Voice Of The People

कश्मीरी पंडितों के नरसंहार की कहानी को 32 साल तक छुपा कर रखा गया, अब दुनिया ने एक्सेप्ट किया- अनुपम खेर ने प्रदीप भंडारी से कहा

- Advertisement -

पिछले साल की सुपरहिट फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ ऑस्कर को लेकर चर्चा में आ गई है। डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ ऑस्कर 2023 के लिए शॉर्टलिस्ट की जा चुकी है। इस खास मौके पर दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर ने प्रदीप भंडारी से विशेष बातचीत की। अनुपम खेर ने कहा कि साल 2022 उनके लिए काफी अच्छा रहा है।

अनुपम खेर ने प्रदीप भंडारी से बातचीत के दौरान कहा, “सत्य की हमेशा जीत होती है। कुछ लोगों को 15 मिनट का फेम चाहिए होता है लेकिन वह केवल 15 मिनट का ही होता है और बड़ी चीज को क्रिटिसाइज करके मिल जाता है। कश्मीर में हुए नरसंहार की कहानी को 32 साल तक छुपा कर रखा गया। द कश्मीर फाइल्स फिर एक फिल्म आई, जिसमें न गाना था, ना कोई ट्रेलर था, ना कॉमेडी था। लेकिन इस पिक्चर को लोगों ने एक्सेप्ट किया, क्योंकि इसमें वास्तविकता थी।”

अनुपम खेर ने कहा, “इस फिल्म को काफी लोगों ने क्रिटिसाइज किया। उसने बड़े लोग थे, दिल्ली के मुख्यमंत्री थे जिन्होंने कहा था कि फिल्म को यूट्यूब पर डाल दें। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री थे, कथित तौर पर पढ़े-लिखे लोग थे लेकिन अंत में हमेशा सच की जीत होती है। अभी भी वह लोग 24 तारीख का इंतजार कर रहे हैं। अगर यह नॉमिनेट नहीं हुई तो लोग कहेंगे देखा नहीं हुआ।”

अनुपम खेर ने कहा कि अवार्ड मिलता है या नहीं मिलता है उसका लंबा प्रोसेस है लेकिन हमें खुशी है कि लोगों ने एक्सेप्ट किया कि कश्मीर में नरसंहार हुआ था। द कश्मीर फाइल फिल्म का क्वालिफिकेशन ही बताता है कि दुनिया ने इसे एक्सेप्ट किया।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest