Voice Of The People

थैलसीमीया एंड चाइल्ड वेलफेयर ग्रुप ने पीड़ित बच्चों के लिए डे केयर सेंटर में बनाई लाइब्रेरी

- Advertisement -

थैलसीमीया एंड चाइल्ड वेलफेयर ग्रुप, इंदौर जन की बात का सोशल मीडिया पार्टनर है. डे केयर सेंटर में हर महीने रक्त चढ़वाने के लिए थैलसीमीया पीड़ित बालक चार से पाँच घंटे भर्ती रहते हैं. थैलसीमीया एंड चाइल्ड वेलफेयर ग्रुप वहां हर दिन नियमित रूप से कार्य करती है, इस दौरान उन्होंने देखा कि सभी बच्चे उन चार से पाँच घंटों के दौरान लगातार अपने मोबाइल पर गेम खेलते रहते हैं जिससे उनकी आंखों पर गलत प्रभाव पड़ता है. इन्हीं समस्याओं को मद्देनजर रखते हुए संस्था ने सोचा कि बच्चों लिए अगर लाइब्रेरी बनाकर उन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित किया जाए तो अच्छा रहेगा और इस प्रयास से बच्चे पढ़ाई की तरफ भी ज्यादा आकर्षित होंगे.

थैलसीमीया एंड चाइल्ड वेलफेयर ग्रुप ने यहां डॉक्टर प्रीति मालपानी के सहयोग से लायबेरी बनाईं जिसमें करीबन 350 किताबें रखी गई है. लाइब्रेरी के अंदर बच्चों के लिए अलग-अलग विषयों जैसे कहानी, जेनरल नॉलेज और महा पुरुषों की जीवनी की रंगीन चित्रमयी कहानी की आदि बुक्स रखी है. जब बच्चे खून चढ़ाने के लिए भर्ती होते हैं उस दौरान वार्ड के अरविंद और दिलीप बच्चों को उनकी पसंदीदा किताब पढ़ने के लिए देते हैं और जब बच्चे वापस जाते है तो उसको अलमारी में रख देते हैं.

थैलसीमीया एंड चाइल्ड वेलफेयर ग्रूप की प्रेसिडेंट डॉक्टर रजनी भंडारी ने बताया की ये डे केयर सेंटर चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में है. सभी अस्पतालों के डाक्टर्ज़ ने थैलसीमीया एंड चाइल्ड वेलफेयर ग्रूप द्वारा बच्चों के लिए किए इस प्रयास की बहुत प्रशंसा की है.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest