Voice Of The People

जन की बात सर्वे: क्या उत्तराखंड में सत्ताधारी दल के खिलाफ लहर है?

- Advertisement -

अनुप्रिया, जन की बात

अगले वर्ष के आरंभ में पाँच राज्यों में विधान सभा चुनाव होने वाले है जिसे लेकर अगल अगल जगहों पर अलग अलग पार्टिया अपनी प्रतिक्रिया दे रही हैं।पंजाब, उत्तरप्रदेश, गोवा, मणिपुर औऱ ये राज्यो के नाम हैं जहाँ चुनावों की खलबली अभी से ही दिखाई देने लगी है।प्रदीप भंडारी और उनकी टीम जन की बात ने उत्तराखंड चुनाव के पहले एक बड़ा सर्वे किया। इस सर्वे में जन की बात ने जनता से यह जानने की कोशिश की कि अगर अभी चुनाव होते हैं तो उत्तराखंड की जनता किसे चुनेगी और उत्तराखंड की जनता के लिए क्या-क्या मुख्य मुद्दे हैं? आपको बता दें कि यह सर्वे 20 सितंबर 2021 से लेकर 26 सितंबर 2021 के बीच हुआ। सर्वे के दौरान जन की बात की टीम ने करीब 2000 लोगों से बात की और उसके बाद एक विस्तृत सर्वे प्रस्तुत किया।

जब सर्व के दौरान लोगों से पूछा गया कि सत्ताधारी दल के खिलाफ लहर है तो उनके ज़बाब मे भिन्नता थी। कुछ कह रहे थे की मौजूदा सरकार से उन्हें कई लाभ मिले औऱ वो उनके किये गये कार्यो से काफ़ी ख़ुश है।तो कुछ का कहना बार बार मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने की वजह से पार्टी कमजोर हो गई हैं औऱ सही से काम भी नही कर पाई। तो वही कुछ लोग कहते है कि इस सरकार को बदलने की जरूरत है। बहुत से लोगों ने इस सवाल पे कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

क्या सत्ताधारी दल के खिलाफ लहर है?

हाँ:-32%

ना:-55%

पता नहीं:-13%

इस सवाल के पूछे जाने पर 32% लोगो ने हाँ मे ज़बाब दिया।55%लोगो ने पार्टी के पक्ष मे ज़बाब दिया और 13% लोगो ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नही दी।

इस पूरे सुर्वे को आप लाइव नीचे दिये गए लिंक पर देख सकते है और औऱ अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए आप ट्विटर पर आप @jankibaat1 को टैग करके अपनी प्रतिक्रिया दे सकते है।

SHARE
Sombir Sharma
Sombir Sharmahttp://jankibaat.com
Sombir Sharma - Journalist

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest