Voice Of The People

आखिर क्यों कोर्ट ने की सफूरा जरगर की जमानत याचिका पर तल्ख टिप्पणी

- Advertisement -

आपको बता दें कि एनटीसीए प्रोटेस्ट के नाम पर हिंसा भड़काने के आरोप में जेएनयू छात्रा सपुरा जरगर को एक बार फिर कोर्ट से जमानत नहीं मिली है आपको बता दें कि जरगर के वकील ने उन्हें स्वास्थ्य के आधार पर जमानत मांगी थी। खबरें यह है कि सपुरा जरगर प्रेग्नेंट है और वह जमानत पर बाहर निकल कर घर रहना चाहती हैं लेकिन कोर्ट ने ऐसा करने से मना कर दिया और सपुरा जरगर को जेल में ही रहना होगा।

कोर्ट ने क्या कहा?

आपको बता दें कि उनकी जमानत याचिका पर कोर्ट ने कहा कि भले ही उन्होंने कोई प्रत्यक्ष रूप से हिंसा ना की हो लेकिन उन्होंने गैर कानूनी गतिविधि अधिनियम (UAPA) अधिनियम के प्रावधानों के खिलाफ जाकर कार्य किया है।  इस दौरान कोर्ट ने कहा कि उनके खिलाफ भड़काऊ भाषण के भी साक्ष्य मिले हैं और प्रथम दृष्टया यह साबित भी होता है कि चक्का जाम के दौरान उनकी साजिश थी।

आपको बता दें कि इस पर जरगर के वकील ने कहा कि वह प्रेग्नेंट है। तो इस पर कोर्ट ने कहा कि उनकी चिकित्सीय व्यवस्था को अच्छी तरीके से सुनिश्चित करने के लिए पुलिस अधीक्षक को निर्देश भी दिया। साथ ही कहा कि उन्हें तिहाड़ जेल प्रशासन अच्छी चिकित्सा व्यवस्था मुहैया कराई जाए। सफूरा जरगर जेएनयू में एमफिल की छात्रा है।

क्या है आरोप?

आपको बता दें कि सरकार के विरोध की आड़ में सफूरा जरगर पर दिल्ली हिंसा को बढ़ावा देने का आरोप है। आपको बता दें कि 22 फरवरी को जफराबाद मेट्रो स्टेशन पर दूसरा शाहीन बाग बनाने महिलाओं को लेकर सफूरा जरगर ही वहां पर पहुंची,ऐसा पुलिस का कहना है। आपको बता दें कि सीएए और एनआरसी के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों में सफूरा जरगर कई बार भड़काऊ भाषण देते हुए भी दिखती हैं। ऐसे उनके कई वीडियो क्लिप भी पाए गए हैं। साथ ही साथ दिल्ली में हुए भयानक दंगों में सफूरा जरगर की भूमिका भी मानी जा रही है क्योंकि कई सबूतों में उनका नाम आया है और दंगा फैलाने वालों के नेटवर्क की वह अहम कड़ी थी।

आपको बता दें कि सफूरा जरगर गैरकानूनी अधिनियम यानी यूएपीए के तहत जेल में बंद है। उन पर दिल्ली दंगों को बढ़ावा देने का आरोप है। साथ ही साथ सीएए और एनआरसी के विरोध की आड़ में हिंसा फैलाने का भी आरोप है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

सुशांत के जन्मदिन को उनके समर्थकों ने सोशल मीडिया पर “सुशांत डे” के नाम से मनाया

सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु को 7 महीने बीत चुके हैं और आज 21 जनवरी है। यानी आज सुशांत सिंह राजपूत का बर्थडे है।...

कांग्रेस के झूठ के खिलाफ दर्ज़ कराऊंगा मुकदमा:- अर्नब गोस्वामी

अर्नब गोस्वामी ने बयान जारी कर कहा कि कांग्रेस पार्टी ने मेरे ऊपर मैन्युफैक्चर्ड आरोप लगाए कि मैंने नेशनल सिक्योरिटी से समझौता किया। जबकि...

पत्रकार और रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी का करारा जवाब, पढ़िए रिपोर्ट

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा। लेकीन प्रेस कांफ्रेंस के वक्त राहुल...

टीआरपी स्कैम:- ईडी ने इंडिया टुडे के सीएफओ और डिस्ट्रीब्यूशन हेड से घंटो पूछ्तछ की

टीआरपी घोटाले का पूरा तथ्य अब धीरे-धीरे सामने आ रहा है। अंग्रेजी न्यूज़ चैनल इंडिया टुडे के सीएफओ दिनेश भाटिया और डिस्ट्रीब्यूशन हेड केआर...

Latest

सुशांत के जन्मदिन को उनके समर्थकों ने सोशल मीडिया पर “सुशांत डे” के नाम से मनाया

सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु को 7 महीने बीत चुके हैं और आज 21 जनवरी है। यानी आज सुशांत सिंह राजपूत का बर्थडे है।...

कांग्रेस के झूठ के खिलाफ दर्ज़ कराऊंगा मुकदमा:- अर्नब गोस्वामी

अर्नब गोस्वामी ने बयान जारी कर कहा कि कांग्रेस पार्टी ने मेरे ऊपर मैन्युफैक्चर्ड आरोप लगाए कि मैंने नेशनल सिक्योरिटी से समझौता किया। जबकि...

पत्रकार और रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी का करारा जवाब, पढ़िए रिपोर्ट

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा। लेकीन प्रेस कांफ्रेंस के वक्त राहुल...

टीआरपी स्कैम:- ईडी ने इंडिया टुडे के सीएफओ और डिस्ट्रीब्यूशन हेड से घंटो पूछ्तछ की

टीआरपी घोटाले का पूरा तथ्य अब धीरे-धीरे सामने आ रहा है। अंग्रेजी न्यूज़ चैनल इंडिया टुडे के सीएफओ दिनेश भाटिया और डिस्ट्रीब्यूशन हेड केआर...