Voice Of The People

पानी की समस्या से जूझ रहे हैं दिल्ली में कालकाजी के लोग, नहीं मिलने आते हैं विधायक

जन की बात टीम दिल्ली की उन 20 विधानसभाओं का लगातार दौरा कर रही है जिनके विधायकों के उपर आॅफिस आॅफ प्राफिट का आरोप लगा है। हम रोज़ अलग-अलग विधानसभाओं में जाकर वहाॅं के लोगो से जानते है कि क्या दिक्कतें हो रही है उन्हे पिछले तीन साल से पर आश्चर्य की बात ये है कि जितनी भी विधानसभा क्षेत्रों का जन की बात टीम ने दौरा किया है उनमें से एक भी विधानसभा क्षेत्र ऐसी नही है जहाॅं के लोगो को अपने विधायक से दिक्कत ना हो। ऐसा ही हाल है कालका जी का, विधायक अवतार सिंह पिछले तीन साल इस विधानसभा के विधायक है लेकिन यहाॅं के लोगो को पिछले 40 सालों में जितनी पानी की दिक्कत नही आई वो अब आने लगी है। कालका जी की गृहणियों से जब हमने बात की तो उन्होने बताया कि कैसे विधायक अवतार सिंह लोगो का काम टालते है। अवतार सिंह के पास जब कोई क्षेत्रवासी अपनी शिकायत लेकर जाता है वो कहते है मेरे घर में भी यही दिक्कत है, भले ही वो दिक्कत पानी कि हो या फिर सीवर की हो।

चुनाव प्रचार के समय अरविंद केजरीवाल और विधायकों ने वादें किए थे कि 20000 हज़ार लीटर पानी फ्री में दिया जाएगा लेकिन ऐसा नही है। दरअसल, सच्चाई ये है कि 20000 लीटर के बाद पानी का बिल जो बनकर आता है वो इतना ज्यादा होता है कि 20000 हज़ार लीटर फ्री में दिए गए पानी कि भी कसर निकाल लेता है। मंगलवार को जब जन की बात की टीम कालका जी गई लोगो से बात करने के लिए तो एक महिला ने हमें बताया कि उनके यहाॅं सोमवार से पानी नही आया है और मंगलवार शाम तक भी पानी का कोई नामो-निशान नही था। सीवर, पानी की समस्या तो समस्या कालका जी में पुलिस प्रशासन भी सुस्ती की साॅंस लेता है शायद क्योकि क्षेत्रवासियों से बात करने के बाद हमें पता चला कि इलाके में चोरी-चकारी भी लगभग हर रोज़ ही होती है। क्षेत्रवासियों के मुताबिक उन्होने कई बार विधायक अवतार सिंह को इन परेशानियों के बारे अवगत कराया है लेकिन अवतार सिंह कभी कहते है कि मैं भी इसी समस्या से जूझ रहा हूॅं तो कभी जनता को झूठा दिलासा दिलाकर वापस भेज देते है लेकिन उनकी परेशानियों का निस्तारण करने वाला कोई भी नही है। गौरतलब है कि कालका जी विधानसभा की वरिष्ठ नागरिकों का कहना है कि कांग्रेस के समय पर उनकी पेंशन हर महीने समय से आती थी लेकिन आम आदमी पार्टी की सरकार जब से आई है तब से उनकी पेंशन कभी समय से नही पहुॅंचती है। किसी-किसी की पेंशन पिछले एक साल से नही आई है, हज़ार बार शिकायत करने बावजूद उनकों दिलासा देकर वापिस भेज दिया जाता है।
चुनाव प्रचार के दौरान आम जनता को विकास और समस्याओं के निस्तारण की झूठी पट्टी पढ़ाकर चुनाव जीतने वाले नेताओं को जनता कभी दूसरा मौका नही देती है। सत्ता का ये खेल भले ही नेता आपस में खेलते हो लेकिन इस खेल की बागडोर हमेशा से आम जनता के हाथों में रही है। देखने वाली बात होगी कि क्या अवतार सिंह अपनी कुर्सी पर फिर से बैठेंगे या फिर कालका जी विधानसभा क्षेत्र की जनता को मिलेेगा एक और मौका अपना सही प्रतिनिधि चुनने का।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

भारत में 47% कोरोना मामले 40 वर्ष से कम आयु वर्ग के

नितेश दूबे, जन की बात कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन शाम को...

यूपी में इंडोनेशियाई नागरिक मिला कोरोना पॉजिटिव, निजामुद्दीन कार्यक्रम में हुआ था शामिल

नितेश दूबे ,जन की बात उत्तर प्रदेश में सोमवार दोपहर तक कोरोना के कुल...

Latest

जन की बात हर मुश्किल में आपके साथ

साथ ही प्रधानमंत्री ने बंगाल को 1000 करोड़ रुपये जबकि उड़ीसा को 500 करोड़ पर एडवांस देने की घोषणा की।

More than 70 percent favour lockdown extension : Jan Ki Baat state of Nation Survey

Jan Ki Baat Jan Ki Baat Coronavirus Lockdown Extension- Decoding the State of the...

जब प्रधानमंत्री मोदी ने बचाई महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की कुर्सी।

नितेश दूबे देश में इस वक्त कोरोना का काल चल रहा है। लेकिन इसी बीच महाराष्ट्र में सियासी उठापटक की भी स्थिति बनी थी। जी...

क्या बिहार चुनाव की तैयारियां शुरू हो गई हैं?

नितेश दूबे देशभर में इस वक्त कोरोना का काल चल रहा है और पूरे देश में कोरोना के 1 लाख 10 हजार से ज्यादा मामले...