Voice Of The People

कानपुर हिंसा में दंगाइयों के खिलाफ प्रदीप भंडारी का मुकदमा- पढ़िए उनकी दलील

- Advertisement -

कानपुर में शुक्रवार दोपहर नमाज के बाद नई सड़क पर प्रदर्शन के बाद जमकर बवाल हुआ. दो समुदाय के बीच जमकर पथराव हुआ पथराव कर कई गाड़ियां तोड़ दी गई और फायरिंग के साथ बमबाजी भी हुई. पथराव में आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए.

सोमवार को अपने शो जनता का मुकदमा में प्रदीप भंडारे में इन्हीं दंगाइयों पर मुकदमा किया.

प्रदीप भंडारी ने कहा की, ‘दोस्तों इन चेहरों को ध्यान से देखिए, अगर आपने इन 40 दंगाई राक्षसों को अपने इलाके में देखा है, तो उन्हें 9454403715 पर यूपी पुलिस को रिपोर्ट करें. यह वो देशद्रोही हैं जिन्होंने कानपुर को जलाने की कोशिश की. योगी आदित्यनाथ सरकार ने इनकी तस्वीरें जारी करके और इनके खिलाफ बुलडोजर कार्रवाई की चेतावनी देकर सही काम किया है’.

मेरा मानना है कि दंगाइयों पर जीरो टॉलरेंस, नो कॉम्प्रोमाइज होना चाहिए. उनका नाम सार्वजनिक करो, उनकी संपत्ति पर बुलडोजर चलाओ, उनको शर्मशार करो क्योंकि यह दंगाई देश के दुश्मन हैं और आज योगी आदित्यनाथ सरकार ने यही कर दिखाया है. ध्यान से देखिए इन 40 दरिंदों की फोटो को, ध्यान से देखिए इनके हाथ में पत्थर. यह सेक्यूलर दंगाई और इनको सपोर्ट कर रहे इंटेलेक्चुअल आतंकवादी, पुलिस वालों पर पत्थर मारने से पहले इन्होंने एक बार भी नहीं सोचा, इन्होंने कानपुर में पीएम मोदी के दौरे के समय शहर को तहस-नहस करने के पहले एक बार भी नहीं सोचा.

इनके लिए कानून कुछ नहीं है, यह दरिंदे देश के दुश्मन हैं, यह कानून अपने हाथ में लेते हैं, इनकी हॉबी देश में आग लगाना और फिर विक्टिम कार्ड खेलना है. आप बताइए जो योगी सरकार ने किया- बुलडोजर चलाया , 800 बुक किए गए, 24 गिरफ्तार किए और इनकी नाम सार्वजनिक किए जिससे देश को यह पता रहे हयात जफर हाशमी बनोगे तो डंडों से पीटोगे, और जेल में बंद किए जाओगे.  तो शेरवानी और अयूब के चक्कर में मत आओ यह तो 5 स्टार में बैठकर बिजनेस क्लास ट्रैवल करके पत्रकारिता के नाम पर दंगाकारिता करने का इरादा रखते हैं, इसलिए मुदस्सिर शेख बनो जो देश के लिए जान देते हैं ना कि हयात जफर हाशमी.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

Latest