Voice Of The People

आप का विवाद: मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ आप विधायक अमानतुल्ला खान ने की मारपीट

सोमवार रात मे दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने आवास पर बुलाते है मिटिंग के लिए जहाॅं उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया के साथ ओखला के विधायक अमानतुल्ला खान और देओली के विधायक प्रकाश जरवाल के साथ अन्य लोग भी मौजूद थे। रात के 12 बजे के आसपास शुरू हुई इस मिटिंग में आम आदमी पार्टी के विधायकों ने दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट की। जिसके बाद मंगलवार सुबह अंशु प्रकाश ने पूरे मामले की पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई।

आप का विवाद: मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ आप विधायक अमानतुल्ला खान ने की मारपीट

इस पूरे घटनाक्रम में कुछ ऐसे अधूरे बिंदू है जिन पर गौर करें तो कहानी समझना मुश्किल सा लगता है। जन की बात सीईओ ने इन्ही अधूरे बिंदुओं को जनता के समक्ष रखकर उनसें पूछा कि उनकी राय क्या है। पहला सवाल जो सीईओ प्रदीप भंडारी ने किया वो है कि ’’ऐसी कौन सी इमरजेंसी आ गई थी कि सोमवार की रात 12 बजे दिल्ली के मुख्य सचिव को मुख्यमंत्री अपने घर मिटिंग के लिए बुलाते हैं।‘‘ आम आदमी पार्टी ने इस पूरे घटनाक्रम के बारे में कहा कि मुख्य सचिव झूठ बोल रहे हैं, उनके साथ किसी तरह कि कोई मारपीट नही हुई है। लेकिन अगर ऐसा है।

तो आज सुबह आई मेडिकल रिर्पोटस में अंशु प्रकाश के सिर पर चोट की पुष्टि कैसे हुई है? और अगर सच में आम आदमी पार्टी और उसके विधायकों की कोई गलती नही है तो क्यों सीएम आवास के अंदर के उस कमरें की सीसीटीवी फुटेज रिलीज़ कर दी जाती है जिसमें ये मिटिंग चल रही थी।

जन की बात टीम ने खुद से कोई भी विशलेषण नही रखा बल्कि हमने दिल्ली की जनता से जाना कि उन्हे क्या लगता है… हर किसी कि अपनी राय थी लेकिन 70 प्रतिशत लोगो की राय थी कि मुख्य सचिव के साथ जो भी हुआ गलत हुआ, एक व्यक्ति ने तो यहाॅं तक कह दिया था कि अगर इतने बड़े अफसर के साथ इस तरह की बदसलूकी हो सकती है तो आम आदमी के साथ क्या होगा? तो वहीं दूसरी ओर 30 प्रतिशत लोगो को लगता है ये सब आम आदमी पार्टी को फसाने की चाल है, एक सोची समझी प्लानिंग के तहत इस पूरे घटनाक्रम को जनता के सामने लाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

भारत में 47% कोरोना मामले 40 वर्ष से कम आयु वर्ग के

नितेश दूबे, जन की बात कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन शाम को...

Latest

आजादी के बाद देश में सबसे बड़ा टिड्डी दल का हमला

  देश के किसानों के लिए इस वक्त करोना वायरस से ज्यादा बड़ा मुद्दा टिड्डी दल का हमला बन गया है। पाकिस्तान से आया टिड्डीयों...

महाराष्ट्र में राहुल गांधी के बयान के बाद सियासी घमासान

महाराष्ट्र में कोरोना के साथ-साथ राजनीतिक घमासान मचा हुआ है। बीजेपी - शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन पर आरोप लगा रही है कि तीनों...

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

महाराष्ट्र में ट्रेन भेजने पर घमासान जारी

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और रेल मंत्री पीयूष गोयल के बीच यह ट्विटर वॉर 24 मई को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के बाद शुरू हुई।