Voice Of The People

आतंकी संगठनों से संबंध, हेट कैंपेन, लव जिहाद और हत्याओं के लिए कुख्यात PFI जल्द होगा बैन- प्रदीप भंडारी की दलील

- Advertisement -

आतंकवादियों की कमर तोड़ने के लिए आज राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA)और प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने तमिलनाडु, केरल समेत 15 राज्यों में PFI के ठिकानों पर छापेमारी की है। छापेमारी के दौरान 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

गुरुवार को अपने शो जनता का मुकदमा पर शो के होस्ट प्रदीप भंडारी ने आतंकवाद के खिलाफ आवाज उठाई और PFI की आतंकवादी गतिविधियों पर मुकदमा किया।

प्रदीप भंडारी ने कहा कि, 2019 में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  हिंदुस्तान के दुश्मनों को एक कड़ा संदेश दिया था जो शरद के पार बैठे उन्हे की ये हमारे देश का सिद्धांत है हम घर पर घुसकर मारेंगे। आज उसी सिद्धांत को देश के गृह मंत्री अमित शाह ने आगे बढ़ाया है हमारे देश के गद्दारों के खिलाफ PFI के खिलाफ।

यह एकदम से नहीं हुआ है इसकी पूरी प्लानिंग 29 अगस्त से हुई थी, जहां पूरी टीम को गठन किया गया था जिसके बाद इस पूरे ग्रुप के खिलाफ कार्यवाही की गई। यह कार्यवाही कल रात‌ 12 बजे शुरू हुई थी और करीबन 16 घंटे चली। अभी तक 45 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है साथ ही राज्य की पुलिस ने 60 लोगों को गिरफ्तार किया है।

NIA और ED, राज्य की पुलिस ने कारवाही और  मलप्पुरम जिले के मंजेरी में पीएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष OMA सलाम के अलावा PFI के दिल्ली हेड परवेज अहमद के घर पर छापेमारी की और गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान PFI कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। इसके अलावा कर्नाटक के मंगलुरु में भी NIA की छापेमारी के खिलाफ PFI और SDPI के कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं जिन्हें हिरासत में ले लिया गया है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest