Voice Of The People

प्रदीप भंडारी ने कहा- ‘फव्वारा गैंग’ को भगवान शिव का अपमान करने के लिए दंडात्मक कार्रवाई का सामना करना चाहिए?

- Advertisement -

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर का वीडियो सामने आने के बाद मंगलवार को अपने शो जनता का मुकदमा में प्रदीप भंडारी ने फव्वारा ज्ञान को भगवान शिव का अपमान करने और जानबूझकर हिंदू भावनाओं को आहत करने के लिए माफी मांगने को कहा.

प्रदीप भंडारी ने कहा की,’फव्वारा गैंग तुमने पिछले तीन हफ्तों में हर वह षड्यंत्र रचा जो हमारे बाबा के शिवलिंग का अपमान करता था. तुमने बाबा के शिवलिंग को फव्वारा बोला, कोर्ट के सामने दिखाए गए सबूतों को नकारा, सुप्रीम कोर्ट में फटकार लगने के बाद भी तुम नहीं माने, हमारे बाबा के शिवलिंग को तुम लोग बाबा एटॉमिक रिसर्च सेंटर से कंपेयर करते रहें.’

तुम सब पर आईपीसी धारा 295 ए लगनी चाहिए, क्योंकि तुमने नासमझी के तहत अपमान नहीं किया सोची समझी साजिश के साथ और हिंदू नफरत के लिए अपमान किया. फव्वारा वालों कम से कम बुद्धि का इस्तेमाल तो कर सकते थे बाबा की नगरी में सिर्फ बाबा ही निवास कर सकते हैं. पर दिक्कत यही है तुम सब लोग औरंगजेब भक्ति करते हो. तुम आज के हिंदुस्तान में भी सनातन संस्कृति के बजाय औरंगजेब की भक्ति करते हो और देश में औरंगजेब संस्कृति लेकर आना चाहते हो.

असदुद्दीन ओवैसी आप तो बैरिस्टर और कानून विशेषज्ञ है फिर भी आपको इतनी समझ नहीं है की प्लेसेस ऑफ़ वरशिप एक्ट के तहत धार्मिक चरित्र निर्धारित किया जा सकता है. कल इंडिया न्यूज़ ने शिवलिंग के एक्सक्लूसिव वीडियो आपको दिखाएं, जहां शिवलिंग को साफ तौर पर देखा जा सकता है. आपके षड्यंत्र का खुलासा हो गया तो आपने वीडियो को मानने से इनकार कर दिया.

भरी सभा में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता के ऊपर भीड़ को उत्तेजित करने की आप कोशिश करते है, लेकिन देशवासियों से माफी नहीं मांगी जाती. बड़ा अचंभित करता है मुझे आपका यह रवैया ऐसा ही रवैया आजादी से पहले मोहम्मद अली जिन्ना का हुआ करता था.  असदुद्दीन ओवैसी आप इस देश में संसद के सदस्य हैं और आपको इस देश के कानून को फॉलो करना चाहिए.  आज सारे सबूत पर्दाफाश कर चुके हैं कि वह कभी ना तो फव्वारा था, ना होगा क्योंकि वह सिर्फ और सिर्फ बाबा का शिवलिंग है.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest