Voice Of The People

From Mann Ki Baat to Jan Ki Baat on demonetization:JanJanKiBaat24

Jan Ki Baat conversed with a number of people to grasp the public mood. A concerned citizen explained the phenomenon of demonetization in detail. Black money is essentially of 2 kinds: one is gathered through illegal activities like trafficking, drugs, corruption etc whereas the second kind is collected not by unlawful means but because relevant taxes on it aren’t paid. 15-20% of the money circulating in the market is either one of these kinds of black money. This percentage can be cleaned out easily with demonetization only if the public lends it relentless support and is willing to cooperate despite short-term problems. Much of inconvenience faced post-demonetization is because of the shortage of the new currency in ATMs and Banks. This is one area where improvements by the government are possible. For black money to be entirely wiped out and for bringing the cases of tax evasion under control, one must help out the authorities; 30th December 2016 is the last date for deposits so one mustn’t hurry, rushing to join the queues outside banks and ATMs.

Demonetization has impacted various segments of the society in different ways. Lack of awareness about the availability of alternate modes of payments has posed serious problems for the people who are in the habit of making transactions in cash. The government is working to address these issues and soothe the anxious.

Maintaining secrecy was an important part of this scheme since any leakage would have only dampened its effects. However, after the public had been addressed of the necessary changes, the government could have planned demonetization in a helpful manner, with the stock of new currency available in abundance to be supplied.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

भारत में 47% कोरोना मामले 40 वर्ष से कम आयु वर्ग के

नितेश दूबे, जन की बात कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन शाम को...

Latest

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

महाराष्ट्र में ट्रेन भेजने पर घमासान जारी

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और रेल मंत्री पीयूष गोयल के बीच यह ट्विटर वॉर 24 मई को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के बाद शुरू हुई।

यूपी में गठित होगा श्रमिक कल्याण आयोग, प्रदेश में ही मिलेगा रोजगार

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बाद देश में लाखों प्रवासी श्रमिक विभिन्न राज्यों से अपने गृह राज्य वापस लौट रहे है।

प्रवासी मजदूरों के हर मुश्किलों में साथ खड़ा है जन की बात

  आज पूरा देश इस महामारी से बचाव के लिए देश में लॉक डाउन जैसी समस्या से जूझ रहा है। इस समय अगर सबसे ज्यादा...