Voice Of The People

मोइरांग में INA स्मारक आधुनिक भारत का एक तीर्थस्थल है: दत्तात्रेय होसबोले

- Advertisement -

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह महासचिव दत्तात्रेय होसबोले ने पराक्रम दिवस के अवसर पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि मणिपुर के मोइरांग में स्थित INA (भारतीय राष्ट्रीय सेना स्मारक) आधुनिक भारत का तीर्थस्थल है।

होसबोले ने सोमवार सुबह INA मेमोरियल, मोइरांग की अपनी यात्रा के दौरान कहा- “भारत माता के महान सपूत नेताजी सुभाष चंद्र बोस को उनकी जयंती पर मेरी विनम्र श्रद्धांजलि है, उनकी अदम्य देशभक्ति की भावना और अविस्मरणीय कार्य सभी भारतीयों के लिए सदैव प्रेरणादायी हैं। स्मारक (मोइरांग) आधुनिक भारत का एक तीर्थस्थल है,”

आरएसएस के सहकार्यवाह, जो मणिपुर में चार दिवसीय दौरे पर हैं, INA स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित करके पराक्रम दिवस के राष्ट्रव्यापी उत्सव में शामिल हुए, जहां नेताजी ने 1944 में भारतीय धरती पर पहली बार स्वतंत्र भारत का झंडा फहराया था।

“INA भारत के स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा। INA के महान बलिदान और अंग्रेजों के खिलाफ युद्ध के कारण ही करोड़ों भारतीय ब्रिटिश साम्राज्य के खिलाफ आवाज उठाने और स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए उत्साहित हुए। होसबोले ने कहा, मुंबई INA के आंदोलन और सैकड़ों और हजारों पुरुषों और महिलाओं द्वारा किए गए बलिदानों से प्रेरित था।

उन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में मणिपुर और पूर्वोत्तर के लोगों के बलिदान की भी प्रशंसा की, उन्होंने कहा की INA के योगदान ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम को उसके समापन तक पहुँचा दिया’

दत्तात्रेय होसबोले ने असम क्षेत्र कार्यवाह के एच राजेन सिंह, असम क्षेत्र प्रचारक उल्हास कुलकर्णी, असम क्षेत्र प्रचारक प्रमुख एमएम अशोकन, के साथ INA मुख्यालय और संग्रहालय का भी दौरा किया। अपनी यात्रा के दौरान होसबोले ने मोइरांग में स्थानीय गणमान्य लोगों और सामाजिक कार्यकर्ताओं से भी बातचीत की।

SHARE
Vipin Srivastava
Vipin Srivastava
journalist, writer @jankibaat1

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest