Voice Of The People

जब प्रदीप भंडारी के सवालों का जवाब नहीं दे पाए राजनीतिक विश्लेषक अतीक उर रहमान, जानें क्या हुआ

- Advertisement -

विशाल पांडे, जन की बात

प्रदीप भंडारी ने अपने शो जनता का मुकदमा में पिछले दो हफ्तों से कश्मीरी हिंदुओं के इंसाफ की लड़ाई अभी भी लगातार जारी रखी है। आपको बता दें कि प्रदीप भंडारी ने विवेक अग्निहोत्री द्वारा निर्मित ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म का अपने शो जनता का मुकदमा इंडिया न्यूज़ पर सबसे पहले प्रमोशन किया और इस फिल्म का साथ दिया। इस फिल्म के रिलीज होने के बाद इस पर जबरदस्त तरीके से राजनीति देखने को मिल रही है। इसी बीच प्रदीप भंडारी के शो जनता का मुकदमा में आज ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर जो सियासी तूफान उठा हुआ है। इसी विषय पर बहस हुई जिसमें अलग-अलग राजनीतिक दलों के प्रवक्ता नेता और राजनीतिक विशेषज्ञों ने अपनी-अपनी बात रखी। आपको बता दें कि इस्लामिक स्कॉलर अतीक उर रहमान भी इस शो में जुड़े थे।

प्रदीप भंडारी के सीधे सवालों का जवाब क्यों नहीं दे पाए अतीक उर रहमान

अतीक उर रहमान से प्रदीप भंडारी ने सवाल किया की अतीक उर रहमान आप बताइए कि बिट्टा कराटे और यासीन मलिक जैसे आतंकवादियों की सच्चाई किसी फिल्म में दिखाने से मुसलमानों पर कैसा खतरा होगा? प्रदीप भंडारी ने यह भी कहा कि अतीक उर रहमान आपको शरद पवार के बयान का खंडन करना चाहिए और उनके खिलाफ बोलना चाहिए। इस सवाल के जवाब में अतीक उर रहमान ने प्रदीप भंडारी के शो जनता का मुकदमा में अपनी बात रखते हुए कहा कि 13 मार्च मुंबई बम ब्लास्ट में मैं मुंबई में ही था और उस वक्त हमने उस बम ब्लास्ट को झेला था, जिसमें शरद पवार का बस एक ही मकसद था की मुस्लिम समुदाय को किसी भी तरीके से बम ब्लास्ट में शामिल किया जाए। जिसके बाद प्रदीप भंडारी ने अतीक उर रहमान को रोकते हुए कहा कि यह गलत है जो बम ब्लास्ट हुआ ही नहीं उसको आप बम ब्लास्ट कैसे बोल सकते हैं इसी विषय पर प्रदीप भंडारी और अतीक उर रहमान के बीच में तीखी बहस हुई जिसमें अतीक उर रहमान सीधे-सीधे जवाब देते हुए नजर नहीं आए बल्कि बात को घुमाते हुए दिखे।

इसके साथ ही आखिर में प्रदीप भंडारी ने कहा कि मैं आपसे चौथी बार यह सवाल कर रहा हूं कि बिट्टा कराटे और यासीन मलिक जैसे आतंकवादियों का सच दिखाने से देश का मुसलमान कैसे खतरे में आ सकता है, क्योंकि देश का मुसलमान इतना कमजोर नहीं है। जिसके जवाब में अतीक उर रहमान ने कहा कि प्रदीप भंडारी जी ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म पूरी तरीके से झूठी है और अगर इसमें थोड़ी सी भी सच्चाई होती तो इस फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री को वाई प्लस कैटेगरी की सुरक्षा नहीं दी जाती।

आपको बता दें कि प्रदीप भंडारी का शो जनता का मुकदमा में आज के एपिसोड को लोगों ने फेसबुक ट्विटर समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जमकर समर्थन दिया और खूब शेयर किया।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest