Voice Of The People

प्रदीप भंडारी के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में विवेक अग्निहोत्री का बड़ा खुलासा, बोले- इस्लामोफोबिया शब्द से देश को कर रहे हैं बदनाम

- Advertisement -

गुरुवार को प्रदीप भंडारी के शो जनता का मुकदमा पर विवेक अग्निहोत्री ने एक धमाकेदार इंटरव्यू में किया बड़ा खुलासा. कहा- आतंक के समर्थन में वामपंथी मीडिया ने फैलाया प्रोपेगेंडा. दरअसल, द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक विवेक रंजन अग्निहोत्री अपनी फिल्म के खिलाफ अभी लगातार चलाए जा रहे हेट-कैम्पेन को उजागर करने में लगे हैं. इसी बीच 3 मई  को खबर आई कि नई दिल्ली में विदेशी संवाददाता क्लब (Foreign Correspondents Club/FCC) ने विवेक रंजन अग्निहोत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस को रद्द कर दिया है. इसी सिलसिले में आज प्रदीप भंडारी ने विवेक अग्निहोत्री का धमाकेदार इंटरव्यू किया.

प्रदीप भंडारी ने सवाल किया कि, ‘आपने कहा कि अल जज़ीरा, न्यूयॉर्क टाइम्स जैसे पत्रकारों ने दबाव डाला और फॉरेन कॉरेस्पोंडेंट्स क्लब मैं आपकी प्रेस कॉन्फ्रेंस को रद्द करा दिया. ऐसा क्यों हुआ और आपके पास क्या सबूत है?’

फॉरेन कॉरेस्पोंडेंट्स क्लब के जो अध्यक्ष हैं उन्होंने मुझे फोन करके बताया है कि न्यूयॉर्क टाइम्स, अल जज़ीरा के जो प्रतिनिधि भारत में है, उन्होंने धमकी दी कि अगर कोई भी कश्मीर जनोसाइड के संबंध में प्रेस कॉन्फ्रेंस फॉरेन कॉरेस्पोंडेंट्स क्लब में होगी तो, वह सारे लोग इस्तीफा दे देंगे और इससे उनका नाम खराब होगा. यह मीडिया हाउस इंडिया में इस्लामोफोबिया शब्द को पॉलिटिकल वेपन की तरह इस्तेमाल करके, भारत का विश्व में नाम खराब करना चाहते हैं. वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम के दिन उन्होंने मेरी अभिव्यक्ति की आजादी को खत्म किया.

प्रदीप भंडारी ने आगे पूछा की,’फॉरेन कॉरेस्पोंडेंट्स क्लब से जुड़े जो मीडिया हाउस है, भारत में होकर आपकी अभिव्यक्ति की आजादी को दबा रहे हैं. आपको नहीं लगता कि पाकिस्तान का एजेंडा चला रहे हैं?

विवेक अग्निहोत्री ने सवाल का जवाब देते हुए कहा कि, ‘अगर वामपंथी मीडिया की फंडिंग देखी जाए तो यह 5 साल का बच्चा भी बता सकता है कि इसके पीछे का कारण क्या है. आतंकवाद एक बहुत बड़ा धंधा है, और इस धंधे में आपको ऐसा लगता है कि सिर्फ आतंकवादी लोग शामिल हैं, नहीं इसमें बहुत सारे मीडिया हाउस शामिल है जो इनको बौद्धिक और विचारधारा का कवच देते हैं. इसके लिए भारत के दुश्मन देश इन्हें पैसा देते हैं. यह एजेंडा और फंडेड मीडिया हाउस है, मैं तो कहूंगा मीडिया नहीं है पॉलिटिकल एक्टिवेशन ग्रुप है जो मीडिया की आड़ में अपना एजेंडा चलाते हैं.

प्रदीप भंडारी के सवाल, वामपंथी पत्रकार आपको रोककर क्या हासिल कर लेंगे? का जवाब देते हुए विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि, ‘ ऐसे कौन से पत्रकार हैं जो प्रेस कॉन्फ्रेंस को कैंसिल करना चाहेंगे? इन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि उनको यह बात अच्छे से पता है अगर यह प्रेस कॉन्फ्रेंस होती तो बहुत सारे तथ्य खुलकर सामने आ जाते. उनका जो इस्लामोफोबिया है जिससे वह पॉलिटिकल वेपन की तरह यूज करते है, वो झूठी कहानी  भी खुलकर सामने आजाता.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest