Voice Of The People

जन की बात ऑनलाइन सर्वे- 66% लोगों ने माना चाइना को मिलिट्री के साथ आर्थिक रूप से भी सबक सिखाया जाए

- Advertisement -

 

आपको बता दें कि 15 और 16 जून को भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। इसके साथ ही भारतीय जवानों ने भी अपना पराक्रम और शौर्य दिखाते हुए चीन के 43 से अधिक जवानों को मारा था। चाइना ने हमला धोखे से किया था और चाइना ने हमले के लिए कील वाली स्टील रॉड का इस्तेमाल किया था। हालांकि चाइना यह मानने को तैयार नहीं कि उसके कितने सैनिक मरे थे। लेकिन अमेरिकी खुफिया विभाग ने भी माना कि चाइना के 1 अफसर समेत 35 लोग इस हिंसक झड़प में मारे गए। पूरे घटनाक्रम के बाद पूरे देश में चाइना के खिलाफ आक्रोश का माहौल है। लोग चाइना के प्रोडक्ट को बायकाट करने की बात कर रहे हैं और मांग भी कर रहे हैं। इसी क्रम में भारत सरकार भी धीरे-धीरे बड़ा फैसला ले रही है और प्रधानमंत्री ने कल ही अपने बयान में स्पष्ट किया था कि भारत जवानों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देगा। समय आने पर भारत माकूल जवाब देगा।

आपको बता दें कि भारत में व्याप्त लोगों के मन में आक्रोश को जानने के लिए जन की बात ने एक ऑनलाइन सर्वे किया। इस सर्वे के दौरान हमने जानने की कोशिश की कि चाइना को कैसे रोका जा सकता है

आइए जानते हैं क्या रहा सर्वे का रिजल्ट:-

क्या कहता है सर्वे?

इसी पूरे घटनाक्रम को लेकर जन की बात की टीम ने एक ऑनलाइन सर्वे किया। जिसमें हमने जानने की कोशिश की कि भारत आखिर में चाइना को किस तरीके से जवाब दें। आपको बता दें कि इस सर्वे में भारी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया और अपना मत रखा। इस सर्वे में हम लोगों को तीन ऑप्शन दिए थे।  चाइना का इलाज मिलिट्री द्वारा हो, दूसरा ऑप्शन था कि चाइना का इकोनामिक बॉयकॉट हो और तीसरा ऑप्शन था कि चाइना का मिलिट्री और इकोनोमिक दोनों तरीके से इलाज हो।

आपको बता दें कि इस सर्वे में 5580 लोगों ने अपना मत प्रयोग किया। इस दौरान 16% लोगों ने कहा कि चाइना का इलाज मिलिट्री रिस्पांस के तहत किया जाए जबकि 18% लोगों ने माना कि चाइना का इकोनोमिक यानी कि आर्थिक तरीके से बॉयकॉट हो। वहीं पर सर्वे में 66% लोगों ने माना कि चाइना का मिलिट्री के साथ-साथ आर्थिक तौर पर बायकॉट हो और तभी चाइना के होश ठिकाने आएंगे।  इस सर्वे से यह पता चलता है कि लोगों के मन में चाइना के प्रति कितना गुस्सा भरा है। इस वक्त लोग शहीद जवानों का बदला तो लेना चाह ही रहे हैं लेकिन साथ ही साथ चाइना को हमेशा हमेशा के लिए आर्थिक तौर पर भारत से खत्म करना चाह रहे हैं।

आपको बता दें कि पूरे घटना क्रम पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि जब भारत की अखंडता और संप्रभुता पर खतरा आएगा तब भारत शक्ति प्रदर्शन करने से भी नहीं हिचकेगा। भारत हमेशा से शांति चाहता है। शहीद जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। समय आने पर माकूल जवाब दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

तीन घण्टे की पूछताछ के बाद बाहर आए प्रदीप भंडारी, मुम्बई पुलिस ने भेजा था समन

मुंबई पुलिस द्वारा रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के पत्रकारों को लगातार परेशान किया जा रहा है। आपको बता दें कि आज तीसरी बार रिपब्लिक मीडिया...

मुंबई पुलिस ने प्रदीप भंडारी को भेजा नया समन, प्रदीप भंडारी 11 बजे पहुंचेंगे खार पुलिस स्टेशन

मुंबई पुलिस द्वारा रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के पत्रकारों को और उनके editor-in-chief अर्नब गोस्वामी को लगातार परेशान किया जा रहा है। इसी क्रम में...

प्रदीप भंडारी ने प्रस्तुत किया जन की बात का एग्जिट पोल, बोलें- होगी कांटे की लड़ाई

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने आज जन की बात का बिहार एग्जिट पोल रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क पर प्रस्तुत किया।...

देश की सबसे बड़ी चुनावी सर्वे टीम के साथ जुड़ने के लिए बचे हैं 4 घंटे

अगर आप बिहार चुनाव के दौरान जमीनी हकीकत को जनता से रूबरू कराना चाहते हैं और देश की सबसे बड़ी सर्वे टीम के साथ...

Latest

तीन घण्टे की पूछताछ के बाद बाहर आए प्रदीप भंडारी, मुम्बई पुलिस ने भेजा था समन

मुंबई पुलिस द्वारा रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के पत्रकारों को लगातार परेशान किया जा रहा है। आपको बता दें कि आज तीसरी बार रिपब्लिक मीडिया...

मुंबई पुलिस ने प्रदीप भंडारी को भेजा नया समन, प्रदीप भंडारी 11 बजे पहुंचेंगे खार पुलिस स्टेशन

मुंबई पुलिस द्वारा रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के पत्रकारों को और उनके editor-in-chief अर्नब गोस्वामी को लगातार परेशान किया जा रहा है। इसी क्रम में...

प्रदीप भंडारी ने प्रस्तुत किया जन की बात का एग्जिट पोल, बोलें- होगी कांटे की लड़ाई

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने आज जन की बात का बिहार एग्जिट पोल रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क पर प्रस्तुत किया।...

प्रदीप भंडारी को मुंबई पुलिस ने भेजा एक और समन, पूछताछ के लिए खार पुलिस स्टेशन बुलाया

सुशांत सिंह राजपूत के न्याय के लिए आवाज उठाने वालों को महाराष्ट्र पुलिस और सरकार लगातार परेशान कर रही है। बता दें कि रिपब्लिक...