Voice Of The People

जानिए प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में क्या कहा?

आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शाम 4:00 बजे राष्ट्र के नाम संबोधन दिया। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब कल्याण योजना को नवंबर तक बढ़ाए जाने का ऐलान किया। इस योजना के तहत 80 करोड़ गरीब परिवारों को नवंबर 2020 तक राशन मुफ्त में मिलेगा। इस योजना को अमल में लाने के लिए सरकार 90 हजार करोड़ से अधिक खर्च करेगी। इस संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि प्रधान हो या प्रधानमंत्री नियम सबके लिए एक ही होते है। प्रधानमंत्री ने 2 गज दूरी के नियम का कड़ाई से पालन करने की अपील भी की। यह कोरोना काल मे प्रधानमंत्री मोदी का छठा राष्ट्र के नाम संबोधन था ।

आइए जानते हैं प्रधानमंत्री ने अपने पिछले पांच राष्ट्र के संबोधन में क्या-क्या कहा

1.  जनता कर्फ्यू –  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू का ऐलान 19 मई को राष्ट्र के नाम संबोधन में किया था। जिसमें सभी देशवासियों से अपील की गई थी, वह 22 मार्च को सुबह 7:00 बजे से रात के 9:00 बजे तक घर पर ही रहे। इस संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा था, कि  सभी देशवासी शाम के 5:00 बजे घर की बालकनीयों में निकल कर कोरोना वायरस से लड़ रहे डॉक्टर और कोरोनावरियर्स के लिए 5 मिनट तक तालियां बजाएं।

2.  पहले लॉकडाउन का ऐलान:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू के खत्म होने के 2 दिन बाद 24 मार्च को पहले लॉकडाउन का ऐलान किया। जिसमें कोरोना वायरस से निपटने के लिए 21 दिन का लॉकडाउन लगाया गया।

3. दीपक जलाने  के लिये :   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तीसरा राष्ट्र के नाम संबोधन एक 5 मिनट के वीडियो के रूप में सामने आया जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अप्रैल को रात के 9:00 बजे सभी देशवासियों से घर की सभी बत्तियां बुझा कर 10 मिनट के लिए दीपक जलाने को कहा था ताकि महामारी के वक्त देश की एकजुटता दिखाई जा सके।

4. दूसरा लॉकडाउन:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चौथा राष्ट्र के नाम संबोधन 14 अप्रैल को सुबह 10:00 बजे हुआ। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन 2.0 लागू किया। जिसके देशव्यापी लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया गया। इसके साथ ही  प्रधानमंत्री मोदी ने  किसानों और मजदूरों के  लिये लॉकडाउन में कुछ छूट ऐलान भी किया।

5. लॉकडाउन के चौथे चरण के साथ इकोनामिक पैकेज का ऐलान:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना आखिरी राष्ट्र के नाम संबोधन 12 मई को दिया था जिसमें प्रधानमंत्री मोदी ने देश के लिए 20 लाख को रुपए से अधिक के आर्थिक पैकेज की घोषणा की। इसमें प्रधानमंत्री मोदी ने लॉकडाउन के चौथे चरण का भी ऐलान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से संवाद किया है न कि लुटियंस लॉबी से

  जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने 30 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए राष्ट्र के नाम संबोधन का...

देश की जनता ने राहुल गांधी को जवाब दे दिया है।: जय पांडा

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने जन की बात कन्वर्सेशन सीरीज में आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय...

कोरोना वायरस चीन का बायोलॉजिकल हथियार है: पूर्व मेजर जनरल जीडी बख्शी

भारत और चीन तनाव के बीच जन की बात के फाउंडर प्रदीप भंडारी ने भारतीय सेना के रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी से विशेष...

जन की बात ऑनलाइन सर्वे- 66% लोगों ने माना चाइना को मिलिट्री के साथ आर्थिक रूप से भी सबक सिखाया जाए

  आपको बता दें कि 15 और 16 जून को भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें भारत के 20...

Latest

चीन से फिर आ सकता है एक और वायरस, जानिए सब कुछ जी 4 वायरस के बारे में

अमन वर्मा (जन की बात) कोरोना वायरस के बारे में सभी जानते हैं, चमगादड़ इस  महामारी का कारण है. चमगादड़ों के संपर्क में आने के ...

जानिए कैसे बिहार के पिलीगंज की एक शादी बनी कोरोना का शिकार, दूल्हे की हुई मौत

अमन वर्मा (जन की बात) पटना के ग्रामीण इलाके में एक शादी समारोह संपन्न हुआ, जहां दूल्हे को तेज बुखार था और इसी बीच उसकी...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से संवाद किया है न कि लुटियंस लॉबी से

  जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने 30 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए राष्ट्र के नाम संबोधन का...

कैसे टिक टॉक बंद होने के बाद हिंदुस्तानी चिंगारी ऐप हिंदुस्तान में छाया? पढ़िए रिपोर्ट

  भारत चीनी सेना के बीच झड़प के बाद देश में चीन के प्रति लोगों में काफी नाराजगी भरा माहौल है। उसे देखते हुए भारत...