Voice Of The People

क्या सिद्धू मूसेवाला के राजनीति में आने के कारण आईएसआई और खालिस्तान ने उनकी मौत का षड्यंत्र रचा?- प्रदीप भंडारी की दलील

- Advertisement -

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के हत्यारों को पंजाब पुलिस ने  ढेर कर दिया है। DGP के मुताबिक अटारी बॉर्डर के पास पुलिस ने एनकाउंटर में दोनों शूटरों को मारा है। यह मुठभेड़ कई घंटों चली और शाम तक पुलिस को सफलता मिली है. इस एनकाउंटर में शूटर जगरूप सिंह रूपा और मन्नू कुसा मारे गए हैं. साथ ही तीन पुलिसकर्मी घायल भी हो गए।

बुधवार को जनता का मुकदमा शो के होस्ट प्रदीप भंडारी ने सिद्धू मूसेवाला की मौत के पीछे पाकिस्तानी और खालिस्तानी साजिस पर बात की।

प्रदीप भंडारी ने कहा कि, “हर मर्डर का एक मकसद होता है, उद्देश्य होता है, 52 दिन बाद पंजाब पुलिस ने सिद्धू मूसेवाला मर्डर मे दो गैंगस्टर रूपा और मन्नू कुसा को एक मुठभेड़ में मार गिराया है। पर आज सवाल कई है देश की जनता के मन में –

पहला सवाल ये है की दोनो गैंगस्टर पाकिस्तान बॉर्डर के करीब क्या कर रहे थे?

दूसरा, इनके पास AK 47 कहा से आई, किसने सप्लाई की?

तीसरा, 5 घंटे चले एनकाउंटर में इनको कोई OGW नेटवर्क बॉर्डर पर मदद कर रहा था ये जांच का विषय है।

चौथा, क्या पाकिस्तान आईएसआई इसमें शामिल हो सकती है?

पांचवा, क्या रिंडा को पाकिस्तानी आईएसआई का सिपाही है, और 2020 में हिंदुस्तान से पाकिस्तान भाग गया था, वह उनको हथियार सप्लाई कर रहा था?

छठा,क्या गैंग वॉर के बहाने असली सिद्धू मूसेवाला के षडयंत्र के पीछे की बड़ी साजिश को छुपाने की कोशिश की जा रही है? क्या शरद पार ये साजिश रची गई?

 

इन सभी जुड़े तारो को नज़र अंदाज़ किया जा रहा है और इसे गैंग वॉर का नाम दिया जा रहा था। इस पर बहस भी करनी जरूरी है और यह जांच का भी विषय है। 5 घंटे ये इनकाउंटर चला है, इनके पास से AK47 बरामद हुई है और इनके पास एक बैग भी मिला है। अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है की उसमे आरडीएक्स हैं या नही।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest