Voice Of The People

जन की बात ऑनलाइन सर्वे- कोरोना काल के दौरान ममता बनर्जी से लोग संतुष्ट नहीं।

नितेश दूबे,जन की बात

आपको बता दें कि देशभर में इस वक्त कोरोना का प्रकोप चल रहा है। राज्य सरकारें और केंद्र सरकार मिलकर काम कर रही हैं। इस दौरान कई ऐसी राज्य सरकारें भी हैं जिन्होंने कोरोना काल में काफी अच्छा काम किया है तो कई सरकारों के कारण वहां की आम जनता भी कोरोना काल में परेशान हुई है। जन की बात ने भी कोरोना काल के दौरान कई ऐसे सर्वे किए जिसमें हमने पाया कि किस राज्य की सरकार बेहतर काम कर रही है। हमारे एक सर्वे के दौरान ओडिशा देश का सबसे अच्छा राज्य कोरोना के दौरान काम कर रहा था जबकि बंगाल ने सबसे खराब काम किया। इसी क्रम में हमने एक और ऑनलाइन सर्वे किया और यह सर्वे पश्चिम बंगाल के ऊपर था। हमने इस सर्वे में पूछा कि क्या ममता बनर्जी कोरोना काल के दौरान अच्छा काम कर रही हैं? आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी बंगाल के क्वॉरेंटाइन सेंटर और वहां पर लोगों को क्या सुविधा मिल रही है इसकी ग्राउंड रिपोर्ट से आपको रूबरू कराए थे।

ममता के फैसलों से लोग संतुष्ट नहीं

आपको बता दें कि हमने सर्वे में पूछा कि क्या ममता सरकार के फैसलों से लोग संतुष्ट हैं? इस पर ऑनलाइन सर्वे के अनुसार अधिकतर लोगों ने नही कहा। आपको बता दें कि इस सर्वे में 1521 लोगों ने भागीदारी की जबकि 95% लोगों ने कहा कि वह ममता सरकार के फैसले से खुश नहीं हैं। जबकि 5% लोगों ने कहा कि वे ममता सरकार के फैसले से संतुष्ट हैं।

ध्यान हो कि हमने करीब एक महीना पहले एक सर्वे किया था जिसमें सभी राज्यों के लोगों से फोन कर पूछा था कि ममता सरकार और देश की अन्य राज्य सरकारें कोरोना काल के दौरान कैसा काम कर रही हैं? इस दौरान बंगाल से जो उत्तर आया था वह चौंकाने वाला था। बंगाल कोरोना काल के दौरान सबसे खराब काम करने वाला राज्य था।

प्रदीप भंडारी ने भी की ग्राउंड रिपोर्ट

आपको बता दें कि अभी 2 दिन पहले ही जन की बात के फाउंडर प्रदीप भंडारी पश्चिम बंगाल की ग्राउंड रिपोर्ट दर्शकों के सामने लाए थे। इस ग्राउंड रिपोर्ट में जन की बात की टीम ने पाया कि बंगाल के क्वॉरेंटाइन सेंटर की स्थिति काफी बुरी है। कहीं पर लोग घास पर सोने को मजबूर हैं तो वहीं लोगों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में आए 7 से 10 दिन हो गए हैं लेकिन अभी तक इनको सरकार से कोई भी सुविधा नहीं मिली है। ना ही किसी डॉक्टर ने आकर कुशल क्षेम पूछा है। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि बंगाल में कोरोना का इलाज कैसे हो रहा है और लोग क्वॉरेंटाइन सेंटर में कैसे रह रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से संवाद किया है न कि लुटियंस लॉबी से

  जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने 30 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए राष्ट्र के नाम संबोधन का...

देश की जनता ने राहुल गांधी को जवाब दे दिया है।: जय पांडा

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने जन की बात कन्वर्सेशन सीरीज में आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय...

कोरोना वायरस चीन का बायोलॉजिकल हथियार है: पूर्व मेजर जनरल जीडी बख्शी

भारत और चीन तनाव के बीच जन की बात के फाउंडर प्रदीप भंडारी ने भारतीय सेना के रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी से विशेष...

जन की बात ऑनलाइन सर्वे- 66% लोगों ने माना चाइना को मिलिट्री के साथ आर्थिक रूप से भी सबक सिखाया जाए

  आपको बता दें कि 15 और 16 जून को भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें भारत के 20...

Latest

सरदार पटेल के पत्र लिखने के बावजूद पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने यूनाइटेड नेशन की सिक्योरिटी काउंसिल की सीट के लिए मना कर दिया...

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राज्यसभा सांसद और पूर्व पत्रकार एमजे अकबर का साक्षात्कार लिया। जिसमें उनके हाल ही...

राष्ट्रीय सुरक्षा पर देश को सुभाष चन्द्र बोस और सावरकर से सीखना चाहिए न की गांधी जी से: उदय माहुरकर

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर पत्रकार-स्कॉलर उदय माहुरकर से विशेष बातचीत की। इस दौरान...

चीन से फिर आ सकता है एक और वायरस, जानिए सब कुछ जी 4 वायरस के बारे में

अमन वर्मा (जन की बात) कोरोना वायरस के बारे में सभी जानते हैं, चमगादड़ इस  महामारी का कारण है. चमगादड़ों के संपर्क में आने के ...

जानिए कैसे बिहार के पिलीगंज की एक शादी बनी कोरोना का शिकार, दूल्हे की हुई मौत

अमन वर्मा (जन की बात) पटना के ग्रामीण इलाके में एक शादी समारोह संपन्न हुआ, जहां दूल्हे को तेज बुखार था और इसी बीच उसकी...