Voice Of The People

प्रदीप भंडारी से एक्सक्लूसिव बातचीत में एक्स मुस्लिम समीर ने बताया- उन्होंने तबलीगी जमात क्यों छोड़ा?

- Advertisement -

शुक्रवार को प्रदीप भंडारी के शो जनता का मुकदमा में बात करते हुए एक्स मुस्लिम समीर ने बताया कि, मैं उत्तराखंड के हरिद्वार से आता हूं, जब मैं मुसलमान था रोजे रखता था, 9 टाइम की नमाज पढ़ता था. मैं सातवीं-आठवीं कक्षा से तबलीगी जमात से जुड़ा हूं करीबन 14 साल तक मैं कट्टर मुस्लिम था. 18 साल तक तबलीगी जमात में मैंने अपने धर्म के बारे में सीखा इसके अलावा में लोगों को धर्म का उपदेश देता था. मैंने दो हिंदू समाज के व्यक्तियों को इस्लाम में आने की दावत दी और मुझ से प्रेरित होकर उन्होंने इस्लाम धर्म को अपना लिया.

प्रदीप भंडारी ने अपने अगले सवाल में पूछा कि,’कई लोग यह भी कहेंगे कि आप इस्लाम को समझ नहीं पाए इस कारण आपको छोड़ना पड़ा? आपको क्या स्थितियां दिखी जो आपको इस्लाम छोड़ना पड़ा’?

समीर ने बताया कि,’इस्लाम को पूरी तरीके से आज तक दुनिया का कोई भी इंसान नहीं समझ पाया है, अगर कोई भी इंसान दावा करें कि वह इस्लाम को पूरी तरह समझ पाया है तो हमारे इस्लाम में इतने सारे फिरके नहीं बने होते. सबका इस्लाम को समझने का नजरिया अलग है सब की व्याख्या अलग है इसी वजह से इतने सारे फिरके हैं. हम उन्हीं बातों का जिक्र कर रहे हैं जो स्क्रिप्चर में लिखी है और विश्वसनीय है. स्क्रिप्चर में बहुत सारी आयतें ऐसी हैं जिनकी अलग-अलग व्याख्या है, लेकिन हम एक ही व्याख्या लेते हैं जिसमें सबका एक मत होता है.

प्रदीप भंडारी ने पूछा कि, तबलीगी जमात से जुड़े थे तो आप इस्लाम धर्म के लिए कितने समर्पित थे? ऐसा तो नहीं कि आप समझ नहीं पाए इसीलिए आपको धर्म छोड़ना पढ़ा.

समीर ने बताया कि,’शुरुआत में जब मैं तबलीगी जमात से जुड़ा था उस वक्त में इस्लाम के बारे में ज्यादा नहीं जानता था. जैसे-जैसे मैं ध्यान से इस्लाम को पड़ता गया, कई किताबें पढ़ी, कुरान पढ़ी, उर्दू सीखी ताकि मैं लोगों को इस्लाम के बारे में अच्छी जानकारी दूं , और जो इस्लाम के अंदर हैं उनके और अपने ईमान को और मजबूत कर सकूं. इसी नजरिए को लेकर मैं तबलीगी जमात से जुड़ा था

समीर ने आगे बताया कि जब उन्होंने इस्लाम छोड़ा तो उन्हें उनके धर्म के लोगों द्वारा जान से मार देने की धमकी दी गई. उन्हें इतनी धमकियां मिल रही थी कि उन्हें अपने परिवार वालों की सुरक्षा के लिए अपना घर भी छोड़ना पड़ा.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest