Voice Of The People

SCO सम्मेलन में राजनीति करने वालों को देश से माफी मांगनी चाहिए-प्रदीप भंडारी की दलील

- Advertisement -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एससीओ शिखर सम्मेलन में शिरकत की। इस दौरान उनके साथ उजबेकिस्तान, चीन, रूस, ईरान व पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भी मौजूद रहे। पीएम मोदी ने बैठक के बाद हिंदी में सभी राष्ट्राध्यक्षों को संबोधित किया। उसके बाद पीएम मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ द्विपक्षीय बैठक भी की।

शुक्रवार को अपने शो जनता का मुकदमा पर शो के होस्ट प्रदीप भंडारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इसी सम्मेलन के बारे में बात की।

प्रदीप भंडारी ने कहा कि, देश के सामने दो तस्वीर हैं।‌पहली तस्वीर पीएम मोदी की है जहां पीएम मोदी ने देश का मान सम्मान बढ़ाया और SCO में इकलौते ऐसे नेता के रूप में उभरे जिन्होंने स्वतंत्र विदेश नीति का रुख किया, जिन्होंने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से ये तक कह दिया की “डिप्लोमेसी का और शांति का रास्ता विश्व में आपको आगे का रास्ता दिखाएगा ‌”

दूसरी तस्वीर में राहुल गांधी जो विदेश आकर भारत की नीतियों की आलोचना करते हैं जिनके राइट हैंड गौरव गोगोई इस बात को साबित करने में लगे थे कि चाइना से हिंदुस्तान कैसे SCO में पिछड़ गया और जिनके कार्यकर्ताओं ने आज केरला में एक सब्जी बेचने वाले को सिर्फ इसीलिए पीटा क्योंकि उसने 2000 रुपए चंदा देने से मना कर दिया

तथ्य क्या है दोस्तों

पहला पाकिस्तान पीएम SCO पर भीख मांगते रहे और भारत इस बात पर गर्व  कर रहा था की उसके पास 100 से ज्यादा यूनिकॉर्न कंपनी हैं।

दूसरा चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत को धन्यवाद दे रहे थे अगली SCO समिट की अध्यक्षता करने के लिए, पर फिर भी पीएम मोदी उनसे नहीं मिले

प्रदीप भंडारी ने आकर कहा कि, इसमें को दो राय नहीं हैं की विश्व में अब मोदी के अंदर भारत की विदेश नीति पर कोई मुल्क भले वो कोई भी हो ना परभाव डाल सकता है, ना दबाव इसलिए पूरा समरकंद कह रहा है मोदी ,मोदी।

 

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest