Voice Of The People

उद्योगपति रतन टाटा से लेकर आशा कार्यकर्ता तक को असम का सर्वोच्च नागरिक सम्मान, कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा रहें मौजूद

- Advertisement -

सरकार ने सोमवार को सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों का ऐलान किया। बता दें कि 19 लोगों को असम सरकार ने अपना सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया ,इसमें दिग्गज उद्योगपति रतन टाटा भी शामिल है। बता दें कि उद्योगपति रतन टाटा को सर्वोच्च नागरिक सम्मान “असम वैभव” से सम्मानित किया गया। राज्यपाल जगदीश मुखी ने गुवाहाटी में आयोजित एक कार्यक्रम में यह पुरस्कार 19 लोगों को प्रदान किया। इस कार्यक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत विश्व सरमा भी मौजूद थे। रतन टाटा इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए ,लेकिन उन्होंने असम के मुख्यमंत्री हेमंत विश्व सरमा को एक पत्र लिखकर इसके लिए धन्यवाद कहा।

तीन श्रेणी में है अवार्ड

बता दें कि असम का सर्वोच्च नागरिक सम्मान तीन श्रेणियों में बटा हुआ है। पहला है असम वैभव अवार्ड, दूसरा है असम सौरव अवार्ड ,तीसरा है असम गौरव अवार्ड। राज्य का सर्वोच्च सम्मान कुल 19 लोगों को दिया गया, जिसमें उद्योगपति से लेकर आशा कार्यकर्ता तक शामिल हैं। दिग्गज उद्योगपति रतन टाटा को असम वैभव अवार्ड से सम्मानित किया गया वहीं पर पांच महानुभावों को असम सौरव अवार्ड से सम्मानित किया गया। जबकि 13 महानुभाव को असम गौरव अवार्ड से सम्मानित किया गया।

एएनएम नर्स और आशा कार्यकर्ता को भी अवार्ड

आपको बता दें कि एएनएम नर्स नमिता कलीता को असम गौरव अवार्ड से सम्मानित किया गया। नमिता कलीता 1 लाख से अधिक लोगों की कोरोना वैक्सीन लगा चुकी हैं। किसी भी एक व्यक्ति द्वारा इतना वैक्सीन लगाने का एक रिकॉर्ड है। आशा वर्कर बोरनिता मोमिन को भी असम गौरव अवार्ड से सम्मानित किया गया। सोनितपुर जिले के फूलोगुरी गारो गांव में मोमिन ने लोगों के अंदर वैक्सीन को लेकर अभियान छेड़ा और लोगों को जागरूक किया। फिर जाकर लोगों ने वैक्सीन लगवाई। इस गांव में लोगों को वैक्सीन को लेकर डर था।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest