Voice Of The People

समीर वानखेड़े ने की अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष अरुण हलदर से मुलाकात, दिखाए अपने अनुसूचित जाति के प्रमाण

- Advertisement -

विपिन श्रीवास्तव, जन की बात

मुंबई में एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने आज एनसीएससी के अंधेरी स्थित कार्यालय में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष अरुण हलदर से मुलाकात की । अरुण हलदर ने बताया की समीर वानखेड़े से मैंने पूछा कि वो अनुसूचित जाति के हैं या नही? जिसके जवाब में समीर वानखेड़े ने कहा कि वो अनुसूचित जाति के ही हैं।

अरुण हलदर के मुताबिक समीर वानखेड़े ने उन्हें अपने अनुसूचित जाति से संबंधित सभी प्रमाणपत्र दे दिए हैं । अरुण ने कहा कि समीर की सभी बातें सुनने के बात उन्हें लगता है कि समीर सानुसूचित जाति वर्ग के ही हैं। उन्होंने मुझे अपने परिवार के बारे में सब कुछ बताया और साथ ही यह भी बताया कि उनका कोई धर्म परिवर्तन नही हुआ है ।

आपको बता दें की बीते दिनों राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मालिक लगातार समीर वानखेड़े पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं । शुक्रवार को भी उन्होंने समीर वानखेड़े पर आरोप लगाते हुए कहा था की वो भारतीय जनता पार्टी के साथ समीर वानखेड़े की मिलीभगत का पर्दाफाश करेंगे और यह मामला अब समीर वानखेड़े की नौकरी खत्म होने और फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद ही खत्म होगा ।

साथ ही नवाब मालिक ने पहले भी समीर वानखेड़े पर उनके धर्म और जाति पर सवाल उठाते हुए कई आरोप लगाए थे । मालिक ने पिछले दिनों अपने ट्विट्टर पर एक जन्म प्रमाण पत्र साझा करते हुए उसे समीर वानखेड़े का जन्म प्रमाण पत्र बताया था जिसमे उन्होंने यह दावा किया था कि समीर वानखेड़े के पिता का नाम दाऊद वानखेड़े है और उन्होंने अपना धर्म परिवर्तन करने के बाद अपना नाम ज्ञानदेव वानखेड़े रखा है । साथ ही मालिक ने यह भी आरोप लगाया था कि समीर वानखेड़े ने आईआरएस की नौकरी प्राप्त करने के लिए हेराफेरी की है और उन्होंने गलत तरीके से खुद को अनुसूचित बताकर नौकरी प्राप्त की है ।

जिसके जवाब में समीर वानखेड़े के पिता ने इंडिया न्यूज पर प्रदीप भंडारी के शो जनता का मुकदमा पर आकर नवाब मालिक द्वारा लगाए गए सभी आरोपों का खंडन किया था और कहा था कि वो जन्म से हिन्दू हैं और उन्होंने कभी भी अपना धर्म परिवर्तन नही किया है । इसके अलावा समीर वानखेड़े ने भी प्रदीप भंडारी से उनके शो पर बातचीत में बताया था कि उनके ऊपर लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं और नवाब मालिक जानबूझ कर उनके ऊपर इस तरह के आपत्तिजनक आरोप लगा रहे हैं ।

इसके दो दिन बाद 25 अक्टूबर को नवाब मालिक ने फिर से अपने ट्विट्टर पर समीर वानखेड़े पर आरोप लगाते हुए एक निकाहनामा की कॉपी पोस्ट करते हुए कहा कि समीर वानखेड़े मुस्लिम ही हैं और यह निकाहनामा इस बात का सबूत है। साथ ही नवाब मालिक ने समीर वानखेड़े और उनकी पूर्व पत्नी का एक फोटो भी ट्विटर पर पोस्ट किया था ।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest