्र जांच शुरू की। एनसीबी की टीम मुंबई पहुंची और समझा जा रहा है कि उन्होंने जांच के लिए एक ‘पंच-गवाह’ प्रभाकर सेल को नियुक्त करने के अलावा उसका बयान दर्ज किया।. वानखेड़े के खिलाफ मुंबई के अलग-अलग थानों में दर्ज कम से कम चार शिकायतें अब एसीपी संभालेंगे जो मामले की जांच और रिपोर्ट तैयार करेंगे.

वहीं उनकी पत्नी क्रांति रेडकर वानखेड़े ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर इस मानहानि को रोकने की अपील की है. हर दिन लोगों के सामने हमारा अपमान किया जा रहा है। छत्रपति शिवाजी महाराज के राज्य में एक महिला की गरिमा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। अगर बालासाहेब आज यहां होते तो उन्हें अच्छा नहीं लगता.मैंने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे से मिलने के लिए से समय मांगा है . मुझे अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है, मैं जवाब का इंतजार कर रही हूं: क्रांति रेडकर उन्होंने ANI को बताया।

यह NCP नेता और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के इस दावे के बाद आया है कि वानखेड़े जन्म से मुस्लिम हैं और उनका असली नाम ‘समीर दाऊद वानखेड़े’ है।मलिक ने समीर वानखेड़े का जन्म प्रमाणपत्र होने का दावा भी जारी किया है और आरोप लगाया है कि समीर वानखेड़े ने बाद में जाली दस्तावेज बनवाये है ।

दूसरी ओर, वानखेड़े के पिता ने नवाब मलिक के अपने धर्म को लेकर लगाए गए आरोपों को गलत बताया है। मलिक ने कहा था कि वानखेड़े सीनियर का असली नाम दाऊद वानखेड़े है न कि ज्ञानदेव वानखेड़े।

“मैं उर्दू नहीं समझता, इसलिए मुझे नहीं पता कि उनके दस्तावेजों में मेरा नाम क्या लिखा था। उसने (मेरी स्वर्गवास पत्नी) प्यार से मेरा नाम दाऊद बताया होगा. लोग एक-दूसरे को प्यार से अलग-अलग नामों से पुकारते हैं?

उन्होंने कहा कि सभी सरकारी दस्तावेजों में उनका नाम ज्ञानदेव वानखेड़े बताया गया है. “जब राज्य सरकार ने मुझे भर्ती किया, तो उन्होंने कुछ जांचपड़ताल भी किया होगा,” उन्होंने कहा.

 

अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के ड्रग्स मामले की जांच कर रहे समीर वानखेड़े ने कहा कि वह मलिक से कानूनी रूप से लड़ेंगे। वानखेड़े ने पहले कहा था कि सभी आरोप झूठे हैं और उन्हें निशाना बनाया जा रहा है और वह अपने खिलाफ लगे आरोपों की जांच के लिए तैयार हैं।

SHARE

Sombir Sharma
Sombir Sharma - Journalist

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest

SHARE