Voice Of The People

श्रद्धा के हत्यारे जल्लाद आफताब अमीन पूनावाला को फांसी हो- प्रदीप भंडारी की दलील

- Advertisement -

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुए श्रद्धा मर्डर केस की वजह से पूरे राज्य में हंगामा है। बॉयफ्रेंड आफताब ने गर्लफ्रेंड श्रद्धा की 6 महीने पहले हत्या कर दी थी और उसके शव के आरी से 35 टुकड़े किए थे। इसके बाद आरोपी आफताब ने शव के टुकड़ों को फ्रिज में रखा और धीरे-धीरे इन टुकड़ों को अलग-अलग जगह फेंकता रहा। दिल्ली पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

सोमवार को अपने शो जनता का मुकदमा पर शो के होस्ट प्रदीप भंडारी ने इसी मुद्दे पर आज का मुकदमा किया।

प्रदीप भंडारी ने कहा कि, आफताब अमीन पूनावाला से श्रद्धा विकास वॉकर बेहद प्यार करती थी। आफताब अमीन पूनावाला ने श्रद्धा को उसके परिवार से दूर किया उससे लड़ाई करता था और जब श्रद्धा विकास वॉकर ने उसको शादी के लिए कहा तो आफताब अमीन ने उसका गला दबाया और उसके शरीर के 35 टुकड़े कर दिए।

आफताब अमीन पूनावाला फिर एक फ्रिज लाया और फ्रिज में उसने उन 35 टुकड़ों को रखा और एक के बाद एक रात 2 बजे के बाद महरौली के जंगलों में उनको ठिकाने लगाता था। श्रद्धा के शरीर के 35 टुकड़े जिस फ्रिज में रखे उसके पास आफताब अगरबत्ती जलाता था जिससे कोई बदबू ना आए उसने चाकू छतरपुर से ढूंढा ,गूगल रिसर्च करी, सब सुनियोजित  तरीके से किया।

लिबरल, फेमिनिस्ट, पढ़ा-लिखा एमएनसी में काम करने वाला सेफ आफताब अमीन पूनावाला ने यह तय कर लिया था कि श्रद्धा विकास वॉकर के पिता को हिंदू आस्था के तहत अंतिम संस्कार भी करने का अवसर ना मिले इसलिए उसने 35 टुकड़े किए। श्रद्धा की मां तो पहले ही चल बसी थी उसके पिता को भी उसने जीते जी ही मार दिया यह एक आफताब की कहानी सामने आई है ऐसे कितने जल्लाद दरिंदे भेड़िए घूम रहे हैं जो किसी श्रद्धा को अपने परिवार से अलग कर उनके 35 टुकड़े करने के लिए तैयार हैं?

वह कहीं भी बैठे हो सकते हैं वह दिखते सम्मानीय हैं, पर है जल्लाद दरिंदे‌ । तो आप माता पिता को ध्यान रखना चाहिए अपने बच्चों का जैसे किसी दूसरी श्रद्धा के आफताब 35 ना कर दे। मैं नफरत नहीं फैला रहा मैं आपके सामने सिर्फ तथ्य रख रहा हूं, आपको सचेत कर रहा हूं। और हां और हां कहां है वह ह्यूमन राइट वाले? अच्छा हां….वह तो इस बात से दुखी है कि हत्यारे का नाम आफताब है ना कि अनिल और लड़की का नाम श्रद्धा है ना कि शमीना क्योंकि तभी वह चिल्ला-चिल्ला कर सड़कों पर आते हैं अभी तो उनको शांत होना है। आज इस शो से मैं सिर्फ एक मांग करता हूं आफताब अमिनपुरा वालों को फांसी दो!

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest