Voice Of The People

उत्तर प्रदेश में कोरोना से हुई 2 मौत के पीछे की कहानी

नितेश दूबे, जन की बात

देशभर में कोरोमा के मामले बढ़ रहे हैं। लेकिन अब उत्तर प्रदेश से भी चिंताजनक खबरें आना शुरू हो गई हैं। अभी तक उत्तर प्रदेश में कोरोना के कारण कोई मौत नहीं हुई थी। हालांकि कोरोना के मामले 100 से अधिक पार कर गए, लेकिन अब उत्तर प्रदेश में कोरोना से 2 मौत सामने आ गई है। उत्तर प्रदेश में कोरोना से एक बस्ती जिले के 25 वर्षीय युवक की, तो वहीं मेरठ की एक 72 वर्षीय वृद्ध की जान चली गई।

पहली मौत बस्ती और दूसरी मेरठ

उत्तर प्रदेश में पहली मौत बस्ती जिले में हुई। खबर के अनुसार बस्ती निवासी 25 वर्षीय युवक हसनैन अली को खांसी, बुखार और जुकाम के लक्षण के कारण गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। भर्ती के 2 दिन बाद उसकी मौत हो गई और मरने के 1 दिन बाद जब उसकी जांच रिपोर्ट आई तो कोरोना पॉजिटिव पाया गया।

वहीं पर उत्तर प्रदेश में दूसरी मौत मेरठ में 72 वर्षीय वृद्ध की हुई। खबर के अनुसार वृद्ध को कोरोना उसके दामाद के कारण हुआ था। उसका दामद जो कि महाराष्ट्र के अमरावती में कारोबारी है ,वह मेरठ आया था और उसके कारण उसको कोरोना हुआ।  29 मार्च को वृद्ध की मेडिकल रिपोर्ट आई थी और उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। मंगलवार से उसकी हालत तेजी से बिगड़ने शुरू हुई और 75 फ़ीसदी ऑक्सीजन पर भी वह रिकवर नहीं हो पा रहा था। बुधवार को सुबह 9 बजे से हालत बिगड़ने लगी और 11 बजे उसकी मौत हो गई।

हालांकि उत्तर प्रदेश में दोनों मौतें जो हुई है उनको अन्य बीमारियां भी थी और जो 72 वर्षीय वृद्ध की मौत हुई है उसको डायबिटीज भी था।

प्रशासन की कमी आई सामने

उत्तर प्रदेश में कोरोना से हुई पहली मौत के मामले में गोरखपुर और बस्ती प्रशासन की कमी भी सामने आई। गोरखपुर में जिस 25 वर्षीय युवक की कोरोना से मौत हुई है उसे कोरोना के साथ अन्य बीमारियां हुई थी लेकिन उसे सामान्य मरीज वाले वार्ड में रखा गया। सामान्य मरीज वाले वार्ड में रखने के कारण उसका इलाज भी सामान्य डॉक्टरों ने किया और कोई खास सावधानी नहीं बरती जिससे उस मरीज के संपर्क में कई डॉक्टर और मरीज भी आए। बाद में मरने के बाद उसकी डेड बॉडी भी उसके परिजनों को दे दी और उसके अंतिम यात्रा में कई लोग शामिल हुए।

हालांकि अब पुलिस ने घर को सील कर दिया है और छह अन्य लोगों को भी बस्ती के जिला अस्पताल में भर्ती किया गया और जांच के सैंपल लखनऊ के मेडिकल कॉलेज में भेज दिया गया है।

Must Read

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

भारत में 47% कोरोना मामले 40 वर्ष से कम आयु वर्ग के

नितेश दूबे, जन की बात कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन शाम को...

Latest

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

महाराष्ट्र में ट्रेन भेजने पर घमासान जारी

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और रेल मंत्री पीयूष गोयल के बीच यह ट्विटर वॉर 24 मई को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के बाद शुरू हुई।

यूपी में गठित होगा श्रमिक कल्याण आयोग, प्रदेश में ही मिलेगा रोजगार

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बाद देश में लाखों प्रवासी श्रमिक विभिन्न राज्यों से अपने गृह राज्य वापस लौट रहे है।

प्रवासी मजदूरों के हर मुश्किलों में साथ खड़ा है जन की बात

  आज पूरा देश इस महामारी से बचाव के लिए देश में लॉक डाउन जैसी समस्या से जूझ रहा है। इस समय अगर सबसे ज्यादा...