Voice Of The People

Fake news in the Times of a Pandemic

By Priyam Shukla and Mukul Sharma on March 31, 2020

An event of mass influence and fake news is a customary amalgamation India is witnessing ever since the undocumented technological revolution influxed into the grass-root levels of Indian Society. Fallout information coming out of Social Networks can be a big threat to the society itself. The ongoing Pandemic — COVID-19 is the subject of a parallel ‘Infodemic’ whose main content contributors are the quasi-woke people with their hands on a mobile phone and an ever-tickling craving to educate the proximal fellow beings with related information irrespective of its credibility. Hundreds of Whatsapp forwards about ‘Corona virus’ are being circulated in this global emergency which is often seen affecting people in a way which imparts from concepts like Common sense and basic scientific temperament of society at large. Following are some such fake news elements which have made the society act in a way it should not have while reacting to an emergency of this intensity.

Contagion horror of Delhi’s Anand Vihar via Whatsapp forwards:

(Translation: “Important information — If any of your acquaintance from Uttar Pradesh is stuck in Delhi then the Uttar Pradesh government has arranged the Transport for them. Buses will be available from Anand Vihar Bus Terminal…”)

Must Read

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

भारत में 47% कोरोना मामले 40 वर्ष से कम आयु वर्ग के

नितेश दूबे, जन की बात कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन शाम को...

Latest

आजादी के बाद देश में सबसे बड़ा टिड्डी दल का हमला

  देश के किसानों के लिए इस वक्त करोना वायरस से ज्यादा बड़ा मुद्दा टिड्डी दल का हमला बन गया है। पाकिस्तान से आया टिड्डीयों...

महाराष्ट्र में राहुल गांधी के बयान के बाद सियासी घमासान

महाराष्ट्र में कोरोना के साथ-साथ राजनीतिक घमासान मचा हुआ है। बीजेपी - शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन पर आरोप लगा रही है कि तीनों...

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

महाराष्ट्र में ट्रेन भेजने पर घमासान जारी

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और रेल मंत्री पीयूष गोयल के बीच यह ट्विटर वॉर 24 मई को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के बाद शुरू हुई।