Voice Of The People

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी दिए थे कई आक्रमक बयान

- Advertisement -

नितेश दूबे

दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने अपनी पूरी फौज उतार दी थी। इसी कड़ी में बीजेपी ने अपने फायर ब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ को भी चुनावी मैदान में उतारा था। इसके बाद योगी आदित्यनाथ ने एक के बाद एक कई रैलियां की थीं। यहां तक कि योगी आदित्यनाथ ने शाहीन बाग के बगल भी एक रैली की थी। इस दौरान उन्होंने ओवैसी को हनुमान चालीसा पढ़ने जैसी बात की थी। बीजेपी योगी के आक्रामक बयानों के जरिए चुनाव को अपने पक्ष में करना चाहती थी। हालांकि ऐसा हुआ नहीं, लेकिन बीजेपी को अपना वोट प्रतिशत बढ़ाने में जरूर मदद मिली।

योगी का “गोली मारो” बयान

आपको बता दें कि जब दिल्ली विधानसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ चुनाव प्रचार करने उतरे तो वह मुख्य रूप से दो मुद्दों पर बोल रहे थे। एक था नागरिकता संशोधन बिल दूसरा था शाहीन बाग। इस दौरान योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि जो लोग कश्मीर में आतंकवादियों का समर्थन करते हैं, वही लोग आज शाहीन बाग में धरना दे रहे हैं और आजादी के नारे लगा रहे हैं।

इस दौरान दिल्ली के रोहिणी विधानसभा क्षेत्र में एक रैली को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने यहां तक कह दिया था कि जो गोली से नहीं मानेगा, वो बोली से तो मानेगा। यह बयान योगी आदित्यनाथ ने उस बयान के संदर्भ में दिया गया था जिसमें उनसे पूछा गया था कि कांवड़ यात्रा पर अगर कोई हमला करेगा तो क्या होगा।

आप सरकार जहरीला पानी पिला रही

आपको बता दें कि दिल्ली चुनाव में पानी भी एक अहम मुद्दा बना था। क्योंकि लोगों के ऐसी शिकायत थी कि उनके घर में गंदा पानी आता है और यहां तक कि पानी में कीड़े में निकलते थे। जन की बात की टीम ने एक पानी को लेकर पड़ताल भी की थी। जिसमें हमने पाया था कि दिल्ली के दूरदराज क्षेत्रों में पानी में कीड़े आते हैं। इस दौरान योगी आदित्यनाथ ने इस संदर्भ में कहा था कि दिल्ली सरकार लोगों को पानी नहीं दे पा रही विकास क्या करेगी? योगी ने कहा था कि दिल्ली सरकार लोगों को जहरीला पानी दे रही है और जो लोग शाहीन बाग में धरने दे रहे हैं उन्हें बिरयानी सप्लाई कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

जन की बात “कू” पोल- क्या बंगाल में आठ चरण में चुनाव कराना सही निर्णय है?

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

बंगाल में आठ चरण में चुनाव क्यों?: प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

क्या बंगाल चुनाव में महिलाएं बनेंगी “किंग मेकर”? : प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल के चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है और पूरी उम्मीद है कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव की घोषणा...

जन की बात के “कू” पोल में जानिए प्रधानमंत्री मोदी और ममता बनर्जी में कौन है अधिक लोकप्रिय?

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है लेकिन चुनावी सरगर्मियां बढ़ चुकी हैं और यह भी अनुमान लगाया जा...

Latest

जन की बात “कू” पोल- क्या बंगाल में आठ चरण में चुनाव कराना सही निर्णय है?

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

बंगाल में आठ चरण में चुनाव क्यों?: प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

क्या बंगाल चुनाव में महिलाएं बनेंगी “किंग मेकर”? : प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल के चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है और पूरी उम्मीद है कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव की घोषणा...

जन की बात के “कू” पोल में जानिए प्रधानमंत्री मोदी और ममता बनर्जी में कौन है अधिक लोकप्रिय?

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है लेकिन चुनावी सरगर्मियां बढ़ चुकी हैं और यह भी अनुमान लगाया जा...