Voice Of The People

वजीरपुर विधानसभा, दिल्ली में गन्दगी और पानी की समस्या से हैं परेशान : आम आदमी पार्टी के विधायक से है लोगों को नाराजगी

दिल्ली में आप के 20 विधयकों की सदस्यता रद्द होने के बाद दिल्ली की जनता के दिल की बात जानने हम पहुंचे वजीरपुर विधानसभा के अंदर जहां हमने की आप की बात यानी जन की बात, जन के साथ। आप को बता दें कि, दिल्ली की 20 विधानसभा में से वजीरपुर विधानसभा भी एक ऐसी सीट है जहां के विधायक को आफिस ऑफ प्रॉफिट के चलते उनकी सदस्यता रद्द की गई।

हम पहुंचे वजीरपुर विधानसभा जिनसे हमने जाना की कैसा रहा आम आदमी पार्टी का कार्यकाल, एक सज्जन ने हमसे बताया कि, “विधायक साहब ने कोई काम नहीं किया, कथनी और करनी में बहुत फर्क है. उन्होंने अपने वादे पूरे नहीं किये.”


एक और सज्जन बोले कि, “हमने आम आदमी पार्टी को एक मौका दिया था कि शायद ये नए हैं जो हमारे लिए काम करेंगे लेकिन विधायक साहब ३ साल से नहीं आये. हमने विधायक जी की शक्ल तक नहीं देखी.


एक महिला ने हमसे बताया कि, “पानी की सबसे बड़ी समस्या है, लोग पानी चाहते हैं लेकिन मिला नैन. हमारी दुकाने तोड़ी गयी हैं.”


एक और सज्जन ने बताया कि, “शिकायत करने के बाद भी पानी की समस्या दूर नहीं की जा रही है.”
एक और महिला ने बताया कि, “मौजूदा विधायक ने हमे बहुत परेशां किया है, हमारी बातों को कोई सुनने वाला नहीं है.”


फिर हमने पूछा कि अगर दुबारा चुनाव हों तो क्या आप आम आदमी पार्टी को दुबारा वोट देंगे. इसपर एक महिला ने कहा कि हम आप को वोट नहीं देंगे.
इसी बीच एक युवा ने हमसे जुड़ते हुए बताया कि, “पानी की समस्या है, जिसका कोई पुरसाहाल nahin है. जब बोरिंग होने के लिए माहौल बना तो पुलिस ने आकर रोक दिया काम. दुबारा आप को वोट नहीं देंगे. अगर जनता को सुख नहीं मिला अबतक तो विधायक को भी सुख नहीं मिलेगा.”


उसके बाद लोगों ने हमे इलाके में मौजूद गड्ढा भी दिखाया जिसकी हालत बहुत ख़राब थी. उसके बाद कीचड और नाला भी हमे देखने को मिला, जिसमे मच्छरों के पनपने की बहुत संभावना है.


हमने खुद वहां की सब स्थिति देखी जोकि बदहाल थी. वहां कूड़ादान बनने की योजना थी जोकि नहीं बनाया गया.


अरविन्द केजरीवाल के सवाल पर उन्होंने कहा की वो उनसे खुश नहीं. उन्होंने आगे बोलै की एक बार विधायक जीत जाते हैं फिर वो लौट कर नहीं आते, हालाँकि वो पूर्व विधायक सुरेश भरद्वाज से खुश दिखे. एक और सज्जन ने बताया की, “न पार्षद न विधायक हमारी समस्या को नहीं सुनते. हम लोग नर्क का जीवन जी रहे हैं.”
और लोगों से बातचीत में हमे मालूम पड़ा की लोग मौजूदा विधायक को वापस सत्ता में लाने में बिलकुल इच्छुक नहीं हैं.हमने इलाके का पूरा जायजा लिया और देखा कि सब जगह बदहाली, गन्दगी फैली हुई.
एक महिला ने बताया कि उनका घर बिना किसी पूर्व सूचना के तोड़ दिया गया और हमे नर्क का जीवन सौंप दिया गया. एक और युवा ने हमे बताया कि आम आदमी पार्टी को दुबारा वोट नहीं देंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

क्यों बना ‘कटघोरा’ छत्तीसगढ़ में कोरोना हॉटस्पॉट ?

दीपांशु सिंह, जन की बात आज लॉकडाउन को लेकर 20 वां दिन है। वहीं पर...

बिहार में एंबुलेंस संचालन का जिम्मा जेडीयू सांसद के पास

नितेश दूबे, जन की बात दरअसल 2 दिन पहले बिहार में एक 3 साल...

भारत में 47% कोरोना मामले 40 वर्ष से कम आयु वर्ग के

नितेश दूबे, जन की बात कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन शाम को...

Latest

मुश्किलों में आपका साथी जन की बात

लॉकडाउन हमारे बचाव के लिए है। लेकिन जब हमारे मालिक ने हमे तनख्वाह और राशन देने को माना दिया तब हमें मजबूरन ऐसा करना पड़ा

महाराष्ट्र में ट्रेन भेजने पर घमासान जारी

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और रेल मंत्री पीयूष गोयल के बीच यह ट्विटर वॉर 24 मई को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के बाद शुरू हुई।

यूपी में गठित होगा श्रमिक कल्याण आयोग, प्रदेश में ही मिलेगा रोजगार

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बाद देश में लाखों प्रवासी श्रमिक विभिन्न राज्यों से अपने गृह राज्य वापस लौट रहे है।

प्रवासी मजदूरों के हर मुश्किलों में साथ खड़ा है जन की बात

  आज पूरा देश इस महामारी से बचाव के लिए देश में लॉक डाउन जैसी समस्या से जूझ रहा है। इस समय अगर सबसे ज्यादा...