Voice Of The People

प्रदीप भंडारी के जनता का मुकदमा शो पर “डिस्मेंटलिंग ग्लोबल हिंदुत्व” कार्यक्रम के खुलासे पर सीएम योगी ने दिया दो टूक जवाब

- Advertisement -

अनुप्रिया, जन की बात

वैश्विक स्तर पर हिन्दू और हिंदुत्व को बदनाम करने की साज़िश और हिंदुत्व को एक तरह से नफरत फैलाने वाली सोच की तरह प्रोजेक्ट करने का एजेंडा बरसों से चलाया जा रहा है, और अभी हाल ही में आने वाले 10 सितंबर को वैश्विक स्तर पर एक ‘DISMANTLING GLOBAL HINDUTVA’ कॉन्फ्रेंस आयोजित की जा रही है, जिसमे भारत के ही कुछ हिन्दू विरोधी और लेफ्टिस्ट विचारधारा वाले एक्टिविस्ट लोगों को वक्तव्य देने के लिए बुलाया गया है । देखने मे यह एक बिल्कुल सामान्य सी कॉन्फ्रेंस लग रही है लेकिन इसके पीछे की साजिश बहुत बड़ी हो सकती है । इतनी बड़ी की ये भी हो सकता है कि इस कॉन्फ्रेंस का आयोजन और इसकी फंडिंग पाकिस्तान से की जा रही हो । इंडिया न्यूज पर जनता का मुकदमा में प्रदीप भंडारी ने एक बार फिर से इस मुद्दे को उठाया था और इसे एक नया मोड़ दिया। साथ ही एक नए नजरिये और नई शंकाओं के साथ उन्होंने इस मुद्दे की कई परतों को उधेड़ा था । इसी सिलसिले में आज प्रदीप भंडारी ने DISMANTLING GLOBAL HINDUTVA पर कॉन्फ्रेंस से ठीक एक दिन पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से खास बातचीत की, और मुख्यमंत्री से इस मुद्दे पर उनके विचार और उनकी राय ली ।

 

प्रदीप भंडारी ने मुख्यमंत्री से पूछा

योगी जी 10 सितंबर से एक तीन दिन की वर्चुअल कांफ्रेंस “डिसमेंनटलिंग हिन्दू कॉन्फ्रेंस ” शुरू होगी। आयोजनकर्ता खुद को संयुक राष्ट्र अमेरिका की बड़े विश्वविद्यालय का सह प्रायोजक बताते हैं। उस कॉन्फ्रेंस में जो वक्ता आ रहे हैं वो सरकार के मुखर आलोचक माने जाते हैं। उनमें से कुछ ने अभी हाल ही में तालिबान, हिंदुत्व एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की परस्पर तुलना की थी। कल हमने प्रकट किया था कि कैसे उस कॉन्फ्रेंस के एक आयोजनकर्ता का संबंध पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की कठपुतली गुलाम नवी फाई से है। क्या आपको लगता है कि ऐसी कॉन्फ्रेंस का लक्ष्य अंतर राष्ट्रीय स्तर पर हिंदुत्व की छवि को खराब करने का एवं भारत के विरुद्ध पाकिस्तान प्रायोजित षड्यंत्र  से जुड़ा है।

 

जिसके जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा

‘सांस्कृतिक विरासत के प्रति आम जन मानस को जोड़ना और एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार करने मे मजबूती से अपना योगदान देना, ये कम्युनिज्म के झूठ का पर्दाफाश भी करता है। क्योंकि कम्युनिज्म की थ्योरी थी वह भारत को कभी एक नही मानता है और उनकी जो विकृत सोच है उसके कारण वो राष्ट्रीयता का एक समूह मानता है। लेकिन हमारा ये मानना है कि भारत  आदिकाल से ही एक देश है और एक सोच के साथ, एक संस्कृति के साथ, एक विरासत के साथ उत्तर से दक्षिण तक, पूरब से पश्चिम तक पूरा भारत एक रहा है। भले ही राजे रजवाड़े किसी काल खंड में अलग अलग रहे हो। लेकिन पूरा भारत हिमालय से लेकर समुद्र पर्यन्त तक पुरा भारत एक है। उस एक भारत को श्रेष्ठ भारत के रूप मे बदलना यही कम्युनिज्म की थ्योरी को खारिज़ करने का एक सशक्त हथियार बन सकता है। ये कितना भी षण्यंत्र भारत के खिलाफ कही भी करे ,भारत की 135 करोड़ जनता को एक स्वर मे एक भारत श्रेष्ठ भारत के स्वर मे बोलना चाहिए। इनके सारे के सारे झूठ का पर्दाफाश होगा औऱ ये लोग सभी बेनकाब होंगे और यही कारण है इस देश ने कम्युनिज्म को ठुकराया है । पश्चिम बंगाल से ठुकरा दिया है ,त्रिपुरा से ठुकरा दिया है , केरल भी एक समय पे स्वीकार करेगा । केरल उस सच्चाई को स्वीकार करते हुए इनको जरूर ठुकरायेगा इसमें कोई संदेह नही होना चाहिए, इनके लिए इस धरती पर कोई जगह रहेगी ही नही ये मैं विश्वास के साथ कह सकता हूँ और हर भारतीय को इस बारे मे सोचना होगा इसको आगे बढ़ाना होगा।’ आने वाले एन्टी हिन्दुत्व कॉन्फ्रेंस के मुद्दे पर प्रदीप भंडारी के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ की खास बातचीत यह साबित करती है कि जनता का मुकदमा अब देश की जनता के साथ साथ देश के राजनेताओं को भी प्रभावित करने में सफल हो रहा है ।

अगर आप इस मुद्दे पर अपनी राय रखना चाहते हैं तो आप जन की बात के ट्विटर पर @jankibaat1 पर फॉलो कर सकते हैं । प्रदीप भंडारी से जुड़ने के लिए उन्हें आप ट्विट्टर पर @Pradip103 फॉलो कर सकते हैं ।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest

SHARE