Voice Of The People

राजस्थान के जोधपुर मे हिंसक झड़प की पूरी सच्चाई, जानिए असली गुनहगार कौन?

- Advertisement -

हिमानी जोशी, जन की बात

राजस्थान के जोधपुर में ईद से पहले दो गुटों में झड़प की खबर सामने आई है. आधी रात को हुई इस घटना में पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए. पुलिस की भारी तैनाती से स्थिति पर काबू पाया गया. हालांकि मंगलवार सुबह ईद की नमाज के बाद शहर में तनाव उस समय फिर से बढ़ गया जब कुछ लोगों ने जालोरी गेट इलाके के पास पथराव किया. इस दौरान पुलिस और निजी वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए. आइए जानते हैं कैसे शुरू हुआ पूरा मामला.

जोधपुर में हिंसा क्यों भड़की?

दरअसल, सोमवार को स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुंद बिस्सा की मूर्ति पर इस्लामिक झंडा फहराने की बात को लेकर दो समुदायों के बीच विवाद शुरू हुआ क्योंकि एक समुदाय के लोगों ने आरोप लगाया है कि परशुराम जयंती से पहले उन्होंने वहां भगवा झंडा लगाया था जो दूसरे समुदाय के लोगों द्वारा निकाल दिया गया. इस दौरान ईद की नमाज की तैयारी को लेकर समुदाय विशेष के लोगों ने पूरे इलाके में चौराहों पर लाउडस्पीकर लगाए और झंडा फहरा दिया. इसके बाद जमा हुई भीड़ ने लाउडस्पीकर हटा दिए, बाद में समुदाय विशेष के लोगों ने एक समुदाय के लोगों पर हमला कर दिया और जमकर मारपीट की जिसमें कई लोगों के घायल होने की खबर है.

नीचे दी गई वीडियो में आप देख सकते हैं कैसे कुछ लोग मूर्ति पर इस्लामिक झंडा लगा रहे हैं.

ईद की सुबह फिर किया हंगामा

रात को मामला शांत करने के बाद यहां शांति और अमन की उम्मीद की जा रही थी ,लेकिन ऐसा हो नहीं सका और जालोर इलाके में हिंसा फिर भड़क उठी। बताया जा रहा है कि अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने एक बार फिर हिंदुओं के द्वारा लगाए गए झंडे को हटाने की कोशिश की जिसके बाद सुबह का यह हंगामा शुरू हुआ।

पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़

जोधपुर में सुबह फिर से पथराव होने की खबर सामने आई है, जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया. दरअसल, उपद्रवियों ने एटीएम में तोड़फोड़ की है. कई दुकानों में लूटपाट की गई। वहीं 15 से 20 गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए। पुलिस पर भी अटैक किया गया, जिसमें पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। सुबह में बवाल के बाद पुलिस (Rajasthan Police) ने हालात संभाला, तुरंत ही लाठीचार्ज करके उपद्रवियों को खदेड़ा। यही नहीं स्थिति कंट्रोल में करने के लिए आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए. इस बीच जयपुर से एडीजी क्राइम सहित आलाधिकारी जोधपुर रवाना हो गए हैं.

इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई

घटना के बाद अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए पूरे इलाके में मोबाइल इंटरनेट की सेवाएं बंद कर दी गई हैं और संवेदनशील इलाकों में पुलिस बल तैनात की गई. संभागीय आयुक्त हिमांशु गुप्ता ने अपने आदेश में कहा है कि कानून व्यवस्था को देखते हुए जिले और शहर में 3 मई को रात 1 बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई है.

सीएम गहलोत ने की शांति बनाए रखने की अपील

राजस्थान के जोधपुर में सोमवार दो समुदाय के लोगों के बीच अटक के का तनाव पैदा होने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. मुख्यमंत्री गहलोत ने मंगलवार की सुबह ट्वीट किया और लिखा, ‘जोधपुर के जालोरी गेट के निकट दो गुटों में झड़प से तनाव पैदा होना दुर्भाग्यपूर्ण है. प्रशासन को हर कीमत पर शांति एवं व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं.’

इसके अलावा सीएम ने इस हालात को देखते हुए डीजीपी और अन्य अधिकारियों के साथ एक हाई-लेवर मीटिंग बुलाई है. इस बैठक में राज्य की कानून-व्यवस्था को लेकर अहम फैसले लिए जा सकते हैं. सीएम ने अपने जन्मदिन से जुड़े सभी कार्यक्रमों को भी रद्द कर दिया है.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest