Voice Of The People

Gujarat Elections: पीएम नरेंद्र मोदी का वलसाड से है पुराना नाता, पढ़िए ये रिपोर्ट

- Advertisement -

गुजरात में 182 विधानसभा सीटों पर 1 और 5 दिसंबर को मतदान होंगे। इसी के साथ मिशन गुजरात के लिए सभी दल जोर-शोर से आजमाइश में जुट गए हैं। आज पीएम मोदी गुजरात के वलसाड से चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। इससे पहले विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वलसाड में अपनी पहली चुनावी रैली की थी।

सवाल है कि आखिर पीएम मोदी ने अपनी पहली रैली के लिए वलसाड ही क्यों चुना। दरसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वलसाड से एक पुराना नाता है। जानें –

पीएम मोदी की ये तस्वीर जनवरी 2003, वलसाड, गुजरात की हैं जहां वो पारसी समुदाय के एक कार्यक्रम में भाजपा के पार्टी चिन्ह ‘कमल’ का वितरण करते दिख रहे है।

दूसरी तस्वीर में आप  देख सकते है जो 2004 की हैं, जब कन्या केलवानी रथ यात्रा गुजरात के वलसाड के कई गांवों में गई थी। राज्य में महिला साक्षरता दर में सुधार के लिए कन्या केलवानी योजना के तहत पीएम मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने लड़कियों को स्कूल छोड़ने से रोकने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की।

तीसरी तस्वीर 1989 की  है जो वलसाड में नरेंद्र मोदी की जनसभा की एक समाचार क्लिप है,  उस समय पीएम मोदी भाजपा गुजरात के राज्य महासचिव थे। इस भाषण में, उन्होंने उल्लेख किया कि कैसे भाजपा भारत की अंतरराष्ट्रीय स्थिति को बढ़ाने की इच्छा रखती है।

जिसका विधायक उसकी सरकार

माना जाता है वलसाड में जिस पार्टी का विधायक होता है उसी की सरकार बनती है। बीजेपी वलसाड निर्वाचन क्षेत्र पिछले 32 सालों से लगातार जीत रही है और सत्ता का स्वाद चख रही है। इससे पहले कांग्रेस ने वलसाड से जीत दर्ज कर गुजरात में शासन किया था। 1975 से गुजरात में यह ट्रेंड देखने को मिल रहा है।

1975 में कांग्रेस (ओ) के उम्मीदवार केशव पटेल वलसाड सीट से जीते थे। उस साल कांग्रेस से टूटकर बनी कांग्रेस (ओ) ने भारतीय जनसंघ, केएमएलपी और अन्य के साथ जनता मोर्चा की गठबंधन सरकार बनाई थी और बाबूभाई पटेल सीएम बने थे।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest