Voice Of The People

पत्रकार और रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी का करारा जवाब, पढ़िए रिपोर्ट

- Advertisement -

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा। लेकीन प्रेस कांफ्रेंस के वक्त राहुल गांधी ने मोदी सरकार से अधिक पत्रकार और रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडीटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी पर हमलावर रहे। इसके बाद अर्नब गोस्वामी ने अपना बयान जारी कर राहुल गांधी के बयान पर पलटवार किया। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने एक पत्रकार (अर्नब गोस्वामी) को बालाकोट स्ट्राइक से जुड़ी ख़बरें पहुंचाई।

 

इसपर जवाब देते हुए अर्नब गोस्वामी ने बयान जारी कर कहा कि पुलवामा हमले के बाद हजार से अधिक आर्टिकल लिखे गए, ब्रॉडकास्ट हुए। इसके साथ ही सरकार ने रिपब्लिक को भी कई इंटरव्यू के दौरान बताया कि सरकार कड़ी कार्यवाही करेगी। इसके साथ 2 चीज़े क्लीयर हो गई। 1- भारत बहुत बड़ी सैन्य कार्रवाई करेगा। 2- कार्यवाही की जगह और समय भारत तय करेगा।

अर्नब गोस्वामी ने कहा कि वो अचंभित हैं कि सरकार के नजरिए को व्यक्त करना कांग्रेस पार्टी को क्राइम लगता है। उन्होंने कहा कि पिछले 10 महीने में मेरे ऊपर एसिड अटैक से लेकर फेक मामले तक फाइल करना, फिर मुझे अरेस्ट करना। इसके साथ ही मेरे टीम के ऊपर एफआईआर करके पूरी टीम को जेल भेजने की कोशिश की गई। इसके साथ ही मेरे साथी घनश्याम को चक्की बेल्ट से मारा गया और अब कांग्रेस पाकिस्तान के साथ हाथ मिलाकर मेरे राष्ट्रीयता पर संदेह कर रही है। इन सब से मै गुजरा हूं। मेरे साथ करोड़ों भारतवासी हाथ मिलाकर खड़े हैं। इसके साथ ही अर्णव गोस्वामी ने कहा कि आप मेरे नजरिए से सहमत ना हो, मेरे आईडियोलॉजी से सहमत ना हो, मेरे नेटवर्क से सहमत ना हो लेकिन आज अगर आप चुप हैं जब एक राष्ट्रवादी पत्रकार पर सिर्फ इस कारण हमले हुए हैं कि उसने व्हाट्सएप के दौरान चैटिंग की जो कि सार्वजनिक जानकारी थी। समझिए आप क्या मिसाल छोड़ रहे हैं?

मेरे साथ काफी प्रताड़ना हुई और आगे के लिए भी मैं तैयार हूं।

इसके साथ ही आगे अर्नब गोस्वामी ने कहा कि हम सब को एकजुट होना होगा सच्चाई के लिए लड़ने के लिए। इसके बाद उन्होंने सत्यमेव जयते, भारत माता की जय और जय हिंद के साथ अपने बयान का अंत किया।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

जन की बात “कू” पोल- क्या बंगाल में आठ चरण में चुनाव कराना सही निर्णय है?

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

बंगाल में आठ चरण में चुनाव क्यों?: प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

क्या बंगाल चुनाव में महिलाएं बनेंगी “किंग मेकर”? : प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल के चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है और पूरी उम्मीद है कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव की घोषणा...

जन की बात के “कू” पोल में जानिए प्रधानमंत्री मोदी और ममता बनर्जी में कौन है अधिक लोकप्रिय?

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है लेकिन चुनावी सरगर्मियां बढ़ चुकी हैं और यह भी अनुमान लगाया जा...

Latest

जन की बात “कू” पोल- क्या बंगाल में आठ चरण में चुनाव कराना सही निर्णय है?

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

बंगाल में आठ चरण में चुनाव क्यों?: प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 66 दिनों में मुख्यमंत्री तय हो जाएगा। आपको बता दें कि कल ही चुनाव आयोग ने...

क्या बंगाल चुनाव में महिलाएं बनेंगी “किंग मेकर”? : प्रदीप भंडारी की राय

पश्चिम बंगाल के चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है और पूरी उम्मीद है कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव की घोषणा...

जन की बात के “कू” पोल में जानिए प्रधानमंत्री मोदी और ममता बनर्जी में कौन है अधिक लोकप्रिय?

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में 2 महीने का वक्त बाकी है लेकिन चुनावी सरगर्मियां बढ़ चुकी हैं और यह भी अनुमान लगाया जा...