Voice Of The People

जब देश पर आई कोरोना की मुसीबत, सहायता के लिए आगे आए स्वयंसेवक

- Advertisement -

नितेश दूबे, जन की बात

जब देश पर कोरोना जैसी महामारी का संकट आया तो इससे बचाव में सबसे पहले सामाजिक संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के आया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं ने लगभग हर प्रदेश में जरूरतमंदों को राशन और जरूरी सेवाएं देना प्रारंभ कर दिया। संघ के स्वयंसेवक 24 मार्च से ही युद्ध स्तर पर राहत कार्य में जुटे हुए हैं। इस दौरान कई संघ विरोधियों ने भी संघ की तारीफ की है। दिल्ली में सेक्स वर्कर्स भी जब राशन की कमी से परेशान होने लगी तब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने उन तक राशन पहुंचाने का कार्य शुरू किया।

करीब 1 लाख स्वयंसेवक जुटे है कार्य में

जरूरतमंदों को राशन और जरूरी सुविधाओं को पहुंचाने के लिए संघ के करीब 1 लाख स्वयंसेवक जुटे हुए हैं और संघ प्रतिदिन करीब 10 लाख लोगों की सेवा कर रहा है। संघ अपने संगठन सेवा भारती के माध्यम से देशभर के ज्यादातर मंदिरों में खाना भिजवा रहा है जिसे गरीबों के बीच में वितरित किया जा रहा है। यही नहीं संघ के स्वयंसेवक मास्क और सैनिटाइजर बांटने का भी काम कर रहें है जबकि जरूरत पड़ने पर दवाई देने का भी काम कर रहा है। 

2 अप्रैल को शाम को खबर आई कि दिल्ली में मौजूद सेक्स वर्कर्स के पास राशन खत्म हो गया है। 3 अप्रैल को सुबह ही संघ करीब 300 राशन किट लेकर पहुंच गया और वहां पर जरूरतमंदों को राशन वितरित किया। यही नहीं ,संघ ने मास्क भी भिजवाया और जरूरतमंदों को दिया। इसके साथ ही संघ ने 28 अप्रैल से ही लोगों के घर-घर जाकर लोगों को समझाया। ताकि लोग पलायन ना करें और संघ ने भरोसा दिलाया कि संघ उनके साथ खड़ा है।

भारतीय मजदूर संघ भी आया आगे

- Advertisment -

Must Read

जन की बात “कू” पोल:- क्या ममता बनर्जी का भवानीपुर से चुनाव न लड़ना उनके बंगाल चुनाव हारने के डर को दर्शाता है?

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में 2 महीने से कम का वक्त बाकी है और सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी अपनी तैयारियों पर जोर दे...

एनसीबी ने सुशांत ड्रग मामले में रिया चक्रवर्ती को बनाया आरोपी, कोर्ट में दायर हुई 13000 पन्नों की चार्जशीट

सुशांत सिंह राजपूत ड्रग मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने अपनी चार्जसीट दाखिल कर दी है। आपको बता दें कि एनसीबी की चार्जशीट के...

जन की बात “कू” पोल- क्या बीबीसी के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी की माँ को गंदी गाली देने के लिए बीबीसी को बैन कर...

अभी कुछ ही दिन पहले केंद्रीय कानून मंत्री और टेलीकॉम मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि भारत को लेकर विदेशी सोशल मीडिया का...

जन की बात “कू” पोल- क्या बंगाल में आठ चरण में चुनाव कराना सही निर्णय है?

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

Latest

जन की बात “कू” पोल:- क्या ममता बनर्जी का भवानीपुर से चुनाव न लड़ना उनके बंगाल चुनाव हारने के डर को दर्शाता है?

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में 2 महीने से कम का वक्त बाकी है और सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी अपनी तैयारियों पर जोर दे...

एनसीबी ने सुशांत ड्रग मामले में रिया चक्रवर्ती को बनाया आरोपी, कोर्ट में दायर हुई 13000 पन्नों की चार्जशीट

सुशांत सिंह राजपूत ड्रग मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने अपनी चार्जसीट दाखिल कर दी है। आपको बता दें कि एनसीबी की चार्जशीट के...

जन की बात “कू” पोल- क्या बीबीसी के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी की माँ को गंदी गाली देने के लिए बीबीसी को बैन कर...

अभी कुछ ही दिन पहले केंद्रीय कानून मंत्री और टेलीकॉम मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि भारत को लेकर विदेशी सोशल मीडिया का...

जन की बात “कू” पोल- क्या बंगाल में आठ चरण में चुनाव कराना सही निर्णय है?

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...