Voice Of The People

आप हिन्दू, मुस्लिम, सिख या ईसाई कोई भी हो, लेकिन सबसे पहले आप भारतीय हो: प्रदीप भंडारी की दलील

- Advertisement -

शुक्रवार को अपने शो जनता का मुकदमा में शो के होस्ट प्रदीप भंडारी ने देशभर में हुई हिंसा और तेलंगना में अशोक चक्र को कलमा में बदलने के लिए प्रदर्शनकारियों और सेक्यूलर ग्रुप की चुप्पी पर सवाल उठाया

प्रदीप भंडारी ने कहा की, ‘दोस्तों जो दंगे आज देशभर में हुए इनमें से कुछ भी शांतिप्रिय नहीं है यह सब पूर्व नियोजित तरीके से हुआ है. और यह सब के सब लोग देश के संविधान के विरुद्ध है, यह सब के सब लोग गंगा-जमुना तहजीब के विरुद्ध है, और यह सब के सब लोग देश के सनातन संस्कृति के विरुद्ध हैं. यह संविधान में विश्वास रखने वाले लोग नहीं हैं तभी भारत के तिरंगे में से अशोक चक्र हटाकर कलमा लिख दिया गया. अगर आज आप हिंदू हो, अगर आज आप मुसलमान हो, और अगर आप आज सिख हो या फिर आप किसी भी धर्म के हो मैं आपसे कहना चाहता हूं की आप भारतीय पहले हो, और अगर आपका दिल भारत के लिए धड़कता है और भारत के संविधान के लिए धड़कता है तो इस देश को जलाने वाली साजिश के खिलाफ खुलकर बोलो.’

नूपुर और नवीन के खिलाफ FIR हो चुकी है और कल असदुद्दीन ओवैसी और तमाम वह लोग जिन्होंने शिवलिंग का मजाक उड़ाया था उनके खिलाफ भी FIR हो चुकी है. हम एक संवैधानिक देश है जहां कानूनी कार्रवाई से चला जाएगा, ना कि सड़क पर सर तन से जुदा कहकर चला जाएगा. इसीलिए सब लोग जो सर तन से जुदा कह रहे हैं देशवासियों को इनके खिलाफ एकजुट खड़े होना पड़ेगा और इसके खिलाफ कानून को कठोर कार्रवाई करनी पड़ेगी. वरना हमारे देश में और तालिबान में कोई फर्क नहीं रह जाएगा. क्योंकि हम भारत हैं तालिबान या पाकिस्तान नहीं है. इसलिए हम कानूनी रूप से काम करेंगे और यह सब के सब जो सड़क पर खड़े हैं इनके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई होगी. सर कलम करने वाली धमकियों पर अगर आप और मैं भले ही किसी भी मजहब के हो अगर खुलकर नहीं बोलेंगे तो देश नीचे जाएगा.

और आगे प्रदीप भंडारी ने जनता का मुकदमा में देशवासियों से अपील करते हुए कहा की , ‘सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा, देश रहेगा तो हम सब रहेंगे. तो आज एक अंतरराष्ट्रीय टूलकिट हमारे देश को कमजोर करने के लिए तैयार है, और बहुत समय से काम कर रही है. मेरी आप सब से अपील है देश की सोचे, देश को जोड़ने की सोचे, ना की देश को जलाने की सोचे. चलो हम अपने देश के लिए एकजुट होते हैं, और आज शुक्रवार को शांतिप्रिय विरोध के नाम पर हुई आगजनी, पथराव, सड़क पर सर कलम करने वाली धमकी के खिलाफ खुलकर बोले.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest