Voice Of The People

पाकिस्तान की सेना ने आतंकवादियों को दिया अपने पत्रकारों को मारने का ठेका

- Advertisement -

पाकिस्तान की सेना आतंकवादियों के साथ सांठगांठ के लिए हमेशा से पूरी दुनिया में बदनाम है इसीलिए पाकिस्तान की सरकार और उनकी सेना आतंकवादियों को पैसे हथियार से लेकर कर हर तरह की ट्रेनिंग देती आईं हैं।

हमारे देश की पाकिस्तान सीमा बॉर्डर पर जब भी सीजफायर का उल्लंघन होता है तब यही बात कही जाती है कि पाकिस्तान की सेना आतंकवादियों को देश की सीमा में घुसाने के लिए सीजफायर का उल्लंघन कर रही है। ये बात पूरी तरह से सच भी है क्योंकि दुनिया की सबसे ज्यादा सक्रिय और खतरनाक मानी जाने वाली इंडिया-पाकिस्तान सीमा पर हज़ारो नही लाखो की तादाद में दोनों तरफ सेना की चौकसी बनी रहने के बाबजूद भी आतंकवादी बड़ी तादाद में घुसने में इसी लिए कामयाब हो जाते हैं क्योंकी दूसरी तरफ की सेना उन्हें रोकने के लिए नही बल्कि उन्हें घुसाने के लिए वहा तैनात की गई है।

क्या है पूरा मामला ?

तालिबानी प्रवक्ता एहसानउल्लाह ने 2017 में पाकिस्तानी सेना के सामने आत्मसमर्पण किया था।
वहीं जनवरी 2019 में यह खबर आती है कि एहसानउल्लाह फ़ौज की गिरफ्त से भाग गया है।
जिसको वहां की मीडिया से लेकर आम जनता तक मानने से इंकार कर दिया था।

हाल में एहसान उल्लाह ने एक ऑडियो टेप जारी कर इसकी पुष्टि की है कि वह भागा नहीं था बल्कि सेना द्वारा भगाया गया था। सेना ने उसे भगाने से पहले कुछ लोगो के नामो की एक लिस्ट और मारने वाले लोगो की एक टुकड़ी(squard) बनाने की जिम्मेदारी देते हुए बोला कि गद्दारों के खिलाफ काम शुरू करना है।

पाकिस्तान की सेना
एहसान उल्लाह

कौन है एहसानउल्लाह ?

एहसानउल्लाह दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकवादी संगठन में से एक तालिबान का प्रवक्ता है और इसी एहसान उल्लाह के कहने पर 2014 में मलाला यूसुफजई पर गोली चलाई गई थी।

सेना किसको चाहती है मरवाना ?

पाकिस्तान सेना ने लिस्ट में खैबर पख्तूनख्वा क्षेत्र के पश्तून लोगों के साथ-साथ कुछ पत्रकारों के नाम भी दिए थे, जो सेना और सरकार के खिलाफ लगातार आवाज उठाते आए हैं। सेना द्वारा मिले हिट लिस्ट में उन चुनिंदा पत्रकारों की पूरी जानकारी है जिन्हें उसे निशाना बनाने के लिए एक टुकड़ी बनाने को कहा गया था।

कल यानी 12 अगस्त को करीबन 30 महिला पत्रकारों ने सोशल मीडिया कॉल पर मिलने वाली धमकियों का जिक्र किया साथ ही यह भी बताया कि कुछ धमकियां बहुत ही खतरनाक थी उन्होंने आगे बताया कि ऐसी कई पत्रकार हैं जो इस बात का सबके सामने जिक्र तक नही कर सकते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

प्रदीप भंडारी ने प्रस्तुत किया हैदराबाद नगर निगम चुनाव का एग्जिट पोल, पढ़िए रिपोर्ट

इस वक्त पूरे देश में हैदराबाद के नगर निगम चुनाव छाए हुए हैं। बीजेपी ने काफ़ी तगड़ा प्रचार करते हुए हैदराबाद के नगर निगम...

तीन घण्टे की पूछताछ के बाद बाहर आए प्रदीप भंडारी, मुम्बई पुलिस ने भेजा था समन

मुंबई पुलिस द्वारा रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के पत्रकारों को लगातार परेशान किया जा रहा है। आपको बता दें कि आज तीसरी बार रिपब्लिक मीडिया...

मुंबई पुलिस ने प्रदीप भंडारी को भेजा नया समन, प्रदीप भंडारी 11 बजे पहुंचेंगे खार पुलिस स्टेशन

मुंबई पुलिस द्वारा रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के पत्रकारों को और उनके editor-in-chief अर्नब गोस्वामी को लगातार परेशान किया जा रहा है। इसी क्रम में...

प्रदीप भंडारी ने प्रस्तुत किया जन की बात का एग्जिट पोल, बोलें- होगी कांटे की लड़ाई

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने आज जन की बात का बिहार एग्जिट पोल रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क पर प्रस्तुत किया।...

Latest

प्रदीप भंडारी ने प्रस्तुत किया हैदराबाद नगर निगम चुनाव का एग्जिट पोल, पढ़िए रिपोर्ट

इस वक्त पूरे देश में हैदराबाद के नगर निगम चुनाव छाए हुए हैं। बीजेपी ने काफ़ी तगड़ा प्रचार करते हुए हैदराबाद के नगर निगम...

तीन घण्टे की पूछताछ के बाद बाहर आए प्रदीप भंडारी, मुम्बई पुलिस ने भेजा था समन

मुंबई पुलिस द्वारा रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के पत्रकारों को लगातार परेशान किया जा रहा है। आपको बता दें कि आज तीसरी बार रिपब्लिक मीडिया...

मुंबई पुलिस ने प्रदीप भंडारी को भेजा नया समन, प्रदीप भंडारी 11 बजे पहुंचेंगे खार पुलिस स्टेशन

मुंबई पुलिस द्वारा रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के पत्रकारों को और उनके editor-in-chief अर्नब गोस्वामी को लगातार परेशान किया जा रहा है। इसी क्रम में...

प्रदीप भंडारी ने प्रस्तुत किया जन की बात का एग्जिट पोल, बोलें- होगी कांटे की लड़ाई

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने आज जन की बात का बिहार एग्जिट पोल रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क पर प्रस्तुत किया।...