Voice Of The People

कैसे कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में कारगर साबित हो रहा कोविन एप?

- Advertisement -

खुशी गुप्ता, जन की बात

देश के लिए आज का दिन बेहद खास है। कोविड-19 महामारी को हराने के लिए जो वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरू हुआ था, उसके आज 101करोड़ डोज पूरे हो गए। करीब 32% से ज़्यादा आबादी को दोनों डोज लग चुके हैं। 101 करोड़ से ज्यादा आबादी वाले भारत में वैक्सीनेशन का काम आसान कभी नहीं था। कोरोना वायरस से बचने के लिए हर इंसान सबसे पहले वैक्सीन लेना चाहता था। लोगों में हड़बड़ी न हो और वैक्सीनेशन का काम आराम से हो सके, इसके लिए एक प्रॉपर चैनल सबसे जरूरी था। इस चैनल का काम किया कोविन ऐप ने।

सरकार के इस निर्णय से पूरी जनता आराम से वैक्सीनेशन करवाकर सुरक्षित रह सकती है। आपको बता दें कि कोविन ऐप की मदद से ही 101करोड़ डोज का सफर आसानी और तेजी से पूरा हो पाया है। इस प्लेटफॉर्म को ऐसे डिजाइन किया गया है कि लोग आसानी से अपना रजिस्ट्रेशन करा सकें। सरकार ने इसका ऐप भी बनाया। इसे एंड्रॉयड और आईओएस दोनों प्लेटफॉर्म पर इस्तेमाल कर सकते हैं। कोविन प्लेटफॉर्म सिस्टमैटिक है। ये ऐसा सिंगल प्लेटफॉर्म है जहां से रजिस्ट्रेशन, वैक्सीनेशन और सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं।

कोविड महामारी से जीतने के लिए ही इसे Co-WIN का नाम दिया गया। इसमें Co का मलतब कोविड और WIN का मतलब जीत है। आप वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं, तब कोविन प्लेटफॉर्म पर जाना होगा। इस प्लेटफॉर्म से आप वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। साथ ही, अपने वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट भी डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए सिर्फ आपको इस प्लेटफॉर्म पर लॉग इन करना है। यदि आप विदेश जा रहे हैं तब इसके लिए यहां से इंटरनेशनल ट्रैवल सर्टिफिकेट भी डाउनलोड कर सकते हैं।

SHARE
Sombir Sharma
Sombir Sharmahttp://jankibaat.com
Sombir Sharma - Journalist

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest