Voice Of The People

ईडी की कार्यवाही पर प्रदीप भंडारी की दलील- इतने बड़े घोटाले का असली मास्टरमाइंड कौन?

- Advertisement -

गुरुवार को अपने शो जनता का मुकदमा में शो के होस्ट प्रदीप भंडारी ने कहा की, प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तारी के 72 घंटे बाद पार्थ चटर्जी को मंत्री पद से हटा दिया गया है और तृणमूल कांग्रेस से निलंबित कर दिया गया है।

मंगलवार को हैशटैग #SackPartha का उपयोग करके – हमने उन्हें मंत्री पद से हटाने का आह्वान किया और भ्रष्टाचार के खिलाफ देश की जनता की प्रतिक्रिया, क्रोध और भावना को देखकर – ममता बनर्जी की सरकार टीएमसी कार्रवाई करने के लिए मजबूर हो गई। पार्थ चटर्जी को पार्टी से बर्खास्त करने की घोषणा ममता बनर्जी के भतीजे और टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने की थी – जो ईडी की जांच के दायरे में हैं, लेकिन हम इस पर किसी और समय चर्चा करेंगे।

अगर अर्पिता मुखर्जी की बात करे तो उनके एक तीसरे फ्लैट पर ईडी छापेमारी कर रही है. सूत्रों की मानें तो कोलकाता में उनके एक नहीं, दो नहीं बल्कि 32 फ्लैट हैं। और ईडी को यकीन है कि यह एक ऐसा घोटाला है जिसकी अपराध की आय – 100 करोड़ से अधिक है। बीती रात तक कुल 9 किलो सोना बरामद होने के साथ ही 50 करोड़ के करीब नकद वसूली हो चुकी है।

जैसे-जैसे इस बड़े भ्रष्टाचार का पर्दाफाश होते जा रहा है – मुझे पता चल रहा है कि अर्पिता मुखर्जी ईडी की हिरासत में बहुत कुछ बता चुकी हैं। सूत्रों के अनुसार, अर्पिता ने  ईडी को बताया कि, सिर्फ वो ही नहीं और अधिक महिलाओं ने अपने फ्लैटों में पार्थ के पैसे छिपाए हुए है। पार्थ चटर्जी अर्पिता के फ्लैट को मिनी बैंक के रूप में इस्तेमाल करते थे। उसी इमारत में एक टीएमसी पार्टी कार्यालय है जहा कथित तौर पर टीएमसी सांसद सौगत रॉय वहा आया करते थे। आज एक और खुलासा कर अर्पिता ने  ईडी को बताया है कि पार्थ का सारा काला पैसा वह अपने पास रखती थी।

आज जब इतने चौंकाने वाले विवरण आपके सामने आए हैं – मेरे पास ममता बनर्जी के लिए कुछ बहुत ही सरल और बुनियादी प्रश्न है

1) यह कैसे संभव है कि टीएमसी नंबर 2 पार्थ चटर्जी इतने बड़े स्तर के भ्रष्टाचार में शामिल थे और आपको इसकी कोई जानकारी नहीं थी?

2) यह कैसे संभव है कि अर्पिता के फ्लैट से पैसों के पैकेट बरामद हो रहे हों और आपके प्रशासन में किसी को इसकी भनक न हो?

3) यह कैसे संभव है कि पार्थ ने कथित तौर पर अपनी महिला मित्रों के फ्लैटों में इतना पैसा, सोना जमा कर दिया – और किसी को इसकी आवाजाही के बारे में पता नहीं था?

4) ममता बनर्जी, आपको पार्थ चटर्जी को बर्खास्त करने के लिए मजबूर किया गया है क्योंकि आप जानते हैं कि यह सिर्फ Tip of the Iceberg  है और बहुत कुछ सुलझना बाकी है और एक बार जब यह सुलझ जाएगा – बहुत सारे नाम सामने आएंगे।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest