Voice Of The People

जनता का मुकदमा में प्रदीप भंडारी ने किया बड़ा खुलासा, जानिए बीरभूम नरसंहार का पूरा सच

- Advertisement -

हिमानी जोशी, जन की बात

पश्चिम बंगाल का बीरभूम जिला इन दिनों सुर्खियों में है।  वजह तृणमूल कांग्रेस के एक नेता की हत्या के बाद हुआ नरसंहार है। सोमवार को जनता का मुकदमा के प्राइम टाइम शो में प्रदीप भण्डारी ने बीरभूम नरसंहार के पीछे की सबसे बड़ी साजिश का पर्दाफाश किया।

प्रदीप भंडारी ने दिखाया बीरभूम नरसंहार का असली सच

प्रदीप भंडारी ने कहा कि ,’7 अप्रैल को सीबीआई ने बीरभूम नरसंहार की स्टेटस रिपोर्ट को फाइल करना है और इसको प्रस्तुत करना है कोलकाता हाईकोर्ट में. 6 अप्रैल को सीबीआई ममता बनर्जी के करीबी अनुब्रत मंडल को मवेशी तस्करी इन्वेस्टीगेशन मे पूछताछ करेगी। 5 बार अनुब्रत मंडल ने सीबीआई के समन से बचने की कोशिश भी की थी और कहा था कि उनकी तबीयत खराब है इसीलिए वह सीबीआई की पूछताछ में शामिल नहीं हो सकते, लेकिन इस बार उनको शामिल होना ही होगा. दीदी के करीबी अनुब्रत मंडल को कोलकाता हाईकोर्ट से भी कोई रिलीफ नहीं मिल पाई, इसलिए उसको सीबीआई के सामने प्रस्तुत होना होगा.

प्रदीप भंडारी ने बताया कौन है ममता बनर्जी का खास अनुब्रत मंडल

प्रदीप भंडारी ने कहा,’ मैं आपको बताना चाहता हूं कि अनुब्रत मंडल कौन है? यह वही व्यक्ति है जब बीरभूम के अंदर विधानसभा चुनाव थे और चुनाव आयोग ने इन्हें नजरबंद रखा था क्योंकि उन्हें डर था यह व्यक्ति पूछताछ के साथ-साथ फ्री एंड फेयर वोटिंग भी नहीं होने देगा, यह वही व्यक्ति है जो 2014 के अंदर कांग्रेस वर्कर को कहा था कि आपका हाथ काट देंगे और ममता बनर्जी ने उनका साथ दिया था. ये वो व्यक्ति हैं जिन्होंने विधानसभा चुनाव में डराने और धमकाने वाली लाइन कही थी ‘खून हो बे’. कहते हैं कि बीरभूम में अगर कुछ भी होगा तो इस व्यक्ति के बगैर पत्ता भी नहीं हिल सकता।

बीरभूम नरसंहार के पीछे बालू का अवैध कारोबार: प्रदीप भंडारी

प्रदीप भंडारी ने आगे बताया कि,’ 21 मार्च से जो सच्चाई जानने की कोशिश मैं और मेरी पूरी टीम कर रही थी, उससे पता चलता है कि बीरभूम नरसंहार सिर्फ आपसी रंजिश से कैसे हो सकता है? अनुब्रत मंडल कहते हैं टीवी सेट की वजह से हो सकता है. जब दीदी मीडिया सच को नहीं दिखा रही थी, तब हम यह तहकीकात कर रहे थे कि लोगों को जिंदा जला दिया गया,यह सिर्फ आपसी रंजिश कैसे हो सकता है? “दीदी मीडिया” को ध्यान से देखना चाहिए क्योंकि यह जमीनी रिपोर्ट है,और हमने इसलिए इसके पीछे का सच जाना और आज इंडिया न्यूज़ की जांबाज रिपोर्टर उर्वशी खोना की खोजी रिपोर्ट पूरे के पूरे कवर ऑपरेशन को एक्सपोज करेगी और इस झूठ की पोल खोल देगी. रिपोर्ट से आपको पता चलेगा कि रामपुरहाट के नरसंहार के पीछे एक बड़ा माफिया है, यह माफिया जो पुलिस, नेता और प्रशासन से मिला हुआ है. यह सब ममता बनर्जी के करीबी अनुब्रता मंडल के गढ़ में हो रहा है, उन्हीं का आदमी भादू शेख जिसकी हत्या हो जाती है उसके बाद बीरभूम में नरसंहार हो जाता है. वह भादू शेख सैंड माफिया ग्रुप का बहुत अहम सदस्य था।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest