Voice Of The People

From Mann Ki Baat to Jan Ki Baat on demonetization: JanJanKiBaat23

Demonetization had become a bane in the existence of the common men and women, proving its alignment with the interests of the rich; Pradip Bhandari and the team of Jan Ki Baat go out to explore this popular sentiment. Citing the effects of demonetization as “an everyday, repetitive problem”, people struggle to meet their work deadlines. Posters and sloganeering against PM Modi was witnessed at the Kejriwal rally organized to protest against demonetization. A man’s poster makes his opinion for everyone to see; this specific poster hints at the link between PM Modi and Indian business tycoons, implying the possibility of a case of vested interests.

The night of 8th November proved itself to be a surprise for the whole of India, with PM Narendra Modi announcing his government’s issuance of a ban on two of the highest denomination Notes. The move, designed to delete the existence of black money and black economy, couldn’t have been discussed as secrecy and confidentiality were required. The decision, for it hopes to fulfil, has met with sharp criticism from various segments of the society.

Concerns that people have voiced reflect the lack of planning in the demonetization policy- whether they’re temporary, as the government and RBI repeatedly assure us, or long-term, remains to be seen.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

भारत में 47% कोरोना मामले 40 वर्ष से कम आयु वर्ग के

नितेश दूबे, जन की बात कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन शाम को...

Latest

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

महाराष्ट्र में ट्रेन भेजने पर घमासान जारी

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और रेल मंत्री पीयूष गोयल के बीच यह ट्विटर वॉर 24 मई को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के बाद शुरू हुई।

यूपी में गठित होगा श्रमिक कल्याण आयोग, प्रदेश में ही मिलेगा रोजगार

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बाद देश में लाखों प्रवासी श्रमिक विभिन्न राज्यों से अपने गृह राज्य वापस लौट रहे है।

प्रवासी मजदूरों के हर मुश्किलों में साथ खड़ा है जन की बात

  आज पूरा देश इस महामारी से बचाव के लिए देश में लॉक डाउन जैसी समस्या से जूझ रहा है। इस समय अगर सबसे ज्यादा...