Voice Of The People

80 करोड़ गरीब लोगों को नवंबर तक मुफ्त अनाज।: पीएम मोदी

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को छठवीं बार कोरोना काल के दौरान संबोधित किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम अनलॉक 2 की तरफ बढ़ रहे हैं। साथ ही साथ हम एक ऐसे मौसम में प्रवेश कर रहे जहां पर सर्दी ,जुखाम, बुखार होना आम बात है। इसीलिए अपना ख्याल रखें। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने कहा कि यह बात सही है कि देश में लॉकडाउन और अन्य फैसलों के कारण देश में कोरोना से होने वाली मृत्यु दर दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले काफी नीचे है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत को और अधिक सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि लापरवाही बढ़ना चिंता का कारण हो सकता है। उन्होंने कहा कि लोग मास्क लगाकर ही बाहर निकले। इसके साथ ही उन्होंने एक उदाहरण दिया कि अभी एक देश के प्रधानमंत्री के ऊपर 13000 का जुर्माना लग गया क्योंकि वह सार्वजनिक स्थल पर मास्क नहीं पहने हुए थे। हमारे देश के भी प्रशासन को ऐसा ही कुछ करना होगा। चाहे वह गांव का प्रधान हो या प्रधानमंत्री, सबको नियमों का पालन करना ही होगा।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बीते लॉकडाउन में 20 करोड़ जनधन खातों में 31000 करोड़ रुपए जमा करवाए गए हैं। सरकार ने 1,75,000 करोड रुपए का गरीब कल्याण पैकेज भी लाया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के किसानों के खातों में 18000 करोड़ पर सीधे जमा करवाए गए। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा शायद पहली बार हुआ है कि देश के 80 करोड़ लोगों को 3 महीने का राशन मुफ्त दिया गया। इसमें 5 किलो चावल या आटा दिया गया। साथ ही 1 किलो दाल भी दी गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का विस्तार नवंबर तक कर दिया गया है। यानी कि मुफ्त में अनाज 80 करोड़ लोगों को नवंबर तक मिलेगा। इसके साथ ही 1 किलो चना भी अब मुफ्त मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इससे सरकार पर 90,000 करोड रुपए का खर्चा आएगा और अगर हम पिछले 3 महीने की खर्चों को जोड़ दें तो कुल खर्चा करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपए का होगा। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने एक और घोषणा की कि अब देश में वन नेशन वन राशन कार्ड लागू होगा जिससे रोजगार के लिए अन्य प्रदेश में गए हुए गरीब को भी राशन मुफ्त में मिलेगा।आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ऐसा हम इसलिए कर पा रहे हैं क्योंकि करदाता लगातार अपना टैक्स चुका रहे हैं। सिर्फ करदाताओं की वजह से ही यह मदद संभव हो पा रही है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन के अंत में कहा कि हमें लोकल के लिए वोकल भी होना है यानी कि उन्होंने एक बार फिर से आत्मनिर्भर भारत पर जोर दिया। साथ ही कहा कि हमें काम भी करते रहना है और आगे भी बढ़ना है। इसका अर्थ ये हुआ कि देश में अब और अधिक लॉकडाउन नहीं लगेगा। यानी हमें कोरोना के साथ जीना सीखना पड़ेगा। साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं आप सब के अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से संवाद किया है न कि लुटियंस लॉबी से

  जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने 30 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए राष्ट्र के नाम संबोधन का...

देश की जनता ने राहुल गांधी को जवाब दे दिया है।: जय पांडा

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने जन की बात कन्वर्सेशन सीरीज में आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय...

कोरोना वायरस चीन का बायोलॉजिकल हथियार है: पूर्व मेजर जनरल जीडी बख्शी

भारत और चीन तनाव के बीच जन की बात के फाउंडर प्रदीप भंडारी ने भारतीय सेना के रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी से विशेष...

जन की बात ऑनलाइन सर्वे- 66% लोगों ने माना चाइना को मिलिट्री के साथ आर्थिक रूप से भी सबक सिखाया जाए

  आपको बता दें कि 15 और 16 जून को भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें भारत के 20...

Latest

सरदार पटेल के पत्र लिखने के बावजूद पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने यूनाइटेड नेशन की सिक्योरिटी काउंसिल की सीट के लिए मना कर दिया...

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राज्यसभा सांसद और पूर्व पत्रकार एमजे अकबर का साक्षात्कार लिया। जिसमें उनके हाल ही...

राष्ट्रीय सुरक्षा पर देश को सुभाष चन्द्र बोस और सावरकर से सीखना चाहिए न की गांधी जी से: उदय माहुरकर

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर पत्रकार-स्कॉलर उदय माहुरकर से विशेष बातचीत की। इस दौरान...

चीन से फिर आ सकता है एक और वायरस, जानिए सब कुछ जी 4 वायरस के बारे में

अमन वर्मा (जन की बात) कोरोना वायरस के बारे में सभी जानते हैं, चमगादड़ इस  महामारी का कारण है. चमगादड़ों के संपर्क में आने के ...

जानिए कैसे बिहार के पिलीगंज की एक शादी बनी कोरोना का शिकार, दूल्हे की हुई मौत

अमन वर्मा (जन की बात) पटना के ग्रामीण इलाके में एक शादी समारोह संपन्न हुआ, जहां दूल्हे को तेज बुखार था और इसी बीच उसकी...